Sunday, 8 December, 2019
Home / देश / कोटा में बनेगा राजस्थान का पहला ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट

कोटा में बनेगा राजस्थान का पहला ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट

 भूमि निरीक्षण : एयरपोर्ट अथॉरिटी की टीम ने नये एयरपोर्ट के लिए शंभूपूरा में प्रस्तावित भूमि को उपयुक्त माना
न्यूजवेव@ कोटा

कोटा में राजस्थान का पहला ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट बनाने के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया की टीम ने गुरूवार को जिला प्रशासन, यूआईटी व विभागीय अधिकारियों के साथ बूंदी रोड पर शंभूपुरा गांव के पास प्रस्तावित भूमि का अवलोकन किया। जिला कलक्टर मुक्तानन्द अग्रवाल ने बताया कि कोटा के मास्टर प्लान में नया हवाई अड्डा बनाने के लिए कोटा-बूंदी के गांव शंभूपुरा, रामपुरिया, जाखमूंड और तुलसा गांव में आरक्षित की गई 2745 बीघा भूमि का टीम के उच्चाधिकारियों ने मौके पर तकनीकी निरीक्षण किया।


एयरपोर्ट अथॉरिटी की टीम में महाप्रबंधक (योजना) मोहम्मद ताजुद्दीन, महाप्रबंधक (संचालन) नीरजा राठी, महाप्रबंधक (एटीएम) एलडी मोहंती, महाप्रबंधक (आर्किटेक्ट), ए.के. लखेरा, महाप्रबंधक (सीएनएस) टीके गुप्ता एवं सिविल अभियंता शेखर कुमार शामिल रहे।
एयरपोर्ट अथॉरिटी ने इन मापदंडों को परखा
उन्होंने बताया कि एयरपोर्ट अथॉरिटी की टीम ने आरक्षित भूमि में हवाई अड्डे के लिए आवश्यक भूमि की उपलब्धता एवं उपयुक्तता के अनुसार निरीक्षण किया। अधिकारियों ने सम्पूर्ण भूमि का अक्षांश देशांतर के आधार पर एवं एयरपोर्ट अथॉरिटी के मापदंडों के अनुसार निरीक्षण कर स्थानीय अधिकारियों से चर्चा की। ।
जिला कलक्टर ने बताया कि मौका निरीक्षण के बाद टीम ने सर्किट हाउस में बैठक कर प्रस्तावित भूमि के समीप जा रही हाईटेंशन लाईन शिफ्टिंग, बाढ प्रभावित, मुकुन्दरा टाईगर सेंचुरी के पेराफेरी क्षेत्र एवं वन विभाग के डायवर्जन प्रस्ताव के संबंध में जानकारी ली।
उन्होंने बताया कि टीम द्वारा आरएपीपी रावतभाटा के नो-फ्लाईंग जोन एवं भविष्य में हवाई अड्डे के विस्तार के लिए भूमि की उपलब्धता के संबंध में भी चर्चा कर रिपोर्ट तैयार करने की बात कही। समिति द्वारा संबंधित विभागांें से चर्चा के आधार पर निदेशक एनीवेशन को रिपोर्ट प्रस्तुत की जायेगी जिसके आधार पर आरक्षित भूमि पर नये एयरपोर्ट के निर्माण के लिए फैसला लिया जायेगा।
बूंदी मार्ग पर प्रस्तावित भूमि उपयुक्त
एयरपोर्ट अथॉरिटी की 6 सदस्यीय उच्च्स्तरीय टीम ने प्रारंभिक रूप से प्रस्तावित भूमि को नये एयरपोर्ट के लिए उपयुक्त माना है। संबंधित विभागों से प्राप्त रिपोर्टों के आधार पर तकनीकी दल द्वारा विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर निदेशक एनीवेशन को दी जायेगी। इस अवसर पर अतिरिक्त कलक्टर प्रशासन वासुदेव मालावत, सचिव यूआईटी भवानी सिंह पालावत, अतिरिक्त कलक्टर बूंदी राजेश जोशी, उप सचिव यूआईटी अशोक मीणा, अम्बालाल मीणा, अधिशाषी अभियंता सिंचाई आरके जेमनी, अधिशाषी अथ्भियंता सानिवि सहित दोनों जिलों के संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

Check Also

लोकसभा अध्यक्ष ने आपदा राहत के लिये उच्चस्तरीय बैठक ली

कोटा सहित राजस्थान में वर्षा के कारण ध्वस्त मकानों व फसलों के लिये सहायता राशि …

error: Content is protected !!