Monday, 6 July, 2020

कोटा की हैप्पीनेस टीम ने बनाया EDU VIDHYA एप

न्यूजवेव @ कोटा
आत्मनिर्भर भारत की दिशा में कदम आगे बढाते हुये वॉकल फॉर लोकल मिशन के तहत कोटा की हैप्पीनेस टीम ने ऐसा एप तैयार किया है जो लाखो विद्यार्थियों को एजुकेशन व कॅरिअर के क्षेत्र में सही गाइडेंस व नवीनतम जानकारी देगा।
टीम हैप्पीनेस के मेंटर बृजेश माहेश्वरी ने बताया कि टीम सदस्यों द्वारा तैयार मोबाइल एप एडु विद्या एवं वेबसाइट को लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शनिवार को लांच किया। इस मौके पर एप का क्यू-आर कोड रिलीज किया गया। कार्यक्रम में विधायक मदन दिलावर, पूर्व विधायक हीरालाल नागर सहित गणमान्य नागरिक मौजूद रहे। मौके पर ही क्यू-आर कोड की मदद से कई लोगों ने एप डाउनलोड किया।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि युवाओं की नई सोच से हम तकनीक में आत्मनिर्भर बनेंगे और देश को तेजी से आगे ले जा सकेंगे। वर्तमान में तकनीक सूचनाओं के प्रसार के साथ ही हैप्पीनेस फैलाने में भी बड़ी भूमिका अदा करती है।
टीम हैप्पीनेस के मेंटर व एलन के निदेशक बृजेश माहेश्वरी ने कहा कि हमें मेड इन इंडिया ब्रांड होने पर गर्व है और यह प्रधानमंत्री के वॉकल फॉर लोकल अभियान में योगदान है। वेबसाइट और एप्लीकेशन के उपयोगकर्ताओं के लिए गोपनीयता व सुरक्षा को पूरी प्राथमिकता दी गई है ताकि किसी भी तरह की सूचना लीक नहीं हो। यह एप 14 दिनों के भीतर आईओएस एवं एन्ड्रायड एप पर उपलब्ध हो जाएगा।
प्रोजेक्ट कन्वीनर आराध्य माहेश्वरी ने बताया कि एप एवं वेबसाइट आत्मनिर्भर होने के नाते वीडियो कांफ्रेंस, वेबिनार, ऑनलाइन केस स्टडी, ऑनलाइन, ऑनलाइन शिक्षा और विभिन्न अन्य ऑनलाइन गतिविधियों के लिए वन स्टॉप सोल्युशन होगा। पब्लिक मीटिंग के लिए भी इस प्लेटफार्म पर अन्य सभी एप से बेहतर सुविधाएं मिलेंगी।
एप पर होंगी ये सुविधाएं

  • इस प्लेटफार्म पर सभी तरह के बाहरी वीडियो चलाए जा सकते हैं।
  • यदि किसी भी उपयोगकर्ता को किसी भी बात पर संदेह होता है तो उसे स्पष्ट करने के लिए रेज का विकल्प चुन सकता है। इसके अलावा निजी चैट पर जाकर पैनलिस्ट से बात कर सकता है।
  • एप पर व्हाइट बोर्ड का ऑप्शन होगा जो कि फैकल्टी या स्पीकर के महत्वपूर्ण बिंदुओं को समझाने में सहयोग करेगा।
  • एप का उपयोग वीडियो कांफ्रेंस, वेबिनार, ऑनलाइन केस स्टडी, ऑनलाइन, ऑनलाइन शिक्षा और विभिन्न अन्य ऑनलाइन गतिविधियों के लिए वन स्टॉप सोल्युशन के रूप में कर सकते हैं।
(Visited 167 times, 1 visits today)

Check Also

कोरोना वायरस के उपचार में संभावित विकल्प हैं चाय और हरड़

IIT दिल्ली के शोधकर्ताओं ने चाय और हरितकी में ऐसे तत्व का पता लगाया है …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: