Wednesday, 14 August, 2019
Home / इवेंट्स / AFMS पुणे मैराथन में दौडे़ कोटा के चार धावक

AFMS पुणे मैराथन में दौडे़ कोटा के चार धावक

पुणे में हुई दूसरी मैराथन में 42 किमी नंगे पैर दौड़ने वाले कोटा से अमित चतुर्वेदी पहले रनर

न्यूजवेव@ कोटा

आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज (AFMS), पुणे में 11 अगस्त को हुई मैराथन स्पर्धा-2019 में शहर के चार धावकों ने निर्धारित समय में दौड़ पूरी करने का कीर्तिमान रचा। यह दूसरा अवसर है जब एएफएमसी मेडिकल कॉलेज के दक्षिणी कमांड में स्वस्थ जीवन शैली का संदेेश देने के लिये मैराथन,2019 आयोजित की गई, जिसमें देशभर से हर उम्र के महिला व पुरूष धावक भाग लेने पहुंचे।
कोटा से युवा धावक अमित चतुर्वेदी ने 42 किमी लंबी मैराथन में नंगे पैर दौड़ने का कीर्तिमान बनाया। 21 किमी लंबी हाफ मैराथन में डॉ. विक्रांत माथुर, प्रियंका माथुर तथा अर्चना मूंदड़ा ने कोटा का प्रतिनिधित्व कर मेडल जीते। ये चारों धावक कई नेशनल मैराथन में दौड़ पूरी कर चुके हैं।

चतुर्वेदी ने बताया कि कोटा में जून में आयोजित रनिंग चैलेंज फेस्टिवल में 30 दिनों तक शहरवासियों ने नियमित 3 से 5 किमी दौड़ने का जज्बा दिखाया था, जिससे कई प्रतिभागी राष्ट्रीय स्तर पर मैराथन रेस में भाग ले रहे हैं।
नॉर्मल हार्ट के लिये अवश्य दौडे़ं
वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ राकेश जिंदल ने बताया कि डायनेमिक एक्सरसाइज से शरीर में खराब कोलेस्ट्रोल कम होता है और अच्छा कोलेस्ट्रोल बढ़ जाता है। इसलिये सभी उम्र के लोगों को आधे से एक घंटे किसी पार्क में रोज 3 से 5 किमी दौड़ने की आदत बनानी चाहिये। दौडने से हार्ट पम्प करता है, जिससे उसे पूरा रक्त मिलता है। स्टेमिना से कोलेट्रल विकसित होते हैं, जो हार्ट को मजबूत करते हैं। रक्त की नसें फिल्टर होंगी तो ब्लाकेज की समस्या से दूर रहेंगे। नियमित दौड़ने जैसी शारीरिक एक्सरसाइज से ब्लड प्रेेशर, हार्ट, डायबिटीज, लकवा से बचने व मोटापा कम करने में अवश्य मदद मिल सकती है।

Check Also

राजस्थानी फिल्म ‘पक्की हीरोगिरी’ कोटा में रिलीज

प्रोमो शो का उद्घाटन नृत्यांगना पद्मश्री गुलाबो सपेरा ने किया। मुंबई से पहुंचे फिल्म के …

error: Content is protected !!