Monday, 6 July, 2020

राजस्थान में 31 मई के बाद भी जारी रहेगा रात में कर्फ्यू

हैल्थ प्रोटोकॉल को लेकर कोई वीआईपी नहीं-मुख्यमंत्री
न्यूजवेव@ जयपुर
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि कोरोना संक्रमण के खतरे को कम से कम करने के लिए 31 मई के बाद भी प्रदेशभर में रात्रिकालीन कर्फ्यू शाम 7 बजे से सुबह 7 बजे तक जारी रखा जाए। इसमें किसी तरह की शिथिलता नहीं हो। उन्होंने कहा कि कंटेनमेंट क्षेत्र का पुनःनिर्धारण एक्टिव केसेज की संख्या के अनुसार किया जाए, ताकि केवल संक्रमित क्षेत्र में ही कर्फ्यू जारी रखा जाए।
शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास पर कोरोना संक्रमण पर उच्चस्तरीय बैठक में उन्होंने कहा कि हैल्थ प्रोटोकॉल की पालना सख्ती से हो। इसमें कोई भी अपना अहम आडे नहीं आने दे, चाहे वह वीआईपी ही क्यों न हो। उन्होंने अपील की है कि सभी प्रदेशवासी बार-बार हाथ धोते रहें, मास्क पहनें और सामाजिक दूरी के नियम की पूरी पालना करें। हैल्थ प्रोटोकॉल की सख्ती से पालना के लिए कैमरों सहित अन्य माध्यमों से प्रभावी निगरानी करे। उन्होंने निर्देश दिए कि राजस्थान महामारी अध्यादेश के तहत लागू पैनल्टी एवं जुर्माने के प्रावधानों में किसी तरह की शिथिलता नहीं बरती जाए।
बेहतर हो हैल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर
गहलोत ने कहा कि डब्ल्यूएचओ सहित कई विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि जुलाई-अगस्त माह में कोरोना का दूसरा दौर नये संकट पैदा कर सकता है। ऐसे में कोविड-19 महामारी की इस चुनौती को एक अवसर के रूप में बदलते हुए प्रदेश में जिला अस्पतालों से सब सेंटर तक मजबूत हैल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जाए, ताकि गांव के लोगों को छोटी-छोटी बीमारियों के इलाज के लिए शहर तक नहीं आना पडे।विधायकों से इस संबंध में सुझाव लेकर स्थानीय आवश्यकताओं के अनुरूप चिकित्सा सुविधाएं विकसित की जाएं।
निजी अस्पतालों में निशुल्क इलाज की एडवाइजरी जारी करें
मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सर्वोच्च न्यायालय की भावना के अनुरूप निजी अस्पतालों में कोरोना के निशुल्क इलाज के लिए एक एडवाइजरी जारी की जाए, जो अस्पताल इसका उल्लंघन करे उसके विरूद्ध कार्रवाई का प्रावधान हो।
अन्य राज्यों के मुकाबले राजस्थान बेहतर
अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य रोहित कुमार सिंह ने बताया कि कोरोना संक्रमण को लेकर राजस्थान की स्थिति अन्य राज्यों के मुकाबले बेहतर है। यहां गत 6 दिनों में एक्टिव केस की संख्या स्थिर है और रिकवरी रेट बढ़ी है। इसी तरह पिछले तीन दिनों में प्रवासी मजदूर, ग्रामीण क्षेत्र सहित सभी तरह के पॉजिटिव केस की संख्या घटी है। साथ ही शहरी इलाकों में कर्फ्यू क्षेत्रों की संख्या में कमी आई है।

(Visited 41 times, 1 visits today)

Check Also

कोरोना वायरस के उपचार में संभावित विकल्प हैं चाय और हरड़

IIT दिल्ली के शोधकर्ताओं ने चाय और हरितकी में ऐसे तत्व का पता लगाया है …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: