Tuesday, 23 July, 2024

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फिटनेस के राज

न्यूजवेव @ नई दिल्ली

देश में लॉकडाउन के दौरान प्रधानमंत्री की फिटनेस के कुछ मंत्र सभी नागरिकों के लिये उपयोगी हो सकते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले कई वर्षों से कोई अवकाश नहीं लिया और न कभी बीमार हुये। नई चुनौतियों का सामना करते हुये देश के नव-निर्माण के लिये अनवरत काम करते हुए वे खुद को कैसे फिट रख पाते है ? उनकी दिनचर्या को जानने वाले बता रहे हैं कि जिम्मेदारी के साथ विपरीत हालातों से मुकाबला करते हुये उनके स्वस्थ बने रहने का राज क्या है-

योगासन से दिनचर्या की शुरूआत
नरेंद्र मोदी रात में कितनी भी देर से सोएं, सुबह 4-5 बजे उठकर योग-प्राणायाम करना नहीं भूलते। सूर्य नमस्कार, प्राणायाम और योगासन से उनकी एनर्जी का लेवल कई गुना बढ़ जाता है।
रक्तसंचार के लिये नियमित वॉक
वे नियमित पैदल सैर करना पसंद करते हैं। रोज सुबह अपने आवास पर वे थोड़ा समय टहलते हुये ऑक्सीजन लेते हैं। इससे नई उर्जा मिलती है और ब्लड सर्कुलेशन सही बना रहता है।

तनावमुक्त कर देता है मेडिटेशन
प्रधानमंत्री मोदी नियमित मेडिटेशन करते हैं। प्राणायाम से उनका तनाव व मानसिक थकान दूर हो जाती है। वे फिटनेस के साथ अगला कदम बढाते हैं।
संतुलित नाश्ता देता है उर्जा
मोदी सुबह पोहा, खाखरा, भाखरी और अदरक वाली गुजराती चाय जैसा हल्का नाश्ता करते हैं। इससे उन्हें दिनभर के लिए एनर्जी मिलती है।
फल व सब्जियों के साथ पौष्टिक आहार
नरेंद्र मोदी शाकाहारी हैं। वे खाने में ताजा फल व हरी सब्जियों के साथ सादा गुजराती या साउथ इंडियन खाना पसंद करते हैं। इससे कभी उदासी या थकान नहीं लगती।
हल्का फुल्का स्नैक्स 
वे एक साथ बहुत ज्यादा डाइट नहीं लेते हैं। बीच-बीच में फल या हल्का स्नैक्स लेते हैं जिससे एनर्जी बनी रहती है। आलस्य और नींद से वे दूर रहते हैं।
पाचन शक्ति के लिये गुनगुना पानी
नरेंद्र मोदी दिन में गुनगुना पानी पीते हैं। इससे यात्राओं के दौरान पाचन शक्ति सही रहती है। उपवास के के दौरान उन्हें एनर्जी मिलती रहती है।
दिनचर्या में शामिल है- उपवास
नवरात्र में 9 दिन और इसके अलावा भी नरेंद्र मोदी उपवास करते हैं। इस दौरान वे सिर्फ नींबू पानी पीते हैं। इससे उनकी बॉडी डिटॉक्स होती है और एनर्जी लेवल बना रहता है।
आध्यात्म से जुड़ाव
मोदी को प्रारंभ से ही आध्यात्म से काफी लगाव है। इससे जुड़ी किताबें पढना उनकी दिनचर्या में शामिल है। मानसिक रूप से ताकतवर बने रहने के लिये आध्यात्म से जुडे़ रहना उन्हें पसंद है।
चार घंटे गहरी नींद
यह सुनकर आश्चर्य होता है कि देश के प्रधानसेवक नरेंद्र मोदी 24 घंटे में महज 3-4 घंटे ही सोते हैं। बिस्तर पर लेटने के 30 सेकेंड में उन्हें गहरी नींद आ जाती है। सुबह तरोताजा महसूस करते हैं।

(Visited 379 times, 1 visits today)

Check Also

भक्तों को असमय कष्टों से मुक्त कर देतें हैं श्रीकृष्ण- अचार्य त्रिवेदी

कोटा में श्रीमद भागवत कथा के चौथे सोपान में हुई अमृत वर्षा न्यूजवेव @कोटा  विनोबाभावे …

error: Content is protected !!