Tuesday, 9 March, 2021

अल्ट्रा मैराथन चैम्पियन सूफिया के साथ दौडे़ शहरवासी

कश्मीर से कन्याकुमारी तक पैदल दौड़ रही राजस्थान की पहली महिला धावक, गूगल मेप से कर रहे लाइव ट्रेकिंग
न्यूजवेव कोटा
कश्मीर से कन्याकुमारी तक 4035 किलोमीटर पैदल दौड़ रही राजस्थान की पहली महिला धावक सूफिया खान (33) गुरूवार सुबह 4 बजे बल्लोप पहंुची तो शहर के कई रनर्स, शहर पुलिस एवं साइकिलिंग ग्रुप के सदस्यों ने नयापुरा होते हुये गीताभवन, सेवन वंडर्स, कोटडी, एरोड्रम सर्किल, अनंतपुरा व जगपुरा तक उनके साथ दौड़कर हौसला बढ़ाया। सुफिया ने गुरूवार को कोटा से मुकंदरा हिल्स तक दौड़ पूरी की। शुक्रवार वे सुकेत से झालावाड़ पैदल दौड़ते हुये मध्यप्रदेश के शहरों में प्रवेश करेगी।

फिटनेस स्क्वायर रनर्स क्लब के डॉ. विक्रांत माथुर, अल्ट्रा मैराथन अर्चना मंूदड़ा, अमित चतुर्वेदी, डॉ.संजीव सक्सेना, रीतेश साहू एवं उमेश गोयल ने बताया कि शहरवासियों में फिटनेस के प्रति जागरूकता देखकर सुफिया बहुत प्रभावित हुई। ऐसा जज्बा देश के अन्य शहरों में देखने को नहीं मिला। वे शहर पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव से भी मिली।

25 अप्रैल को कश्मीर से अल्ट्रा मैराथन शुरू करने वाली सुफिया 11 राज्यों के 25 बडे़ शहरों व सैकड़ो कस्बो से होती हुई 100 दिन में कन्याकुमारी पहुंचेगी। अब तक 36 दिनों में वे लगातार 1600 किलोमीटर की दूरी तय कर चुकी है। उन्होंने बताया कि गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में सबसे कम दिनों में अकेले सबसे लंबी दूरी तय करने का रिकॉर्ड बनाना उनका लक्ष्य है, जिसकी गाइडलाइन के अनुसार, निरंतर विडियो रिकॉर्डिंग भी की जा रही है।

सुफिया ने बताया कि मार्च,2018 में गोल्डन ट्राईएंगल में 720 किमी दौड़ को 16 दिन में पूरी कर उसने इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में कीर्तिमान बनाया है। देश में भाईचारा, शांति व सद्भाव के लिये वह सभी राज्यों से गुजरते हुये दौड़ पूरा करेगी। भीषण गर्मी में 45 डिग्री तापमान के बावजूद रोजाना 50 किमी दौडना चुनौती है, जिसे वह पूरा कर रही है। उन्होंने कहा कि रनर्स के लिये कोई मौसम बाधा नहीं हो सकता। जीवन में चमकना है तो जलना ही पड़ेगा। हमारे भीतर स्पोर्ट्समेनशिप होगीे तो कंफर्ट जोन कभी अच्छा नहीं लगेगा।

यह मैराथन इंसानियत को समर्पित


सुफिया ने बताया कि वे गीता, कुरान,बाइबल और गुरूग्रंथ साहिब चारों में विश्वास करती है। इंसानियत ही हमारा धर्म है। आज मोरल वैल्यू घटनेे से चारों ओर नेगेटिविटी दिखाई देती है। हम सोच को पॉजिटिव रखें तो हर क्षेत्र में अच्छा कार्य कर सकते हैं। महिलाओं की असुरक्षा के सवाल पर उन्होंने कहा कि गर्ल्स हमेशा पॉजिटिव सोच रखें, किसी से डरे नहीं। कभी आंखें झुकाए नहीं। दूसरों से आंख मिलाकर आत्मविश्वास के साथ बात करें तो डर दूर हो जाएगा। वे खुद के लिये नहीं बल्कि दूसरों को मोटिवेट करने के लिये दौड रही हैं। कोटा के रनर्स में जैसा जज्बा दिखाई दिया, वैसा अन्य शहरों में नहीं दिखा। यहां हैल्थ अवेयरनेस है।
1 जून से शुरू होगा रनिंग फेस्टिवल
रनिंग फेस्टिवल-2019 के कॉर्डिनेटर अमित चतुर्वेदी ने बताया कि स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता लाने के उद्देश्य से फिटनेस स्क्वायर रनर्स क्लब के 500 से अधिक सदस्य विभिन्न शहरों में रोजाना न्यूनतम 3.2 किमी की नियमित रनिंग प्रारंभ करेंगे। 30 जून तक प्रत्येक धावक 100किमी की दौड़ पूरी करेंगे। 1 जून शनिवार को प्रातः6 बजे नयापुरा स्टेडियम में ग्रुप रनिंग से इसकी शुरूआत होगी, जिसमें शहर के डॉक्टर्स, सीए, इंजीनियर व अन्य प्रोफेशनल युवाओं सहित सभी आयुवर्ग के दम्पती निर्धारित समय में सामूहिक दौड़ लगाएंगे। जून में प्रत्येक शनिवार को सामूहिक दौड़ होगी, जिससे शहरवासियों में खुद की सेहत के लिये रोज 1 घंटा देने की जागरूकता पैदा हो सके।

(Visited 71 times, 1 visits today)

Check Also

आपकी नजर चुरा लेता है-ग्लोकोमा

विश्व ग्लूकोमा सप्ताह ( 7 से 14 मार्च ) पर विशेष  न्यूजवेव @ कोटा आंखों …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: