Sunday, 7 June, 2020

इस वर्ष 12वीं बोर्ड की मेरिट से हो सकते हैं इंजीनियरिंग में दाखिले

तृतीय बोर्ड ऑफ गवर्नेंस बैठक में राज्य के इंजीनियरिंग व पॉलिटेक्नीक कॉलेजों में ऑनलाइन पढ़ाई पर हुई चर्चा
न्यूजवेव @ जयपुर 
राज्य के इंजीनियरिंग कॉलेजों में नये सत्र से बीटेक, बीआर्क के लिये विद्यार्थियों को 12वीं बोर्ड परीक्षा की मेरिट सूची के आधार पर सीधे प्रवेश देने पर उच्चस्तरीय विचार विमर्श किया जा रहा है। तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग की अध्यक्षता में गुरुवार को इंजीनियरिंग कॉलेजों के बोर्ड ऑफ गर्वनर्स की तृतीय ऑनलाइन बैठक में इस मुद्दे पर गंभीरता से चर्चा की गई। उन्होने गांधीनगर स्थित आवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शिक्षाविदों से सुझाव लिये।

Dr Subhash Garg

बैठक में शिक्षाविदों ने सुझाव दिया कि इस वर्ष कोरोना महामारी के कारण जेईई-मेन तथा जेईई-एडवांस्ड प्रवेश परीक्षायंे जुलाई में होंगी, जिससे काउसंलिंग के बाद प्रवेश प्रक्रिया में देरी होने से नया शैक्षणिक सत्र समय पर प्रारंभ नहीं हो सकेगा। यदि 12वीं बोर्ड की मेरिट सूची से प्रवेश दिये गये तो इंजीनियरिंग कॉलजों में सीटें खाली नहीं रहेंगी तथा सत्र की शुरूआत समय पर हा सकेगी।
स्मार्ट क्लासेस से ऑनलाइन होगी पढाई
डॉ. गर्ग ने कहा कि राज्य में सभी इंजीनियरिंग कॉलेजों व पॉलिटेक्निक में स्थायी रूप से ऑनलाइन सिस्टम विकसित करने पर जोर दिया जाएगा जिससे रिमोट क्षेत्रों में रहने वाले विद्यार्थी ऑनलाइन स्मार्ट क्लासेस से नियमित पढाई जारी रख सकेंगे। डॉ. गर्ग ने कहा कि कोविड-19 महामारी की मौजूदा स्थिति को देखते हुये राज्य के सभी तकनीकी शिक्षा संस्थानों के विद्यार्थियों के प्लेसमेंट बढ़ाए जाने पर विशेष ध्यान दिया जायेगा।
बैठक में बी टेक व एम टेक के अंतिम सेमेस्टर के विद्यार्थियों की ऑनलाइन या ऑफलाइन परीक्षायें आयोजित कर जल्द रिजल्ट घोषित करने पर चर्चा की गई। साथ ही, बीटेक प्रथम व द्वितीय सेमेस्टर के विद्यार्थियों को अगले सेमेस्टर में प्रमोट करने पर भी विचार किया गया।
शिक्षाविदों ने दिये महत्वपूर्ण सुझाव
वीडियो कांफ्रेंसिंग में राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय, कोटा के कुलपति प्रो. आर.ए. गुप्ता, SRM यूनिवर्सिटी, चैन्नई के कुलपति प्रो. संदीप संचेती, IISC, बैंगलुरु के प्रो. एन शिव प्रकाश,NIT कालीकट के प्रो.अश्विनी चतुर्वेदी, NIT कुरुक्षेत्र के प्रो.सतीश तथा MNIT के पूर्व निदेशक प्रो. दहिया ने कोविड-19 महामारी के दौरान तकनीकी शिक्षा विभाग में उचित एक्शन लेने के लिये महत्वपूर्ण सुझाव दिए। बैठक के दौरान संबंधित इंजीनियरिंग कॉलेजों के प्रिंसिपल एवं सदस्य सचिव द्वारा टेक्यूप-3 से संबंधित एजेंडे पर चर्चा की गई।
बैठक में तकनीकी शिक्षा विभाग की शासन सचिव शुचि शर्मा, इंजीनियरिंग कॉलेज, बीकानेर, अजमेर, बांसवाडा, भरतपुर, झालावाड सहित महिला इंजीनियरिंग कॉलेज अजमेर एवं भीलवाड़ा के बोर्ड ऑफ गर्वनर्स के सदस्यों ने भाग लिया।

(Visited 98 times, 1 visits today)

Check Also

RPVT-2020 के लिये 20 जून तक करें ऑनलाइन आवेदन

न्यूजवेव @ जयपुर/कोटा राजस्थान प्री-वेटरनरी टेस्ट (RPVT-2020) में ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 5 जून …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: