Saturday, 6 June, 2020

आईआईटी की 779 सीटों पर बेटियों का होगा वर्चस्व

इम्तिहान: 20 मई को 32,923 छात्राएं ऑनलाइन जेईई-एडवांस्ड पेपर देंगी। इस वर्ष से आईआईटी में 14 प्रतिशत गर्ल्स दिखाई देंगी

न्यूजवेव@ नईदिल्ली/ कोटा

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के निर्देश पर वर्ष 2018-19 के लिए प्रत्येक आईआईटी में गर्ल्स के लिए 14 प्रतिशत सीटें सुपर न्यूमरेरी आधार पर आरक्षित की गई हैं, जिससे इस कठिन प्रवेश परीक्षा में गर्ल्स के सलेक्शन के आसार बढ़ गए हैं।

याद दिला दें कि 30 अप्रैल को घोषित जेईई-मेन,2018 के रिजल्ट में 50,693 गर्ल्स जेईई-एडवांस्ड के लिए क्वालिफाई घोषित की गईं। इनमें से 17,770 गर्ल्स ने जेईई-एडवांस्ड के लिए रजिस्ट्रेशन नहीं कराया, जिससे इस वर्ष 32,923 गर्ल्स परीक्षार्थी 779 आरक्षित सीटों के लिए पेपर देंगी। परीक्षार्थियों की संख्या घटने से उनके सलेक्शन के अवसर बढ़ गए हैं। गर्ल्स के लिए सर्वाधिक 113सीटें आईआईटी, खडगपुर में होंगी, जबकि आईआईटी, दिल्ली व बॉम्बे में गर्ल्स के लिए क्रमश 59 व 58 अतिरिक्त सीटों पर रैंक के अनुसार उन्हें प्रवेश दिए जाएंगे।

कोचिंग छात्राओं में उत्साह

कोटा में कोचिंग ले रही भुवनेश्वर की सिली साहू को 12वीं उडीसा बोर्ड में 80 प्रतिशत अंक मिले। न्यूक्लियस एजुकेशन में दो वर्ष कोचिंग लेने के बाद फंडामेंटल्स क्लिअर हो जाने से उसे सलेक्शन का विश्वास है। बिलासपुर की नयना बघेर, गरिमा वर्मा व केकडी की कशिश विजयवर्गीय ने कहा कि कोटा आकर हमने मिलकर तैयारी की है, इस वर्ष मन मे दोगुना उत्साह है।

हम टेस्ट पेपर में भी जेईई-एडवांस्ड की तरह एनालिसिस किया, जिससे परीक्षा का डर नहीं रहा। असम के कोकराझार से कोटा में कोचिंग ले रही प्रीतिशा ने बताया कि टीचर्स हमारे माइंडसेट के अनुसार पढाते रहे, जिससे हमारी परफॉर्मेंस में बहुत सुधार हुआ। उत्तराखंड की छात्रा साचिथिंद ने कहा कि पढ़ाने का स्टाइल कोटा में सबसे अलग है। हम अंतिम दिनों तक कंसेप्चुअल तैयारी की।

मेहनत पर भरोसा, मनोबल बढ़ा

मुंबई की गौरी तथा पटियाला की आनंदिता इस बात से खुश हैं कि आईआईटी में गर्ल्स को रिजर्वेशन दिए जाने से हमें अच्छे आईआईटी में मनपंसद ब्रांच मिल सकेगी। उन्हें अपनी मेहनत व क्षमता पर भरोसा है।

न्यूक्लियस एजुकेशन के एक ही बैच में भिंड से मानसी गुप्ता,पटना से कोमल, अंशू, भिवानी से श्रुति, छपरा से सरिता कुमारी, छतरपुर से अदिति सिंह, पचमडी से प्रियांशी, जबलपुर से सान्या, चारू व इशिता खरे, टौक की खुशबू, अलवर से मानसी यादव, भीलवाडा से दीपाली मूदड़ा व कोटा से डोना माहेश्वरी, तन्वी गुर्जर, श्रेया चौहान, झालावाड़ की अम्बिका ने इस वर्ष तैयारी की। इनका कहना है कि हम पूरी मेहनत से पेपर देंगे ताकि अच्छी रैंक से सलेक्शन हो सके।

कॅरिअर पॉइंट में एडवांस्ड की तैयारी कर रही मानसी, अनिता सिंह, मोनिका, श्रेया गर्ग व दीप्ति चौहान ने कहा कि आईआईटी में गर्ल्स के लिए सीटें बढ़ने से हमारा मनोबल बढा है। कैंपस में भी 14 प्रतिशत गर्ल्स होंगी, जिससे झिझक टूटी है। आईआईटी में पढ़ने का उनका सपना इस वर्ष सच होगा।

वायब्रेंट एकेडमी में बेगुसराय (बिहार) से क्लासरूम कोचिंग छात्रा तुलिका शांडिल्य, सूरत की चार्मी पुरोहित, बडौद (उप्र) से निष्णा राणा ने कहा कि हमें पहली बार 779 सीटों के लिए अवसर मिलने से आत्मविश्वास बहुत बढ़ा है। हमने 1 वर्ष कोटा में रहकर अच्छी रैंक के लिए दिन-रात मेहनत की है। इसी संस्थान की अदिति लढ्डा एवं रिया सिंह गर्ल्स केटेगरी में ऑल इंडिया टॉपर रह चुकी हैं।

एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट की सान्या सक्सेना, आराध्या, मनीषा अग्रवाल, जाहन्वी व तन्वी आहूजा ने कहा कि मैथ्स व फिजिक्स जैसे सब्जेक्ट में गर्ल्स को कमजोर मानते हैं लेकिन मेहनत व कॉम्पिटिशन में हम बराबर हैं। इस साल टॉप-1000 रैंक में गर्ल्स के सलेक्शन बढेंगे।

रेजोनेंस की क्लासरूम स्टूडेंट सरिता वशिष्ठ, सुनिति गर्ग व मीनल शर्मा ने कहा कि आईआईटी में सलेक्शन को लेकर हमें क्लास-10 से झिझक थी, लेकिन क्वालिटी कोचिंग मिलने और आईआईटी में 14 प्रतिशत सीटें रिजर्व होने से सभी गर्ल्स का मनोबल बढ़ा है।

गर्ल्स के लिए कहां कितनी सीटें
IIT, खडगपुर- 113
IIT, धनबाद  – 95
IIT, कानपुर  – 79
IIT, बीएचयू  – 76
IIT, रूडकी  – 68
IIT, दिल्ली    – 59
IIT, बॉम्बे      – 58
IIT, गुवाहाटी – 57
कुल रिजर्व सीटें – 779

जेईई-एडवांस्ड,2018:
क्वालिफाई    रजिस्टर्ड
कुुल:    2,31,024   1,64,822
ब्वायज: 1,80,331   1,27,793
गर्ल्स:       50,693     32,923

4 वर्षों में चयन का अनुपात
वर्ष      छात्र      छात्राएं (फीसदी)
2014- 91.21    8.79
2015- 90.98   9.02
2016- 90.70   9.30
2017- 86.00   14.0 क्वालिफाई

(Visited 104 times, 1 visits today)

Check Also

2 लाख स्टूडेंट्स ने डाउनलोड किया ‘नेशनल टेस्ट अभ्यास’

जेईई-मेन तथा नीट के नये पेपर पैटर्न को समझना हुआ आसान न्यूजवेव@ नईदिल्ली देेश में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: