Sunday, 7 July, 2019
Home / शहर / कोटा नगर निगम में डीजल घोटाले की जांच निदेशालय स्तर पर हो

कोटा नगर निगम में डीजल घोटाले की जांच निदेशालय स्तर पर हो

निगम में डीजल घोटाले की गूंज, नगर निगम के आयुक्त ने स्वायत्त शासन विभाग के निदेशक को लिखा पत्र

न्यूजवेवकोटा

नगर निगम के गैराज अनुभाग मे संसाधनो के उपयोग मे अनियमितताओं के मामले की अब उच्च स्तरीय जांच होगी। निगम आयुक्त जुगल किशोर मीना ने सोमवार को स्वायत्त शासन विभाग के निदेशक को भेजकर इस प्रकरण की जांच निदेशालय स्तर से कराये जाने का आग्रह किया है।
उन्होंने पत्र के साथ इस मामले से जुडे़ दस्तावेज भी निदेशक को भेज दिये हैं।
निगम आयुक्त जुगल किशोर मीना ने पत्र मे स्पष्ट किया कि 16 जनवरी को कार्यकारी समिति की बैठक में गैराज वाहन समिति के अध्यक्ष पार्षद गोपालराम मंडा ने गैराज अनुभाग मे संसाधनो के उपयोग मे अनियमितता का आरोप लगाते हुए महापौर महेश विजय से जांच की मांग की थी।

इसके बाद 17 जनवरी को महापौर ने आदेश जारी कर 6 सदस्यीय जांच समिति गठित कर दी। लेकिन अगले दिन इस समिति में से उपायुक्त श्वेता फगेडिया का नाम हटा दिया गया। जिससे नाराज होकर पार्षद व गैराज समिति अध्यक्ष मंडा ने महापौर कक्ष के सामने धरना दिया। और यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल को पत्र लिखकर शिकायत की।उन्होंने लिखा कि गैराज में डीजल के साथ-साथ कचरा परिवहन के टेंडर में भी गडबडी की गई है। दोनो मामलों की उच्च स्तरीय जांच की जाये।
उधर, महापौर द्वारा गठित समिति पर आपत्ति जताते हुए कांग्रेसी पार्षदों ने उनके दल के पार्षद को भी समिति मे शामिल करने की मांग की। साथ ही गैराज समिति के अध्यक्ष ने उपायुक्त (मुख्यालय) को भी इस समिति मे जोडने की मांग की।
महापौर ने इस मांग पर सहमति नहीं दी और अन्य एजेन्सी से अथवा आयुक्त स्तर से जांच कराने की मांग की। इस मामले में उपायुक्त (गैराज) कृष्णा शुक्ला ने प्रतिवेदन देकर उच्चस्तरीय जांच की मांग की है।
आयुक्त मीणा ने आग्रह किया कि वर्तमान स्थिति मे केवल निगम स्तर से जांच करने से किसी न किसी पक्ष को आपत्ति होगी, ऐसे में इस मामले की उच्च स्तरीय जांच निदेशालय स्तर से ही करवाई जाये। इस मामले में नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने पूरे प्रकरण की जांच करवाने का भरोसा दिलाया है।

Check Also

मोबाइल पर बात करते हुये वाहन चलाना महंगा पड़ेगा

शहर यातायात पुलिस द्वारा ई-चालान दोषियों के घर पहुंचाना शुरू, पांच माह में बनाये 7124 …

error: Content is protected !!