Tuesday, 16 July, 2019
Home / एजुकेशन / विद्यार्थी ही कोटा और रेजोनेंस के ब्रांड एम्बेसेडरः आर.के.वर्मा

विद्यार्थी ही कोटा और रेजोनेंस के ब्रांड एम्बेसेडरः आर.के.वर्मा

‘विक्ट्री सेलिब्रेशन-2019’  : रेजोनेन्स विद्यार्थियों को 39 लाख रूपये से अधिक के पुरस्कार से नवाजा 

न्यूजवेव @ कोटा
रेजोनेंस के ‘विक्ट्री सेलिब्रेशन-2019’ में इस वर्ष जेईई-मेन तथा जेईई-एडवांस्ड प्रवेश परीक्षाओं में शीर्ष रैंक से चयनित विद्यार्थियों को आकर्षक प्रोत्साहन राशि तथा मेडल से सम्मानित किया गया। श्रीनाथपुरम स्थित यूआईटी ऑडिटोरियम में  रेजोनेंस के संरक्षक चन्दालाल वर्मा एवं मातुश्री ने मां सरस्वती के चित्र पर दीप प्रज्जवलन कर समारोह का शुभारंभ किया। भव्य समारोह में इस वर्ष चयनित विद्यार्थियों को 39 लाख रूपये से अधिक पुरस्कार राशि के चेक से सम्मानित किया गया।

आईआईटी में रैंक कोई मायने नहीं रखती
खास बात यह रही कि समारोह के मुख्य अतिथि रेजोनेंस के पूर्व छात्र एवं यूपीएससी-2018 के ऑल इंडिया टॉपर कनिष्क कटारिया थेे। आईएएस कनिष्क कटारिया ने कहा कि कॅरिअर में सफलता का यह पहला पायदान है, आगे संभावनाएं बहुत बाकी हैं। आईआईटी में पहुंचने पर रैंक कोई मायने नहीं रखती, कैंपस में सभी छात्र बराबर होते हैं। आईआईटी से बीटेक करते हुये इसी लगन और मेहनत से सफलता मिलेगी। कोई छात्र यह नहीं सोचे कि मुझे टॉप रैंक मिली है तो मेहनत कम करनी पडेगी, यदि सोच को सीमित रखा तो वहां जाकर टॉपर्स भी पिछड़ जाते हैं। जो हार्डवर्क करेंगे, उनको आगे अवसर मिलते हैं। आईआईटी में चार साल खूब जमकर जीएं, क्योंकि यह चार साल आपकी जिंदगी का सबसे सुनहरा वक्त होगा। करिअर में उंचाई पाकर अपने माता-पिता, शिक्षक व मित्रों को कभी नहीं भूलें।

सीखने की लगन हो तो आगे निकल सकते हैं
रेजानेंस के प्रबंध निदेशक आर.के.वर्मा ने कहा कि कोटा का आज जो मुकाम है, उसका श्रेय विद्यार्थियों को जाता है। कोटा के विद्यार्थी ही कोटा और रेजानेंस के ब्रांड एम्बेसेडर हैं। आईआईटी में सलेक्ट होने वाले विद्यार्थियों का सबसे बड़ा कन्फ्यूजन ब्रांच सलेक्शन को लेकर रहता है, वहां जाने पर सभी बराबर होते है। केवल ब्रांच के अनुसार डिपार्टमेंट अलग होते हैं, बाकी सभी सुविधाएं बराबर हैं। आजकल हर कोई केवल कम्प्यूटर साइंस चाहता है। लेकिन जिस विद्यार्थी में कम्प्यूटर सीखने की लगन है, वह कम्प्यूटर साइंस पढने वाले से भी आगे निकल सकता है। आजकल सारा नॉलेज ऑनलाइन उपलब्ध हैं। केवल पढने की इच्छाशक्ति हो।
उन्होंने आईआईटी में अपने अनुभव भी सुनाए। सीखने की लिमिट कोर्स तक नहीं होनी चाहिए। करिकुलम से हटकर और भी कुछ सीखने की आदत को बनाए रखें। अभिभावक अपने बच्चों पर हमेशा अपना अधिकार बनाकर रखें, ताकि बच्चे सही दिशा में आगे बढते रहें। समरोह में प्रबंध निदेशक आरके वर्मा ने सांसद ओम बिरला को लोकसभा अध्यक्ष बनाये जाने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कोटा कोचिंग की तारीफ करने पर आभार जताया।
मुख्य अतिथि आईएएस कनिष्क कटारिया के पिता आईएएस सांवरमल वर्मा ने कहा कि मुझे इस बात की खुशी है कि रेजानेंस कोटा में बेटे आईएएस कनिष्क को पढाने का निर्णय बिल्कुल सही साबित हुआ है। आज इस संस्थान में आईआईटी प्रवेश परीक्षा की तैयारी का जो माहौल दिखाई देता है, वो पूरे देश में कहीं नहीं है। समारोह में रेजानेंस के केमिस्ट्री विभागाध्यक्ष शिशिर मित्तल, मैथ्स विभागाध्यक्ष आयुष गोयल व फीजिक्स विभागाध्यक्ष चन्द्रशेखर शर्मा ने विद्यार्थियों को निरंतर मेहनत व लगन के साथ विद्यार्थी जीवन में आने वाली हर चुनौती का हसंते हुये मुकाबला करने की सीख दी।
विजेताओं को मिले आकर्षक पुरस्कार
जेईई-एडवांस्ड-2019 में ऑल इंडिया रैंक-73 पर चयनित अनन्जन नंदी को 1,11,000 रूपये, एआईआर-80 प्राप्त करने वाले तामाजीत बनर्जी को 1,11,000 रू., रैंक-145 पर सफल अनुभव कल्याणी को 51,000 रू., रैंक-168 पर कृतिन शर्मा को 51,000 रू., रैंक-179 पर आत्रेय गोस्वामी को 51.000 रू., रैंक-192 पर सप्तदर्शी दास गुप्ता को 51,000 रू., रैंक-212 पर चयनित अतुर गुप्ता को 31,000 रू. का चेक प्रदान कर सम्मानित किया।
जेईई मेन में एआईआर-12 हासिल करने वाले क्लासरूम छात्र शुभांकर को 1,11,000 रू., एआईआर-30 पर राजदीप पॉल को 75,000 रू., रैंक-45 पर चयनित आत्रेया गोस्वामी को 75,000 रू., रैंक-52 पर कनिष्क सिंघल को 61,000 रू., रैक-77 पर अनुभव कल्याणी को 51,000, रैंक-82 पर सप्तर्षी दास गुप्ता को 51,000, रैंेक-96 पर सफल सुहास जैन को 51,000 रू., रैंक-100 पर अनन्जन नंदी को 51,000 रू. का चेक देकर सम्मानित किया। विभिन्न नेशनल व इंटरनेशनल परीक्षाओं जैसे केवीपीवाय, ओलम्पियाड में सफल रहे विद्यार्थियों को भी चेक वितरित किये गए। रेजोनेंस के सीइओ आशीष शर्मा ने सभी का आभार जताया।

Check Also

नीट विद्यार्थियों के लिये स्टेट मेरिट सूची जारी

पात्र विद्यार्थियों को रैंक के अनुसार मिलेगा राज्य के प्राइवेट व गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेजों में …

error: Content is protected !!