Thursday, 2 February, 2023

साड़ी रन से महिलाओं में दिखा जोश, जज्बा और जुनून

‘स्वच्छ कोटा-स्वस्थ कोटा’ के लिये प्लोगिंग एम्बेसेडर ऑफ इंडिया रिपु दमन बेल्वी ने महिलाओं को घर की तरह शहर को स्वच्छ रखने की शपथ दिलाई
न्यूजवेव @ कोटा

कोटा फिटनेस एवं रनर्स फाउंडेशन (KFRF) द्वारा ‘स्वच्छ कोटा-स्वस्थ कोटा’ का संदेश देते हुये रविवार को शहर की 175 से अधिक महिलाओं ने 3.5 किमी की साडी रन में जबर्दस्त उत्साह से भाग लिया।
फाउंडेशन के निदेशक व रनिंग कोच अमित चतुर्वेदी एवं अर्चना मूंदडा ने बताया कि कोटा में यह पहली अनूठी महिला दौड़ सेवन वंडर्स से प्रारंभ हुई, जिसमें कडाके की सर्दी के बावजूद 7 बजे 175 से अधिक महिलाओं व युवतियों ने साडी पहनकर दौड लगाई। यह रन सेवन वंडर्स से कोटडी, बड तिराहा, सत्येश्वर महोदव, लक्की बुर्ज, जयपुर गोल्डन, गीता भवन, ज्वाला तोप होते हुये 8 बजे सेवन वंडर्स पर समाप्त हुई। जहां प्लोगिंग एम्बेसेडर रिपु दमन बेल्वी ने सामूहिक शपथ दिलाई कि हम अपने घर की तरह पूरे शहर को स्वच्छ रखेंगे। बाजार में एक थैला साथ लेकर निकलेंगे। सिंगल यूज प्लास्टिक बोतल का प्रयोग नहीं करेंगे। हम अपने शहर को स्वच्छ व स्वस्थ रखने की शपथ लेती हैं।
दौडते हुये पूरे रूट की सफाई की


साडी रन के दौरान अपने साथ एक थैला लेकर दौडते हुये रिपु दमन ने पूरे 3.50 किमी मार्ग से प्लस्टिक थैलियां व कचरा उठाया। उनके साथ डॉ. शैफाली शर्मा, रोटरी क्लब अध्यक्ष वैशाली भार्गव, रोटरी क्लब रायल अध्यक्ष ममता खंडेलवाल व रोटरी पद्मिनी अध्यक्ष गुरप्रीत आनंद व मैराथन कोच अजय सेठी भी थैला लेकर कचरा उठाते हुये चले। जिससे 1 घंटे में पूरे 3.5 किमी के रास्ते को कचरामुक्त कर दिया।
दमन ने कहा कि महिलायें स्वयं को चौका-चूल्हा और चारदीवारी तक ही सीमित रखती है। अब समय आ गया है कि हम चारदीवारी से बाहर निकलें। पूरा शहर और देश भी अपना घर है, इसे स्वच्छ और स्वस्थ बनाने के लिये ऐसी मुहिम में शामिल हों। हम क्लीन के साथ कूल इंसान भी बनें। इससे पहले 2020 में रिपु दमन कोटा में 50 किमी मार्ग पर सफाई करते हुये बिना रूके मैराथन पूरी कर वर्ल्ड रिकॉर्ड बना चुके हैं।
गुरूग्राम से कोटा पहुंची ‘खयालों की उडान’ की फाउंडर फैजी खान ने कहा कि ‘जी हां मैं रनर हूं, अपने पैरों से नये ख्वाब देखती हूं..’ जैसी पॉजिटिव सोच लेकर रोज दौड़ लगायें। नियमित दौडने से हैप्पी हार्मोन्स जैसे एंडोर्फिन शरीर से निकलेंगे। यही उर्जा आपको खुशमिजाज बना देगी।
मिस राजस्थान ज्योति पुष्पेंद्र सिंह ने साडी पहनकर दौड लगाई। उनका कहना है कि 7 माह की प्रिगनेंसी में दौडकर खुशी महसूस कर रही हूं तो सामान्य महिलायें दौडने से क्यों झिझकती है। टीनएजर गर्ल्स के लिये रनिंग एक टॉनिक की तरह है। कोटा में हजारों कोचिंग छात्रायें पढाई के प्रेशर में रहती हैं, उनको रोज सुबह 30 मिनट योगा व रनिंग करना चाहिये। फिटनेस होने से सफलता अवश्य मिलती है।
11 साल की खनक व 75 साल की लीला ने दिखाया हौसला


प्रथम साडी रन को लेकर शहर की महिलाओं के साथ टीनएजर्स में भी बहुत उत्साह दिखा। कक्षा-6 की छात्रा खनक ओबेराय ने साडी पहनकर अपनी दौड़ निर्धारित समय में पूरी की। वहीं बुजुर्ग महिला लीला सेवक (75) एवं अर्चना माथुर (73) ने उम्र व मौसम की परवाह किये बिना महिलाओं के साथ धीरे-धीरे दौडते हुये सबको स्वस्थ बने रहने के लिये दौड़ने का संदेश दिया।
केशवरायपाटन की 43 वर्षीया ममता भारद्वाज मात्र 20 मिनट में अपनी दौड पूरी कर प्रथम रहीं, विभू माहेश्वरी (43) 22 मिनट में दौड़ पूरी कर दूसरे स्थान पर रहीं। रामपुरा की योग टीचर वसुधा राजावत (29) ने कहा कि घर में रहने वााली गृहणियों को स्वस्थ बने रहने का यह अच्छा अवसर मिला, सबके चेहरे पर रौनक दिखाई दी। मोनिका दाधीच (31), मीनू बंसल (45), अदिति शर्मा (34) ने पहली बार 3.5 किमी दौडकर कहा कि अब वे रोज पार्क में रनिंग करेंगी।
पिंक साडी में दौडी महिलायें


कॉर्डिनेटर घनश्याम मूंदडा ने बताया कि पहली साडी रन में डॉ. नीता जिंदल, डॉ. गरिमा माहेश्वरी, डॉ.सुरभि गोयल, डॉ अर्चना मीणा, प्रियंका माथुर, वैशाली भार्गव, ममता खंडेलवाल, शालीनी टूटेजा, गुरप्रीत आनंद, सविता सिंह, मीता अग्रवाल, रीतू मंूदडा व प्रीति राठी, कवलीन मालवीय, गुंजन गांधी, रिचा अग्रवाल, राखी शर्मा, श्वेता साहू पिंक साडी पहनकर शामिल हुई। शहर के कई पुरूष धावकों ने भी साथ दौडते हुये महिलाओं का उत्साह बढाया।

(Visited 45 times, 1 visits today)

Check Also

राजस्थान को ‘मसाला हब’ बनाकर किसानों की आय बढ़ायें – ओम बिरला

लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने किया नेशनल मसाला बिजनेस मीट-2023 का उदघाटन न्यूजवेव @ जयपुर …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: