Sunday, 27 September, 2020

जेईई-मेन पेपर देकर परीक्षार्थियों के चेहरे खिले

 जेईई-मेन 2020 : फिजिक्स, केमिस्ट्री व मैथ्स में NCERT बेस्ड प्रश्न ही पूछे गये

पेपर एनालिसिस – बृजेश माहेश्वरी, निदेशक, एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट
न्यूजवेव@ कोटा
जेईई-मेन, सितंबर-2020 परीक्षा में 2 सितंबर से बीटेक के लिये दो पारियों में सीबीटी मोड में प्रारंभ हुई। पहले दिन पेपर देकर बाहर निकले परीक्षार्थी तनावमुक्त नजर आये। उन्होंने बताया कि पेपर एवरेज था, मैथ्स, फिजिक्स व केमिस्ट्री मंें प्रश्नों का लेवल आसान रहा। जिससे रेगुलर पढाई की निंरतरता टूटने के बावजूद परीक्षार्थियों को कोई परेशानी नहीं हुई। एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के निदेशक बृजेश माहेश्वरी ने पेपर एनालिसिस करते हुये बताया कि तीनों सब्जेक्ट में 20 सिंगल ऑप्शन करेक्ट टाइप प्रश्न थे और 5 प्रश्न न्यूमेरिकल बेस्ड थे। पहले दिन बीटेक के लिये कोटा में 1634 में से 1436 स्टूडेंट्स ने पेपर दिया। 198 स्टूडेंट्स अनुपस्थित रहे।
मॉक टेस्ट की मेहनत रंग लाई
सुबह की पारी में स्टूडेंट को एवरेज पेपर मिला तो वे खुशी से झूम उठे। कुछ दिनों से जिन्होंने मॉक टेस्ट देकर अभ्यास किया, उन्हें पेपर बहुत आसान लगा। पेपर में 70 प्रतिशत से अधिक प्रश्न एनसीईआरटी आधारित थे। केमिस्ट्री के आसान प्रश्नों ने सलेक्शन पक्का कर दिया। इसमें इनार्गेनिक आर्गेनिक व फिजिकल केमिस्ट्री से बराबर प्रश्न पूछे गये। मैथ्स के सवाल हल करने में कुछ समय ज्यादा लगा, हालांकि सवाल आसान रहे। मैथ्स में त्रिकोणमीति के सवाल कम रहे। जबकि फिजिक्स के प्रश्न फार्मूला बेस्ड रहे। मैग्नेटिज्म, इलेक्ट्रोस्टेट व ऑप्टिक्स से भी सवाल पूछे गए।
दोपहर की पारी में कुछ खास बदलाव नहीं दिखा। फिजिक्स में कक्षा 11 व 12 के टॉपिक्स का संतुलन था। लॉजिक गेट व इलेक्ट्रोमैग्नेटिक वेव से एक-एक सवाल पूछा गया। इलेक्ट्रोस्टेट का पोटेंशल कैलकुलेशन का प्रश्न ट्रिकी रहा। ऑप्टिक्स, मैकेनिक्स, मैग्नेटिज्म, मॉर्डन फिजिक्स व इलेक्ट्रोस्टेट को अच्छे से कवर किया गया।
मैथ्स में कैलकुलस के सवाल अधिक रहे, एल्जेब्रा व ट्रिग्नोमैट्री के सवाल संतुलित रहे। स्टेटिक्स में वैरियन्स, एलजेब्रा में बाइनोमीयल के सवालों ने परेशान किया, जबकि डिटरमीनेंट, काम्प्लेक्स नम्बर, सीक्वेंशल सीरीज के सवाल आसान रहे। केमिस्ट्री में जेईई-मेन के टॉपिक एफ-ब्लॉक, इन्वायरन्मेंट के सवाल नहीं थे। आर्गेनिक व इनॉर्गेनिक के सवाल आसान रहे। फिजिकल केमिस्ट्री के सवाल लंबे थे। थर्मो केमेस्ट्री के एक न्यूमेरिकल में उत्तर काफी बड़ी संख्या में था जिसने ज्यादा समय लिया। केमिस्ट्री में केमिकल हाथ पर गिरने पर उपचार के लिए क्या उपयोग में लेंगे, जैसे सवाल भी पूछे गये। इनॉर्गेनिक में एस ब्लॉक, कॉर्डिनेशन व कैमिकल बोंडिंग अधिक कवर हुआ। कुल मिलाकर, परीक्षार्थियों को इस अटेम्प्ट में अच्छा स्कोर अर्जित करने की उम्मीद है।

(Visited 20 times, 1 visits today)

Check Also

Hotel bills of over Rs 20,000 will now reflect in your ITR

Check other changes Income Tax Form 26AS Newswave@New Delhi The Government has proposed to widen …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: