Monday, 24 June, 2019
Home / हैल्थ / मेगा हैल्थ चेकअप कैम्प से पुलिसकर्मियों में दिखा उत्साह

मेगा हैल्थ चेकअप कैम्प से पुलिसकर्मियों में दिखा उत्साह

हैप्पीनेस इनीशिएटिव, मेडकॉर्ड्स व पुलिस प्रशासन के तत्वावधान में निःशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर में 500 पुलिसकर्मियों की रोजाना जांच होगी
न्यूजवेव कोटा
एसीपी कोटा सिटी दीपक भार्गव एवं एसपी कोटा ग्रामीण राजन दुष्यंत ने सोमवार को पुलिस लाइन परिसर में निशुल्क मेगा स्वास्थ्य जांच शिविर का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में पहली बार पायलट प्रोजेक्ट के रूप मे ऐसा जांच शिविर हो रहा है, जिसमें जवानों की सेहत की सम्पूर्ण जांच हो रही है। उनके परिवारों की जांच, उपचार और बाद में फीडबेक देने जैसी सुविधाएं मिलना उपयोगी साबित होगा।


पुलिस अधीक्षक ने कहा कि हैप्पीनेस इनीशिएटिव टीम, मेडकॉर्ड्स व अन्य हॉस्पिटल के सहयोग से कोटा जिले में सेवारत 5000 से अधिक पुलिसकर्मियों व उनके परिजनों की निःशुल्क डिजिटल हैल्थ कुंडली बनाने की जिम्मेदारी प्रशंसनीय पहल है। इससे स्वस्थ जवानों को सही जगह नियुक्त करने में मदद मिलेगी। प्रोजेक्ट कॉर्डिनेटर व एएसपी मुख्यालय उमेश ओझा ने कहा कि शिविर में दो दिन यातायात पुलिसकर्मियों के लिये स्पाइरोमेट्री सहित विशेष जांच की जाएगी। श्रुति प्रोग्राम से उन्हें ईएनटी विशेषज्ञ नाक, कान व गला संबधी परामर्श देंगे।
10 विशेषज्ञ डॉक्टर्स दे रहे सेवाएं
मेगा शिविर में हैप्पीनेस सिटी इनीशिएटिव, मेडकॉर्ड्स सहित कोटा हार्ट हॉस्पिटल, श्रीजी हॉस्पिटल, मॉडर्न डायग्नोस्टिक, रामदुलारी जिंदल मैमोरियल एंड हैल्थ केअर सोसायटी व महावीर ईएनटी हॉस्पिटल के 10 से अधिक विशेषज्ञ चिकित्सक भी सेवाएं दे रहे हैं। महावीर ईएनटी हॉस्पिटल के निदेशक व सर्जन डॉ.विनीत जैन ने बताया कि कानों की जांच के लिये एंट्राव्यू डिवाइस से कान की कैनाल व पर्दे की जांच की जा रही है। जिन पुलिसकर्मियों को सुनने में समस्या होगी, उनकी कोटा हियरिंग सेंटर पर साउंड प्रूफ कमरे में ऑडियोमेट्री जांच के लिये निशुल्क कूपन दिये जा रहे हैं।

Addl.SP Umesh Ojha

एएसपी सिटी राजेश मील ने कहा कि जिले के पुलिसकर्मियों को एक ही स्थान पर सारी जांच सुविधाओं के साथ ई-कंसलटेंसी व ई-फीडबेक जैसी आधुनिक सुविधाएं भी दी जा रही है।
कोटा हार्ट हॉस्पिटल के सीईओ दीपक कुलश्रेष्ठ ने कहा कि 10 दिन से अधिक चलने वाले मेगा शिविर में कॉर्डियोलॉजिस्ट डॉ. कार्तिक अग्रवाल, गायनिकोलॉजिस्ट डॉ.दिव्या चौधरी, गेस्टोएंट्रोलॉजिस्ट डॉ. आशीष मेहता, आर्थोपेडिक्स डॉ. गजानंद धाकड़ व डॉ. दुर्गाशंकर ढिल्लन, नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ सोनल अग्रवाल, फिजिशियन डॉ. कुणाल मित्तल, डॉ. केके कटियाल तथा महावीर ईएनटी हॉस्पिटल के निदेशक सर्जन डॉ. विनीत जैन सहित श्रुति प्रोग्राम के प्रशिक्षित स्टाफ सदस्य निशुल्क सेवाएं दे रहे हैं।
जांच, उपचार व फीडबेक एक साथ

हैप्पीनेस सिटी इनीशिएटिव के संरक्षक व प्रेरक बृजेश माहेश्वरी ने कहा कि कोटा जिले में सभी पुलिसकर्मियों व उनके परिवारों की स्वास्थ्य जांच होने से उनमें स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता आएगी।

ब्लड प्रेशर, डायबिटीज थायराइड, ईसीजी, किडनी व लीवर जांच, आंख, नाक, कान, गला, एसजीपीटी जैसी सभी जांच रिपोर्ट का डिजिटल डेटा होने से पुलिसकर्मियों के परिवार को आजीवन इसका लाभ मिलेगा। शहर में पुलिसकर्मी जनता की रक्षा के लिये दिनरात मेहनत करते हैं, उनके स्वास्थ्य की सुरक्षा करना जनता का भी धर्म है। हैप्पीनेस इनीशिएटिव से जुडे़ सभी युवा ‘स्वच्छ कोटा-स्वस्थ कोटा’ अभियान में सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं।
विशेषज्ञ करेंगे ‘सेहत की बात’
मेडकॉर्ड्स सीईओ श्रेयांस मेहता ने बताया कि मेगा हैल्थ चेकअप कैम्प में रोज प्रातः 10 बजे ‘सेहत की बात’ सत्र होगा। मंगलवार को फिजिशियन डॉ.सुधीर उपाध्याय व हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. राकेश जिंदल पुलिसकर्मियों को स्वस्थ जीवन के लिये हैल्दी टिप्स देंगे।
पुलिसकर्मी स्ट्रेस से बचें

Dr.Kartik Jayswal

कार्डियोलॉजिस्ट डॉ.कार्तिक जायसवाल ने जांच के दौरान सलाह दी कि पुलिसकर्मी अपनी ड्यूटी के दौरान अनावश्यक स्ट्रेस से बचें। जिनके परिवार में हृदय रोगी हैं, वे 40 वर्ष की उम्र के बाद बीपी, शुगर, कोलेस्ट्राल, ईसीजी, इको, टीएमटी आदि जांच अवश्य करवाते रहें। मदिरापान व धुम्रपान से हार्ट प्रॉब्लम 20 गुना बढ जाती है, इसलिये इनसे यथासंभव बचें। जांच में देखें कि एलडीएल 100 से कम एवं एचडीएल 50 से अधिक हो। इसी तरह, ट्राइग्सिलाराइड 150 से कम हो। तली हुई चीजों व घी का प्रयोग कम करें।
शिविर से पुलिसकर्मियों में उत्साह


शिविर में पहुंचे अनंतपुरा थान में तैनात धर्मराज व एसपी ऑफिस में कार्यरत योगेंद्र सिंह ने ईसीजी के बाद कहा कि ऐसी जांच उन्होंने पहली बार कराई है। यह अच्छी पहल है। चिंटू सैन की पत्नी पिंकी को घबराहट होने पर स्त्रीरोग विशेषज्ञ डॉ दिव्या चौधरी ने चेक किया। यातायात पुलिस में तैनात गणेशराम की पत्नी उर्मिला ने एसपी का आभार जताया कि पुलिसकर्मियों के परिवारों को पहली बार निशुल्क जांच कराने का मौका मिला है। पुलिस लाइन में कार्यरत दिनेश कुमार (42) डायबिटिज की जांच से संतुष्ट हुये। सुनील सोनी (44) एवं सत्यनारायण सोनी ने ईसीजी जांच करवाई। पुलिसकर्मियों ने कहा कि अधिकारियों ने कोटा में पहली बार उनके व परिवार के स्वास्थ्य की सम्पूर्ण निःशुल्क जांच के लिये इस तरह का कैम्प आयोजित किया है।

Check Also

घाव भरने के लिए विकसित किया दही आधारित जैल

डॉ.अदिति जैन न्यूजवेव @ नईदिल्ली बैक्टीरिया की बढ़ती प्रतिरोधक क्षमता के कारण घावों को भरने के …

error: Content is protected !!