Saturday, 7 December, 2019
Home / News / IIT-D में 125 करोड की लागत से बनेगा रिसर्च केंद्र ‘साथी’

IIT-D में 125 करोड की लागत से बनेगा रिसर्च केंद्र ‘साथी’

उमाशंकर मिश्र
न्यूजवेव नई दिल्ली
आईआईटीए दिल्ली में अत्याधुनिक साइंस एंड टेक्नोलॉजी पर आधारित रिसर्च सुविधा केंद्र स्थापित किया जाएगाए जो उद्योगोंए स्टार्टअप कंपनियों और अकादमिक संस्थानों द्वारा किए जाने वाले शोध एवं विकास कार्यों को आगे बढाने में मदद करेगा।
परिष्कृत विश्लेषणात्मक और तकनीकी सहायता संस्थान (साथी) केंद्र को स्थापित करने का उद्देश्य रिसर्च कार्यों को बढ़ावा है। जिससे शोधकर्ता एक ही छत के नीचे उच्च दक्षता से युक्त तकनीकी सुविधाओं से शोधकार्य पूरा कर सकेंगे। इस सुविधा केंद्र का लाभ अकादमिक संस्थानों, स्टार्टअप कंपनियों, विनिर्माण इकाइयों, उद्योगों और अनुसंधान एवं विकास प्रयोगशालाओं को मिलेगा ।
आईआईटी.दिल्ली के निदेशक प्रोफेसर वी. रामगोपाल राव ने कहा कि सरकार द्वारा रिसर्च को बढावा देने के लिये ‘साथी’ की स्थापना की जा रही है। यह केंद्र आईआईटी.दिल्ली के सोनीपत परिसर (हरियाणा) में स्थापित किया जाएगा। इसकी स्थापना के लिए विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा 125 करोड़ रुपये का अनुदान दिया जाएगा। उंचे दर्जे की शोध सुविधाओं सहित प्रबंधन और उपयोग में आईआईटी.दिल्ली का बेहतरीन ट्रैक रिकॉर्ड रहा है। हमारी कोशिश होगी कि इस नए सुविधा केंद्र का लाभ शोधकर्ताओं को 24 घंटे मिलता रहे।
आईआईटी.दिल्ली के अनुसंधान एवं विकास विभाग के डीन प्रोफेसर बी.आर. मेहता ने कहा कि इस सुविधा केंद्र में उच्च क्षमता के उपकरणों की उपलब्धता के साथ शोधकर्ताओं को तकनीकी एवं वैज्ञानिक सहयोग प्रदान किया जाएगा। छात्रों, वैज्ञानिकों और उद्यमियों से जुड़ी वैज्ञानिक एवं तकनीकी कठिनाइयों को दूर करने में आईआईटी.दिल्ली के संकाय सदस्य और शोधकर्ता इस सुविधा केंद्र में उनकी मदद के लिए तैयार रहेंगे। (इंडिया साइंस वायर)

Check Also

IIT Guwahati researchers develop low-cost hand-held device to detect bacteria

This novel, low-cost hand-held device created by IIT Guwahati researchers is a biocompatible sensor that …

error: Content is protected !!