Sunday, 8 December, 2019
Home / Featured / किसान अब घर बैठे खेत के पम्प को बंद कर सकेंगे

किसान अब घर बैठे खेत के पम्प को बंद कर सकेंगे

नवाचार: आरटीयू के इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स ने कृषि क्षेत्र के लिये ऑटो डिवाइस ‘गुरूजी’ विकसित की।

न्यूजवेव कोटा

कृषि क्षेत्र में अत्याधुनिक तकनीक के प्रयोग से किसानों को दूरगामी लाभ होने लगे हैं। राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय के संघटक कॉलेज यूसीई के 6 बीटेक विद्यार्थियों की टीम ने ऐसी अनूठी रोबोटिक डिवाइस का अनुसंधान किया है, जिसके प्रयोग से किसान घर बैठे खेत पर चलने वाले सिंचाई के पम्प को बंद कर सकेंगे। इसके लिये उन्हें कडाके की सर्दी में दूर खेत पर नहीं जाना पडे़गा।

बीटेक अंतिम वर्ष के स्टूडेंट पंकज (सिविल इंजीनियरिंग ), प्रीतम, बालमुकुंद, विवेक ( इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग ),इशवर (मेकैनिकल इंजीनियरिंग ) व कौस्तुभ (कंप्यूटर साइंस ) ने कॉलेज में पढ़ते हुए रोबोटिक्स क्लब व फैकल्टी डॉ. दीपक भाटिया, सोहिल सिसोदिया तथा मधुसुदन अग्रवाल की गाइडेंस में ग्रामीण किसानों के लिए एक ऑटोमेटिक स्वीच ‘गुरूजी‘ बनाया।

उन्होंने बताया कि किसानों को प्रायः बिजली कटौती के कारण बिजली आपूर्ति में परेशानी का सामना करना पडता है। खेतों पर बिजली की सप्लाई का समय बदलता रहता है, जिससे उन्हें रात को कडाके की सर्दी में भी बिजली से चलने वाले पम्प को चालू व बंद करने जाना पड़ता है। जिससे उनकी जोखिम कई गुना बढ जाती
मोबाइल एप या इंटरनेट की जरूरत नहीं
इस समस्या का समाधान खोजने के लिये इन 6 युवा इंजीनियरिंग विद्यार्थियों ने निरंतर मेहनत करते हुये ऑटोमेटिक डिवाइस ‘‘गुरु जी‘‘ को विकसित किया और इसे खेतों पर प्रयोग करके परखा। इस डिवाइस द्वारा किसान अपने घर पर बैठे बैठे ही अपने मोबाइल के द्वारा खेतों में सिंचाई के लिए उपयुक्त होने वाले इलेक्ट्रिक पंप को चालू या बंद कर सकते हैं। इससे किसानों के समय की बचत और कृषि करने में सहूलियत होगी। डिवाइस की खास बात यह है कि इससे आप किसी भी साधारण मोबाइल फोन से कॉल करके मोटर बंद चालु कर सकते है। खास बात यह कि इसके इस्तेमाल के लिये किसानों को किसी स्मार्टफोन एप तथा इंटरनेट कनेक्शन की जरूरत नहीं पड़ेगी।
‘बिट टु बाइट रोबोटिक्स’
विद्यार्थियों के इस इनोवेशन को कई सामाजिक और प्राइवेट संस्थाओं के द्वारा प्रशंसा पत्र भेंट किए जा रहे हैं। विद्यार्थियों ने ‘‘बिट टु बाइट रोबोटिक्स‘‘ नाम से संचालित एक कंपनी स्थापित की है, जिसे राजस्थान सरकार के इंफॉर्मेशन और कम्युनिकेशन डिपार्टमेंट के द्वारा स्टार्टअप पॉलिसी के तहत वित्तीय सहायता के लिए भी चयनित गया है। जो इन विद्यार्थियों के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है। राजस्थान टेक्नीकल यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो. आर.ए.गुप्ता तथा इंजीनियरिंग कॉलेज कोटा के डीन एवं सिविल इंजीनियरिंग के विभागाध्यक्ष डॉ.अनिल के. माथुर ने इंजीनियरिंग छात्रों को इस उपयोगी इनावेेशन के लिये बधाई दी।

Check Also

जिला कलक्टर ने कोटा नगर निगम को हनुमान की शक्तियां याद दिलाई

न्यूजवेव@ कोटा कोटा नगर निगम की समीक्षा बैठक में जिला कलक्टर ओम कसेरा ने निगम …

error: Content is protected !!