Thursday, 13 August, 2020

2 साल की बच्ची के फेफडे़ से काजू बाहर निकाला

महावीर ENT हॉस्पिटल में सफल ऑपरेशन से उसकी सांसे लौटी, एक फेफडे़ ने काम करना बंद कर दिया था
न्यूजवेव @ कोटा
दो साल की मासूम बालिका की सांस नली में काजू फंस जाने से पिछले 5 दिनों तक उसकी सांसे अटकी रही लेकिन महावीर ईएनटी हॉस्पिटल में विशेषज्ञ चिकित्सकों ने उसका इमरजेंसी ऑपरेशन कर उसे तत्काल राहत पहुंचाई। महावीर नगर विस्तार योजना निवासी विजय गोयल ने बताया कि लाडली बेटी को काजू खिलाते समय हमने सोचा भी न था कि इससे उसकी सांस नली भी जाम हो सकती है। उसे बुखार व कफ की शिकायत होने लगी। जिससे कोरोना के कारण चिंता और बढ़ गई। बेटी की हालात नाजुक होने पर उसे शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ.कमल वार्ष्णेय को दिखाया। डॉ.वार्ष्णेय ने जांच के बाद उसे महावीर ईएनटी हॉस्पिटल में रैफर किया। जहां ईएनटी विशेषज्ञ डॉ.विनीत जैन ने उसकी सारी जाचें की।
डॉ. जैन ने बताया कि बच्ची की श्वास नली में काजू का टुकडा फंस जाने से बायें फेफडे़ ने काम करना लगभग बंद कर दिया था, जिससे उसकी पीडा असहनीय हो रही थी। ऐसी स्थिति में अनावश्यक देरी करने पर उसकी जान को खतरा था। हॉस्पिटल की निश्चेतना विशेषज्ञ डॉ. आरती गुप्ता ने उसे कम ऑक्सीजन देते हुये वेंचुरी द्वारा सेचुरेशन को बनाये रखा और जिसे श्वसन क्रिया जारी रही।
हॉस्पिटल के निदेशक एम.पी.जैन ने बताया कि कोविड-19 के तहत सभी आवश्यक सावधानियां बरतते हुये सर्जरी टीम ने बच्ची के मुंह से नली डालकर एंडोस्कोपी जांच की, साथ में सर्जरी के दौरान पारदर्शी धातु की पतली रॉड से काजू के टुकडे़ को सुरक्षित ढंग से बाहर निकाल दिया, जिससे उसकी सांस प्रक्रिया सामान्य हो गई तथा फेफडों में कोई संक्रमण नहीं हो सका। सफल ऑपरेशन के बाद देखरेख के लिये रातभर उसे अस्पताल में रखा गया। अगले दिन सुबह से उसके दोनो फेफडे सामान्य ढंग से काम करने लगे, जिसके बाद उसे छु्ट्टी दे दी गई।

(Visited 28 times, 1 visits today)

Check Also

कोरोना वायरस से बचाव करेगी-जल नेति क्रिया

एक मेडिकल जर्नल में प्रकाशित रिसर्च के अनुसार जल नेति (नेजो फ्रेरिन्जियल वॉश) कोविड-19 वायरस …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: