Sunday, 7 March, 2021

कोटा में पढाई के साथ ‘हम फिटनेस में रहेंगे 21’

विद्यार्थियों व युवाओं में इम्यून सिस्टम मजबूत करने के लिये फिटनेस स्क्वायर क्लब का कैम्पेन शुरू
न्यूजवेव @ कोटा
शिक्षा नगरी में विद्यार्थियों को पढाई एवं युवाओं को ऑफिस कार्य के साथ स्वस्थ बने रहने के लिये फिटनेस स्क्वायर क्लब ने ‘हम फिटनेस में रहेंगे 21’ कैम्पेन शुरू किया है। क्लब अध्यक्ष एवं नेशनल मैराथन रनर अमित चतुर्वेदी ने बताया कि मार्च 2020 से अब तक 10 माह में कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन एवं अन्य कारणों से स्कूल, कॉलेज एवं कोचिंग विद्यार्थियो की क्लासरूम पढाई तथा प्रोफेशनल युवाओं को ‘वर्क फ्रॉम होम’ करने पर विवश होना पड़ा। दिनचर्या में आये बदलाव से कई हर उम्र के लोगों में शारीरिक परेशानियां सामने आने लगी। इसके लिये क्लब सदस्यों ने गाइडलाइन की पालना करते हुये सभी आयु वर्ग में स्वास्थ्य जागरूकता पैदा करने के लिये इस माह से फिटनेस कैम्पेन प्रारंभ किया है।


हैप्पीनेस टीम के प्रवक्ता प्रणव मेहता ने बताया कि शिक्षा नगरी में आगामी 18 जनवरी से क्लासरूम पढाई शुरू हो रही है। पिछले कुछ माह से कई विद्यार्थी कोटा में आकर ऑनलाइन पढाई कर रहे थे। उनको पढाई के साथ फिटनेस में भी इक्कीस रहने के लिये प्रेरित किया जा रहा है। मैराथन रनर ईएनटी विशेषज्ञ डॉ. विक्रांत माथुर ने कहा कि खुद के स्वास्थ्य के लिये रोज 1 घंटा एक्सरसाइज, पैदल सैर, रनिंग या व्यायाम करने से मैमोरी पावर भी बढ़ जाती है। अमेजॉन बैंगलुरू में कोटा के इंजीनियर शालीन मूंदडा ने कहा कि वे 10 माह से वर्क फ्रॉम होम करते हुये कोटा में हैं। यहां युवाओं में स्वास्थ्य के प्रति बहुत जागरूकता है। कोटा यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ रूचि साहू, बिजनेस वुमन व नेशनल रनर अर्चना मूंदडा, रिचा अग्रवाल, इंजीनियर राखी शर्मा ने कहा कि शहर की युवतियां व महिलायें संक्रामक बीमारियों से बचाव के लिये घर पर, पार्क या किसी जिम में 1 घंटा खुद के लिये समय निकालें और नियमित एक्सरसाइज अवश्य करें।
कोचिंग विद्यार्थियों में फिट रहने का जोश


अगरतला त्रिपुरा से कोटा में मेडिकल कोचिंग लेे रहे अर्णव शाह (18) ने कहा कि रोजाना 1 घंटे एक्सरसाइज करके हम इम्यून सिस्टम को मजबूत कर सके। अगरतला से आये जैनित चाकमा (18) ने बताया कि 10 माह में मोटापा बढ जाने से उन्हें पढाई करने में दिक्कत हो रही थी लेकिन एक माह से रेगुलर एक्सरसाइज शुरू करके स्वस्थ महसूस कर रहे हैं। त्रिुपरा के सौरदीप मालाकर (17) ने कहा कि नियमित व्यायाम करने से ब्रेन को नई उर्जा मिल जाती है। हम घर से दूर रहकर भी अच्छी पढाई कर रहे हैं। कोलकाता से आये मेडिकल छात्र एजाज अहमद ने कहा कि वे रोज 1 घंटा जिम में एक्सरसाइज करते हैं, जिससे पढाई करने में थकान महसूस नहीं होती है। 18 जनवरी से कोटा कोचिंग में क्लासरूम स्टडी शुरू हो जाने से हम बहुत खुश हैं। गौरतलब है कि कि पूर्वोत्तर राज्यों से लगभग 1800 से अधिक विद्यार्थी प्रतिवर्ष कोटा में जेईई व मेडिकल प्रवेश परीक्षाओं की कोचिंग लेने पहुंचते हैं।

(Visited 86 times, 1 visits today)

Check Also

क्यू.आर.कोड से गुमशुदा जानवर को ढूंढना हुआ आसान

कोटा में 10वीं के छात्र नहुश ने अनूठा व सस्ता ‘क्यूआर कोड’ विकसित किया न्यूजवेव@ …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: