Thursday, 19 September, 2019
Home / Featured / बाढ़ के बाद कोटा में महामारी फैलने की आशंका

बाढ़ के बाद कोटा में महामारी फैलने की आशंका

बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में तीन दिवसीय विशेष चिकित्सा कैम्प लगाये जायेंगे, प्रत्येक परिवार के स्वास्थ्य की जांच होगी

न्यूजवेव@ कोटा 

संभागीय आयुक्त एल.एन.सोनी ने कहा कि हाड़ौती में हुई अतिवृष्टि के कारण अगले कुछ दिनों में क्षेत्र में मलेरिया, वायरल डेंगू, स्वाइन फ्लू जैसी मौसमी तथा जलजनित बीमारियां फैलने की संभावना रहेगी। इसके लिए सभी चिकित्सा संस्थान पूर्व नियोजित ढंग से साफ-सफाई, फोगिंग एवं अतिरिक्त दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करें। सीएडी सभागार में संभाग के चिकित्सा अधिकारियों एवं प्रशासनिक अधिकारियों की बैठक में चारों जिलों की मौजूदा स्थिति की समीक्षा की गई।

उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में तीन दिनों तक विशेष चिकित्सा कैम्प आयोजित कर मौसमी बिमारियों की रोकथाम के लिए जागरूकता पैदा की जाये। प्रत्येक परिवार के स्वास्थ्य की जांच एवं मौके पर दवाओं की उपलब्धता हो। उन्होंने सभी सरकारी अस्पतालों में डॉक्टर्स व नर्सिंग की उपलब्धता, जांच प्रयोगशाला, टीकाकरण आदि सेवाएं सुचारू रखने के निर्देश दिये। उन्होंने पशुपालन विभाग के अधिकारियों को पशुओं की जांच कर टीकाकरण करने तथा मृत मवेशियों को चिन्हित कर उसकी सूचना प्रशासन को देते हुए घर-घर सर्वे के निर्देश दिये।
विशेष वार्ड बनाये जायें
सभी अस्पतालों में बाढ़ प्रभावित रोगियों के लिए अलग से वार्ड निर्धारित कर तत्काल उपचार की व्यवस्था करें। दवाओं की उपलब्धता एवं बीमारियों की जांच के लिए आवश्यक किट की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जाये।
फोगिंग व एन्टीलार्वा मुहीम शुरू हो

संभागीय आयुक्त ने कहा कि कोटा में बाढ़ प्रभावित आवासीय बस्तियों को जोन में बांटकर टीमों से घर-घर फोगिंग व एन्टीलार्वा मुहीम शुरू की जाये। ग्रामीण क्षेत्रों में तीन दिवसीय चिकित्सा शिविर आयोजित किये जायें। विकास अधिकारी के नेतृत्व में सभी गांवों में लोगों को सूचना तथा अस्पताल या राजीव गांधी सेवा केन्द्रों पर शिविर लगाये जायें। गांवों में पेयजल सप्लाई के निरन्तर नमूने लेकर शुद्ध पेयजल आपूर्ति की जाये।

ये रहे उपस्थित
संयुक्त निदेशक चिकित्सा डॉ. हेमेन्द्र विजयवर्गीय ने चिकित्सा विभाग की गतिविधियों की जानकारी दी। बैठक में अतिरिक्त संभागीय आयुक्त प्रियंका गोस्वामी, अतिरिक्त कलक्टर प्रशासन वासुदेव मालावत, अतिरिक्त कलक्टर बूंदी एयू खान, अतिरिक्त कलक्टर बारां सुदर्शन सिंह तोमर, अतिरिक्त कलक्टर झालावाड करतान सिंह पूनियां, उपाचार्य मेडिकल कॉलेज डॉ. शिवकुमार, अधीक्षक न्यू मेडिकल कॉलेज डॉ. चन्द्रशेखर सुशील, अतिरिक्त निदेशक पशुपालन डॉ. सरिता यादव, संयुक्त निदेशक डॉ. अनिल शर्मा, उपनिदेशक डॉ. सुरेश सिंगावत, सीएमएचओ कोटा भूपेन्द्र सिंह तंवर, अधीक्षक जेके लोन एचएल मीणा, एमबीएस डॉ. नवीन सक्सेना, बूंदी, बारां एवं झालावाड के सीएमएचओ सहित चिकित्सा विभाग एवं पशुपालन विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे।

Check Also

बाढ़ में बह गई सारी मार्कशीटें, छात्रा बेहोश

न्यूजवेव @ सुनेल/कोटा झालावाड़ जिले में आहू नदी में आई बाढ़ से पिड़ावा तहसील के आकोदिया, …

error: Content is protected !!