Wednesday, 27 March, 2019
Home / धर्म-समाज / कोटा में 50वां राष्ट्रीय स्वर्णिम संयम दीक्षा महोत्सव 7 मार्च से

कोटा में 50वां राष्ट्रीय स्वर्णिम संयम दीक्षा महोत्सव 7 मार्च से

आर्यिका गणिनी श्री विशुद्धमति माताजी के सान्निध्य में 7 से 9 मार्च को आयोजित 50वें स्वर्णिम संयम दीक्षा महोत्सव में देशभर से उमडेंगे जैन श्रद्धालु

न्यूजवेव कोटा
सिद्धान्तरत्न गणिनी आर्यिका विशुद्धमति माताजी के 50वें त्रिदिवसीय राष्ट्रीय स्वर्णिम संयम दीक्षा महोत्सव का 7 मार्च गुरूवार से दशहरा मैदान पर शुभारंभ होगा। दीक्षा महोत्सव में गुरूवार प्रातः 4ः45 बजे प्रभात वंदना से महोत्सव का आगाज होगा। इसके बाद 5.15 बजे जिनाभिषेक, शांतिधारा के कार्यक्रम प्रारंभ होगे। प्रातः 6 बजे से जैन महिला परेड का आयोजन किया जाएगा। प्रातः 10 बजे से स्वर्ण संयम ध्वजारोहण और विशुद्धमति माताजी के मंगल प्रवचन होंगे। पाण्डाल में दो समवशरण तैयार किए जा रहे हैं, जिनमें श्रीजी विराजमान होंगे। श्रीजी को कार्यक्रम स्थल पर लाने के लिए अजमेर से स्वर्ण जड़ित रथ में विराजमान होकर लाया जाएगा।

दीक्षा महोत्सव के मीडिया समन्वयक नरेश जैन ने बताया कि प्रातः 11.35 बजे से 1452 गणधर स्वामी वृहद् जिनार्चना, सकलीकरण, आचार्य निमंत्रण, इन्द्र प्रतिष्ठा, कलश स्थापना, अखण्ड दीप प्रज्ज्वलन के कार्यक्रम आयोजित होंगे। इसी दिन, शाम 6 बजे आरती और प्रवचन होंगे। रात्रि 7.30 बजे से मुम्बई के कलाकार विक्की डी. पारीख द्वारा झंकृत स्वर सरगम कार्यक्रम प्रस्तुत किया जाएगा।

अगले दिन 8 मार्च शुक्रवार को प्रातः 4.45 बजे सुप्रभात वंदना से कार्यक्रम प्रारंभ होंगे। जिसके बाद जिनाभिषेक, शांतिधारा, पाद प्रक्षालन और प्रवचन के कार्यक्रम होंगे। इसके बाद 11.30 बजे गणधर वलय विधान का अवशेष पूजन और शास्त्रभेंट के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इसी दिन शाम को 6 बजे से कलाश्री भरतनाट्यम अकादमी सूरत की ओर से डिम्पल शाह के द्वारा आरती की सांस्कृतिक झलक के साथ मनमोहक प्रस्तुति दी जाएगी। रात्रि 8 बजे से सम्मान संसकृति कार्यक्रम होगा।

1 लाख दीपकों से महाआरती का विश्वरिकॉर्ड बनेगा

उन्होंने बताया कि 9 मार्च शनिवार को प्रातः 5.15 बजे 1 लाख दीपकों से आरती का विश्व रिकॉर्ड बनेगा। जिसके लिए लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स की टीम कोटा आएगी। इस दौरान हेलिकॉप्टर से स्वर्ण, रजत और पुष्पवर्षा की जाएगी। इसके बाद 6.15 बजे जिनाभिषेक, शांतिधारा, विशुद्धमति माताजी की भव्य महापूजा, आराधना के कार्यक्रम होंगे। विशुद्धमति माताजी का 51 स्वर्ण रजत कलशों से पाद प्रक्षालन किया जाएगा। मध्यान्ह 12.15 बजे विनयांजलि सभा का आयोजन किया जाएगा। राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष जेके जैन, सकल दिगम्बर जैन समाज के अध्यक्ष विमल जैन नान्ता, विनोद जैन टोरड़ी, देवेन्द्र टोंग्या, राकेश जैन, त्रिलोक डूंगरवाल, सुरेश चांदवाड़, प्रकाश बज, पारस जैन, अभिषेक लुहाड़िया, महिला इकाई की अध्यक्ष निशा जैन, महेश जेठी, हेमंत पाटनी, सुरेश पाटौदी, अशोक लुहाड़िया, भागचंद लुहाड़िया ने महोत्सव की जानकारी दी।

8 मार्च को जैनेश्वरी श्रमणी दीक्षा महोत्सव


महोत्सव के दौरान 8 मार्च को युगल जैनेश्वरी श्रमणी दीक्षा महोत्सव आयोजित होगा। जिसमें ब्रह्मचारी भाग्यवती और बाल ब्रह्मचारी उषा दीदी की जैनेश्वरी श्रमणी दीक्षा होगी। इसके तहत गुरूवार को अंजुलि में भोजन ग्रहण क्रिया, दीक्षार्थियों के द्वारा गणधर वलय विधान का आयोजन किया जाएगा। महाव्रतों के महापान के बाद दीक्षार्थियों को नया जन्म प्राप्त होगा। सकल दिगम्बर जैन समाज के द्वारा दीक्षार्थी बहनों की भव्य शोभायात्रा निकाली जाएगी।

ये रहेंगे उपस्थित
समारोह के दौरान जगतगुरू चारूकीर्ति भट्टारक महास्वामी श्रवणबेलगोला, पीठाधीश स्वस्ति रवीन्द्रकीर्ति स्वामी हस्तिनापुर, श्री क्षैत्र धर्मस्थल के धर्माधिकारी पद्मविभूषण डॉ. डी वीरेन्द्र हेगड़े, लक्ष्मीसेन भट्टारक महास्वामी कोल्हापुर, राजगुरू ललितकीर्ति कारकल, धवलकीर्ति महास्वामी तिरूमलै, भुवनकीर्ति महास्वामी कनकगिरी, भानुकीर्ति भट्टारक कदम्बहल्ली, लक्ष्मीसेन महास्वामी मेलसित्तामूर, देवेन्द्रकीर्ति महास्वामी होम्बुज, चारूकीर्ति भट्टारक मूडबिद्री, लक्ष्मीसेन महास्वामी नरसिंहराजपुर, वृषभसेन महास्वामी लक्कावल्ली, धर्मसेन भट्टारक वरूर, भट्टाकलंक महास्वामी सौंदा, जिनसेन भट्टारक नांदणी उपस्थित रहेंगे।

जीवदया फाउण्डेशन की स्थापना
आर्यिका विज्ञमति माताजी ने कहा कि संयम दीक्षा महोत्सव जन-जन के कल्याण का मार्ग प्रशस्त करेगा। कोटा में 50वें स्वर्णिम संयम दीक्षा महोत्सव पर कई परोपकरी जनहित के कार्य होंगे। इस दौरान गणिनी माताजी के निर्देशन एवं आशीर्वाद से जीवदया हेतु जीव दया फाउंडेशन का गठन किया जाएगा। इसके अलावा शिक्षा क्षेत्र में सहयोग की दृष्टि से शिक्षा में अग्रणी बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए आर्थिक सहायता एवं बालिका विद्यापीठ की स्थापना, जरूरतमंद परिवारों के लिए आर्थिक सहयोग योजनाओं की घोषणा, गम्भीर बीमार के परिवारों की सहायता, असहाय, निराश्रितों की मदद समेत विभिन्न जरूरतमंदों के लिए योजनाओं की घोषणा की जाएगी।

Check Also

जैन समाज ने एक लाख दीपकों से बनाया विश्व रिकॉर्ड

गणिनी आर्यिका 105 श्री विशुद्धमति माताजी का राष्ट्रीय स्वर्णिम संयम दीक्षा महोत्सव न्यूजवेव @ कोटा जैन …

error: Content is protected !!