Thursday, 2 February, 2023

सीपीयू कोटा के दीक्षांत समारोह में 62 स्टूडेंट्स को मिले गोल्ड व सिल्वर मेडल

कॅरिअर पॉइंट यूनिवर्सिटी कोटा (CPU Kota) के दीक्षांत समारोह में कुल 956 स्टूडेंट्स को मिली डिग्री, कई विदेशी स्टूडेंट भी पहुंचे
न्यूजवेव @ कोटा 

कॅरिअर पॉइंट यूनिवर्सिटी कोटा के दीक्षांत समारोह में शनिवार को 36 विद्यार्थियों को गोल्ड मेडल एवं 26 को सिल्वर मेडल के साथ डिग्री प्रदान की गई। कुलपति प्रोे.टी.आर.शर्मा ने बताया कि सीपीयू कोटा में देश-विदेश के कुल 956 विद्यार्थियों को विभिन्न संकायों में यूजी, पीजी एवं ड्यूल डिग्री कोर्सेस की उपाधियां प्रदान की गई। डिग्री पाकर विद्यार्थी एवं उनके अभिभावक खुशी से झूम उठे।
समारोह के मुख्य अतिथी इंडियन काउंसिल ऑफ एग्री रिसर्च (ICAR), नईदिल्ली के पूर्व उप महानिदेशक एवं  कृषि विवि,जोबनेर के पूर्व कुलपति प्रो.जीत सिंह संधू ने कहा कि नई शिक्षा नीति (NEP 2020) के अनुरूप आज यूनिवर्सिटी के सभी कोर्सेस में स्किल डेवलपमेंट, रिसर्च एवं इनोवेशन पर फोकस करना आवश्यक है। विगत 10 वर्षों से क्वालिटी एजुकेशन देते हुये सीपीयू कोटा (CPU Kota) ने अपने ग्लोबल स्टैंडर्ड से नये मापदंड स्थापित किये हैं। स्टूडेंट्स को मार्केट रेडी कोर्स एवं नये स्किल देकर आने वाले समय में सीपीयू कोटा देश की शीर्ष रैंकिंग की सूची में शामिल हो सकती है।
चांसलर प्रमोद माहेश्वरी ने कहा कि सीपीयू राजस्थान की पहली यूनिवर्सिटी है, जिसने आईआईटी पैटर्न पर ड्यूल डिग्री कोर्सेस प्रारंभ किये हैं। इस वर्ष 123 स्टूडेंट्स ने ड्यूल डिग्री हासिल की है। विद्यार्थियों को बधाई देते हुये उन्होंने कहा कि डिग्री लेने के साथ स्किल व नॉलेज दोनों आपके पास हैं। एक डिग्री किसी जॉब की गारंटी नहीं दे सकती है, इसलिये एक सफल इंसान बनने के लिये अपने स्किल को लेकर आगे बढें और लर्निंग प्रोसेस हमेशा जारी रखें।
69 को मिली डॉक्टरेट उपाधि
समारोह में सीपीयू कोटा से विभिन्न संकायों में पीएचडी पूरी करने वाले 69 स्टूडेंट्स को डॉक्टरेट उपाधि से नवाजा गया। मुंबई से पहुंचे व्यवसायी प्रसन्न जोशी (55) ने बताया कि लर्निंग के लिये उम्र कोई मायने नहीं रखती है। मैनेजमेंट में मास्टर्स की उपाधि लेकर उन्होने सीपीयू कोटा के अकादमिक कल्चर को बहुत अच्छा बताया।
हर संकाय में इंटीग्रेटेड कोर्स
रजिस्ट्रार कमल अरोडा ने बताया कि सीपीयू कोटा में ग्लोबल स्तर के अनुसार मशीन लर्निंग, रोबोटिक्स, डेटा सांइस, एआई, ब्लॉक चेन, क्लीन व ग्रीन एनर्जी, योगा व नेचुरोपैथी, फॉर्मिंग, टेक्स एंड टेक्नोलॉजी, हैल्थ सिस्टम, लॉ, बीटेक, एमटेक, बीएससी, एमबीए आदि क्षेत्रों में अत्याधुनिक सिलेबस पर आधारित इंटीग्रेटेड डिग्री प्रोग्राम हैं। सीपीयू के दुनिया की 1500 यूनिवर्सिटी के साथ एमओयू है। यहां के स्टूडेंट्स के 250 से अधिक रिसर्च पेपर नेशनल जर्नल में प्रकाशित हुये है। 8 छात्रों को अपने प्रोजेक्ट पर नेशनल पेटेंट मिल चुका है।

7 देशों के 400 स्टूडेंट्स सीपीयू कोटा में


सीपीयू कोटा के नेशनल आउटरिच हेड विकास वीर बत्रा ने बताया कि यूनिवर्सिटी में इस वर्ष 7 देशों के 400 से अधिक स्टूडेंट अध्ययनरत है। नाइजिरिया के स्टूडेंट्स ने बताया कि यहां भाईचारा व अपनापन मिलता है। अफ्रीकी देशों में पारदर्शिता नहीं होने से डिग्री लेने में संशय बना रहता है लेकिन सीपीयू कोटा से लाइब्रेरी साइंस की डिग्री लेने से उन्हें वहां सरकारी जॉब मिल रहे हैं। यहां अफगान, नाइजीरिया, युगांडा, कोंगो, नेपाल आदि देशों के स्टूडेंट यहां से मास्टर्स डिग्री व पीएचडी भी कर रहे है।

(Visited 69 times, 1 visits today)

Check Also

राजस्थान को ‘मसाला हब’ बनाकर किसानों की आय बढ़ायें – ओम बिरला

लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने किया नेशनल मसाला बिजनेस मीट-2023 का उदघाटन न्यूजवेव @ जयपुर …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: