Saturday, 15 August, 2020

महामारी के विरूद्ध 130 करोड़ दीयों की रोशनी ने दिखाया लौहसंकल्प

रात 9 बजे 9 मिनट तक मनाया प्रकाश पर्व, राष्ट्रपति से अंतिम नागरिक तक सभी ने दिखाई एकजुटता
न्यूजवेव@नईदिल्ली/कोटा
रविवार 5 अप्रैल को रात 9 बजे भारत के 130 करोड़ देशवासियों ने घरों की बत्तियां बुझाकर दीपक, मोमबत्ती, मोबाइल टॉर्च से कोरोना वायरस को प्रतिकार की रोशनी दिखाई। 9 मिनट तक दुनियाभर में महामारी के खिलाफ भारत की एकजुटता का तेज चमकता रहा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक आव्हान पर सभी नागरिकों ने प्रकाश पर्व मनाकर कोरोना को हराने के लिये अपनी संकल्प शक्ति को दर्शाया।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वैंकया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सहित सभी मंत्रियों, राज्यों के मुख्यमंत्री व अन्य जनप्रतिनिधियों,उद्यमियों व आला अफसरों ने अपने आवासों पर दीपक जलाकर एकता का संदेश दिया।

Loksabha Speaker Om Birla with family

कोरोना वायरस के विरूद्ध निराशा व अंधकार को दूर कर उर्जा फैलाने के लिये सभी समुदायों व वर्गों के लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुये दीप जलाये।कई शहरों में दीवाली पर्व की तरह आतिशबाजी की गूंज भी सुनााई दी।

MLA Sandeep Sharma

इस अवसर पर उपराष्ट्रपति ने कहा कि प्रधानमंत्री के आह्वान को व्यापक समर्थन देकर देशवासियों ने एक बार फिर इस महामारी के विरुद्ध अपने लौह संकल्प को साबित किया है। कोविड-19 के विरुद्ध अभियान में डॉक्टरों, स्वास्थ्यकर्मियों, पुलिस, स्वच्छताकर्मियों तथा स्थानीय निकायों के कर्मचारियों एवं स्वयंसेवी संगठनों के प्रयास अतुलनीय हैं। उन्होंने कहा कि जब तक हालात सामान्य न हो जाए वे हर माह अपने वेतन की 30 प्रतिशत राशि कोविड 19 संक्रमण के विरुद्ध अभियान में देते रहेंगे।
ग्रिड में कोई व्यवधान नहीं 

रविवार को केंद्रीय उर्जा मंत्री आरके सिंह उर्जा सचिव सहित आला अफसरों के साथ नईदिल्ली में नेशनल पावर मॉनिटरिंग सेंटर में मौजूद रहे। रात 9 बजे सिर्फ 5 मिनट के लिये ग्रिड पर लोड 117 गीगावाट से घटकर 85.3 गीगावाट तक गिरा। लेकिन लोड डिस्पेच सेंटर्स द्वारा सभी राज्यों में इसे नियंत्रित कर लिया गया। उसके 9 मिनट बाद लोड 110 गीगावाट कर दिया गया। जिससे देश में बिजली संबंधी कोई व्यवधान पैदा नहीं हुआ।
कोटा ने दिखाई एकजुटता

प्रधानमंत्री के आव्हान पर रविवार को रात 9 बजे कोटा शहर के सभी आवासीय क्षेत्रों में लोगों ने घरों की बिजली बंद कर दी, जिससे चारों ओर अंधेरा छा गया, नागरिकों ने आंगन, छत, बालकनी व दरवाजों पर आकर एक संकल्प के साथ प्रकाशपर्व मनाया। कोरोना को हराने के लिये चारों ओर आवाजें गूंजती रही।

151 Deepak by a Family

वायरस को भगाने के लिये कई जगह आतिशबाजी भी की गई। विधायक संदीप शर्मा ने अपने आवास पर दीप प्रज्जवलित कर कोटा शहर को कोरोना मुक्त रखने का संकल्प किया। विभिन्न उद्योगों, संस्थाओं, व्यापार महासंघ सहित स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने भी प्रधानमंत्री के महासंकल्प में सहभागी बनकर सामूहिक शक्ति का परिचय दिया।

एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट में रविवार को इंद्रविहार स्थित संकल्प कैम्पस में एएसडब्ल्यूएस द्वारा 3204 दीपक की रोशनी कर कोरोना के कर्मवीरों को प्रणाम किया। हर धर्म के विद्यार्थियों ने मोबाइल टॉच चालू कर एकता का परिचय दिया।

(Visited 47 times, 1 visits today)

Check Also

इकलौते राज्य सूचना आयुक्त, जो रिटायर होने के बाद भी दे रहे निःशुल्क सेवायें

न्यूजवेव @ भोपाल सूचना का अधिकार अधिनियम (RTI Act) लागू होने के 14 साल बाद …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: