Friday, 20 September, 2019
Home / Featured / कोटा में लैंडमार्क सिटी के हॉस्टल में आग

कोटा में लैंडमार्क सिटी के हॉस्टल में आग

अग्निशमन की रेस्क्यू टीम ने 77 कोचिंग छात्र सुरक्षित बाहर निकाले
न्यूजवेव @ कोटा
शहर के लैंडमार्क सिटी कोचिंग क्षेत्र में गुरूवार को एक ब्वायज हॉस्टल में गैस सिलेंडर बदलते समय अचानक आग लग जाने से भगदड़ मच गई। हालांकि सूचना मिलते ही दमकल ने पहुंचकर आग पर काबू पा लिया। लेकिन मैस में बर्तन साफ करने वाला कर्मचारी दिनेश आग से झुलस गया है।
स्हायक अग्निशमन अधिकारी देवेंद्र गौतम ने बताया कि हॉस्टल में सिर्फ 5 फायर उपकरण लगे हैं। रसोई में कोई अग्निशमन उपकरण नहीं लगे थे। क्षेत्र में अग्निशमन विभाग द्वारा कराये गये सर्वे में यहां के हॉस्टलों में अग्निशमन उपकरणों की कमियां पाये जाने पर नोटिस देकर कमियां दूर करने के लिये पाबंद किया गया था लेकिन हॉस्टल संचालकों ने कोई ध्यान नहीं दिया। इस हॉस्टल में होज रील, वाटर हैड टैंक तथा अन्य फायर उपकरण नहीं पाये गये।

कोचिंग विद्यार्थियों में दशहत का महौल 
पुलिस सूत्रों ने बताया कि पांच मंजिला सुखमणि रेजीडेंसी हॉस्टल में 99 कमरे हैं, जिसमे इस समय 77 कोचिंग छात्र रहते हैं। आग की सूचना मिलने पर अग्निशमन की रेस्क्यू टीम ने तुरंत मौके पर पहुंचकर सभी कोचिंग छात्रों को सुरक्षित बाहर निकाला। अचानक हुई इस घटना के बाद कोचिंग विद्यार्थियों में दशहत का माहौल है। विद्यार्थियों ने बताया कि कोटा के हॉस्टलों में मनमाना किराया वसूल करने के बावूजद सुरक्षा के मापदंडों की निरंतर अनदेखी की जाती है। जिससे उनकी जान को खतरा बना रहता है। जिला प्रशासन द्वारा बार-बार चेतावनी देने के बावजूद कोटा के हॉस्टल संचालक निर्धारित मापदंडों की अवहेलना कर रहे हैं।
..कहीं सूरत जैसा हादसा न हो जाये
अभिभावक एसके सिंह, रामपाल यादव व अभयसिंह ने कहा कि बच्चों ने जैसे ही फोन पर बताया कि उनके हॉस्टल में आग लग गई है। यह सूचना मिलते ही बाहर के सभी अभिभावक चिंतित हो उठे। उनका कहना है असुरक्षा के वातावरण में बच्चे मन लगाकर पढाई नहीं कर पाते हैं, जिससे अकेले रहते हुये वे डिप्रेशन के शिकार हो जाते हैं। हॉस्टल में बच्चों की सुरक्षा के मापदंडों का उल्लंघन करने वाले हॉस्टलों पर जिला प्रशासन तथा पुलिस प्रशासन द्वारा कठोर कार्रवाई की जाये अन्यथा कोटा में कभी भी सूरत जैसा हादसा हो सकता है। इससे पहले भी कोटा के गर्ल्स व ब्वायज हॉस्टल में आगजनी की घटनाएं हो चुकी हैं। उन्होंने सवाल उठाया कि जिन हॉस्टल्स में सुरक्षा के लिये आवश्यक उपकरण तक नहीं हैं, उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई क्यों नहीं की जा रही है।

Check Also

पहली बार अमेरिका में होगी जेईई-एडवांस्ड परीक्षा, कोटा में सेंटर नहीं

जेईई-एडवांस्ड परीक्षा 17 मई,2020 को   न्यूजवेव @ नईदिल्ली/कोटा आईआईटी दिल्ली द्वारा संचालित जेईई-एडवांस्ड,2020 परीक्षा 17 मई,2020 …

error: Content is protected !!