Saturday, 13 April, 2024

KVPY टॉप-10 में एलन के 5 स्टूडेंट्स

रिजल्ट : KVPY फैलोशिप के लिए एलन के 460 स्टूडेंट्स का चयन
न्यूजवेव कोटा
किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना (KVPY- 2018) के स्टेज-2 रिजल्ट में ऑल इंडिया टॉप-10 रैंक में 5 एलन विद्यार्थियों ने जीत का परचम लहराया। निदेशक बृृजेश माहेश्वरी ने बताया कि कक्षा-11वीं व 12वीं लेवल पर इस परीक्षा में दोनों कक्षाओं के टॉप-10 में से 5 स्टूडेंट्स एलन से हैं। ये सभी क्लासरूम प्रोग्राम से हैं। कक्षा 11 के एसए वर्ग में क्लासरूम छात्र पार्थ द्विवेदी ने छठे एवं नियति मेहता 9वें स्थान प्राप्त पर रही। कक्षा-12वीं के एसएक्स वर्ग में क्लासरूम विद्यार्थी हर्षिल वगादिया ने ऑल इंडिया रैंक-3, कार्तिकेय गुप्ता छठे तथा जयेश सिंगला 10वें स्थान पर चयनित हुये।
कुल 460 स्टूडेंट्स का चयन
माहेश्वरी ने बताया कि KVPY स्टेज 2 में संस्थान के कुल 460 स्टूडेंट्स सफल हुए। इसमें 366 स्टूडेंट्स क्लासरूम प्रोग्राम से तथा 94 डिस्टेंस लर्निंग प्रो्रग्राम से हैं।

रेगुलर स्टडी ही काम आई

राजकोट के छात्र हर्षिल वागड़िया ने KVPY (SX स्कीम) में तीसरे स्थान पर रहे। हर्षिल ने जेईई मेन जनवरी में 350 अंक स्कोर किए हैं। अब वह जेईई एडवांस्ड की तैयारी में जुटा हुआ है। वो दो साल से कोटा में रहकर पढ़ाई कर रहा है। मां टीचर वीपा वागड़िया उसके साथ रहती हैं। फिजिक्स उसका पसंदीदा सब्जेक्ट है। क्लासरूम कोचिंग के अलावा 10 से 12 घंटे रेगुलर स्टडी ही उसकी सफलता की वजह है। वह इंटरनेशनल फिजिक्स ओलंपियाड में कैम्प के लिए चयनित हो चुका है। पिता उन्मेश वागड़िया व्यवसायी हैं।

कमजोर टॉपिक्स को मजबूत बनाया

KVPY (SA स्ट्रीम) में छठा स्थान प्राप्त करने वाले पार्थ द्विवेदी ने बताया कि उसने अपने कमजोर टॉपिक्स को मजबूत किया। ऑर्गेनिक कैमेस्ट्री से घबराता था लेकिन एलन टीचर्स का सपोर्ट मिला जिससे दोनों सब्जेक्ट में कमियां दूर हो गई। एलन के स्टडी मैटेरियल से काफी सपोर्ट मिलता है।  रोजाना तीन-चार घंटे पढता हूं और क्लास रेगुलर जाता हूं। गिटार बजाना और मूवी देखना पसंद है। पिता विनीत द्विवेदी रेलवे अधिकारी और मां नीति द्विवेदी लखनऊ में एडिशनल एसपी हैं।

फिजिक्स फेवरेट सब्जेक्ट

पटियाला के छात्र जयेश सिंगला ने SX कैटेगरी में  10वीं रैंक प्राप्त की है।  जेईई मेन जनवरी 2019 में 100 पर्सेन्टाइल स्कोर कर चुका है। फिजिक्स उसका फेवरेट सब्जेक्ट है। रेगुलर क्लास के अलावा 5 से 6 घंटे सेल्फ स्टडी को दिए।  रेगुलर स्टडी को ‘की ऑफ सक्सेस’ मानता है। जयेश RMO क्वालिफाइड है और नेशनल ओलंपियाड ऑफ कैमेस्ट्री, फिजिक्स, एस्ट्रोनॉमी व इन्फोर्मेटिक्स के दूसरे लेवल के लिए चयनित हो चुका है। पापा डॉ.अजय कुमार सिंगला व मां डॉ.मोनिका गुप्ता चिकित्सक हैं।

रिविजन से बढ़ी स्ट्रेंथ

अहमदाबाद की छात्रा नियती मेहता ने KVPY (SA स्ट्रीम) में 9वीं रैंक प्राप्त की है। क्लासरूम स्टडी के अलावा उसने 5 से 6 घंटे रेगुलर पढाई की। कक्षा-10वीं के सिलेबस को रिवाइज किया जो उसकी स्ट्रेंथ रही। एलन में अच्छे स्टूडेंट्स और बेस्ट टीचर्स का साथ मिला। फिजिक्स सबसे फेवरेट सब्जेक्ट है। वह आईआईटीयन बनना चाहती है। पापा मनीष मेहता ओएनजीसी में अधिकारी एवं मां सेजल मेहता इंजीनियर है।

(Visited 133 times, 1 visits today)

Check Also

नारायणा ई-टेक्नो स्कूल में किया 30 यूनिट रक्तदान

थैलेसिमिया बच्चों के लिये स्कूल शिक्षकों ने पहली बार दिया रक्त न्यूजवेव@कोटा श्रीनाथपुरम-ए स्थित नारायणा …

error: Content is protected !!