Monday, 22 July, 2024

अब कमजोर आय वर्ग के बच्चे आसानी से बनेंगे डॉक्टर

एजुकेशन सिटी कोटा में 80 हजार स्टूडेंट करते हैं नीट-यूजी की तैयारी
न्यूजवेव @ कोटा
मोदी सरकार ने कमजोर आय वर्ग के विद्यार्थियों को मेडिकल संस्थानों में इस वर्ष MBBS, MD, MS,BDS, MDS आदि में 10 प्रतिशत आरक्षण का तोहफा दिया है। साथ ही OBC-NCL वर्ग के विद्यार्थियों को भी सभी राज्यों के मेडिकल कॉलेजों में 27 प्रतिशत सीटों पर प्रवेश के लिये आरक्षण का लाभ मिल सकेगा।
एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के सह-संस्थापक निदेशक बृजेश माहेश्वरी ने बताया कि देशभर के मेडिकल कॉलेजों में यूजी व पीजी में कमजोर आयवर्ग के विद्यार्थियों को करीब 5,500 सीटों पर लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि एजुकेशन हब कोटा में मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट की तैयारी के लिए सभी राज्यों के स्टूडेंट्स आते हैं। कमजोर आयवर्ग के प्रतिभावान विद्यार्थियों केा कोचिंग संस्थानों द्वारा भाी फीस में रियायत दी जाती है। मोदी सरकार के इस एतिहासिक फैसले से गांवों व शहरों के गरीब परिवारों के बच्चे भी अच्छे मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश लेकर डॉक्टर बन सकेंगे।
इस आरक्षण के बाद OBC-NCL विद्यार्थियों को एमबीबीएस में 1500 सीटों एवं MD या MS में 2500 सीटों पर आरक्षण लाभ मिलेगा। जबकि EWS श्रेणी के विद्यार्थियों को MBBS की 500 तथा PG की 1000 सीटों पर आरक्षण लाभ देय होगा। नीट-यूजी 12 सितम्बर,2021 को आयोजित होगी, जिसमें सभी वर्गों के 17 लाख विद्यार्थी पेपर शामिल हो सकते हैं।

(Visited 197 times, 1 visits today)

Check Also

कोटा में प्रत्येक कोचिंग विद्यार्थी की यूनिक आईडी बनेगी

कोचिंग विद्यार्थियों को अन्य कोर्सेस की जानकारी भी दें, फीस वापसी की सरल पॉलिसी बनायें, …

error: Content is protected !!