Saturday, 2 November, 2019
Home / Featured / ब्रांडेड कंपनी के लेबल से बेची जा रही है नकली चॉकलेट

ब्रांडेड कंपनी के लेबल से बेची जा रही है नकली चॉकलेट

मुंबई पुलिस ने क्रेकर चॉकलेट बनाने वाली नकली कंपनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया
न्यूजवेव@ वसई
मुंबई की पालघर पुलिस ने नकली चॉकलेट बनाने वाली कंपनी के मालिकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। पिछले कुछ समय से वसई की ब्राउन एंड मोर इंडिया प्रा.लि. नामक कंपनी द्वारा ब्रांडेड क्रेकर चॉकलेट की डिजाइन जैसी नकली चॉकलेट उसे वसई के बाहर देशभर में बेचा जा रहा था। पुलिस ने इस कंपनी के मालिक स्वप्निल विचारे के खिलाफ इंडियन कॉपीराइट एक्ट व द डिजाइन एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

दरअसल, ओरिजनल ब्रांडेड ‘क्रेकर चॉकलेट’ मुंबई की नामी कंपनी ‘रूचोक्स’ द्वारा डिजाइन, निर्मित करके देशभर में अधिकृत रूप से विक्रय की जाती है। नकली कंपनी ने इसी लोकप्रिय चॉकलेट को आकर्षक पैकिंग में तैयार कर मिलावटी चाकलेट बेचने का गौरखधंधा चला रखा था, सूचना मिलने पर पुलिस ने कंपनी पर छापामारी कर निर्माण प्रक्रिया को परखा। यह कंपनी बड़ी मात्रा में हूबहू चाकलेट को मार्केट में बेच रही थी, जिससे मूल निर्माता कंपनी ‘रूचोक्स’ को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा था।

इस नकली चॉकलेट का पता लगाने के लिये ओरिजनल निर्माता कंपनी ने एंटी पायरेसी की मदद ली। एंटी पायरेसी विशेषज्ञों ने जांच में पाया कि क्रेकर चॉकलेट के नाम से ही चॉकलेट को एक कंपनी वसई में निर्मित कर देशभर में बेच रही है। एंटी पायरेसी अधिकारी प्रकाश इंगले एवं राज सिंह ने इस मामले में रूचोक्स कंपनी की ओर से पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस में मुकदमा दर्ज होने के बाद कॉपीराइट एक्ट के अनुसार नकली कंपनी पर कडी कार्रवाई की जाएगी। कंपनी के लीगल एडवाइजर रोहित सिघपुरा ने कहा कि रूचोक्स कंपनी नकली माल बनाने वाली कंपनी के कारण हुये भारी आर्थिक नुकसान के बाद अदालत से मुआवजा दिलवाने की गुहार करेगी।

Check Also

अब मेडिकल में भी होगी एकल प्रवेश परीक्षा नीट-2020

एम्स एवं जिपमेर जैसी परीक्षाएं अलग से नहीं होंगी। हिंदी माध्यम के विद्यार्थियों को मिली …

error: Content is protected !!