Monday, 30 March, 2020

कोरोना वायरस से डरें नहीं, बचाव करें – जिला कलक्टर

न्यूजवेव@ कोटा
कोरोना वायरस के प्रति अवेयरनेस और सतर्कता बढ़ाने के लिए जिला कलक्टर ओम कसेरा ने सभी विभागों के अधिकारियों, कोचिंग संस्थानों, होटल, हॉस्टल व अन्य संस्थाओं की बैठक ली। जिला कलक्टर ने कहा कि कोरोना वायरस के प्रति सभी विभाग,शिक्षा संस्थान व नागरिक टीम भावना के साथ जागरूकता पैदा करें तथा शिक्षा नगरी में बाहर से आने वाले नागरिकों में कोई लक्षण दिखाई देने पर चिकित्सा विभाग को तत्काल सूचित कर स्क्रिीनिंग कराने में सहयोग करें।

उन्होंने होटलों में विदेशी नागरिकों के ठहराव की सूचना मिलते ही चिकित्सा दल से जांच करवाने के निर्देश दिये। कोटा जंक्शन, डकनिया रेलवे स्टेशन, दोनों बस स्टेंड अथवा निजी बस स्टेंड पर भी भी कड़ी निगरानी की जाये। कसेरा ने शहर के सार्वजनिक स्थानों, कोचिंग व शिक्षा संस्थानों, होटल व हॉस्टलों पर जागरूकता पोस्टर लगवाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सभी शिक्षण संस्थान अपने विद्यार्थियों तथा आसपास के नागरिकों को कोरोना वायरस के लक्षणों की जानकारी दें तथा बचाव के लिए जागरूक करे।

हाथ नहीं मिलायें, हाथ जोडकर अभिवादन करें

जिला कलक्टर ने सभी होटल प्रतिनिधियों को निर्देश दिये कि प्रत्येक विदेशी नागरिक के ठहराव के समय स्वागत कक्ष में हैण्ड सेनीटाइजर अवश्य रखें। होटलकर्मी भारतीय परम्परा के अनुसार स्वागत करें हाथ नहीं मिलाये व सभी कर्मी दस्ताने पहनकर रहें। विदेश यात्रा से आने वाले पर्यटकों व विदेशी नागरिकों की जांच चिकित्सा दल से अवश्य करवाने के निर्देश दिये। विदेशी नागरिकों की यात्रा के दौरान गये स्थानों में संक्रमित देशों से आने वाले नागरिकों पर विशेष निगरानी रखी जाये।
शिक्षा नगरी में सभी कोचिंग संस्थानों में विद्यार्थियों को बचाव की जानकारी से जुडे़ पोस्टर लगाये जाये। सर्दी, जुकाम व बुखार से पीडित विद्यार्थी को स्वास्थ्य जांच कराने के लिए पाबन्द किया जाये। सभी हॉस्टलों में किसी विद्यार्थी में सामान्य लक्षण दिखाई देने पर उपचार के लिए नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र पर जांच करवायें। ऐसे विद्यार्थियों को कमरे में ही रहने की सलाह दी गई।
आइसोलेशन वार्ड बनाया
जिला प्रशासन ने मेडिकल कॉलेज अस्पताल में विशेष आइसोलेशन वार्ड बनाया है। एमबीएस अस्पताल में भी अलग वार्ड बनाकर मेडिसीन और प्रशिक्षित चिकित्सा कर्मियो की तैनाती कर दी गई है। किसी नागरिक में अथवा बाहर देशों से यात्रा कर आने वाले नागरिकों की जांच के लिए नमूने लेने व स्क्रीनिंग की व्यवस्थाएं भी कई गई हैं। चिकित्सा विभाग द्वारा नागरिकों की मदद के लिये मोबाइल नम्बर 9530390428 व 9829145729 तथा मेल आई-डी kota_idsp078/yahoo.co.in रहेंगे।

कब हो सकता है कोरोना

इस मौसम में जुकाम, खांसी, बुखार के साथ श्वास लेने में परेशानी हो तो तत्काल चिकित्सक को दिखायें। स्वाईन-फ्लू की भांति कोरोना में भी पहले जुकाम के लक्षण दिखाई देते है। बुर्जुग, बच्चों, गर्भवती महिलाओं व गम्भीर रोगों से पीड़ित रोगी विशेष सावधानी बरतें-

  • बचाव के लिए भीड़भाड़ वाले स्थानों पर जाने से बचें।
  • छींकते समय या खांसते समय मुंह पर रूमाल का इस्तेमाल करें
  • हाथ मिलाने के बजाय हाथ जोड़कर अभिवादन करना चाहिए
  • प्राथमिक लक्षण होने पर तुरन्त नजदीकी हॉस्पिटल में परामर्श लें।
  • जुकाम होने पर अथवा यात्रा के बाद साबुन से हाथ अवश्य धोयें।
  • रोज निर्धारित मात्रा में गरम पानी का सेवन करें।
  • आईसक्रीम, कोल्ड ड्रिंक व ठंडे पेय पदार्थो से दूर रहें।

ये रहे उपस्थित

बैठक में प्रशासक नगर निगम वासुदेव मालावत, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण पारस जैन, शहर दिलीप सैनी, इन्टेलीजेन्स के प्रवीण जैन, एसीओ जिला परिषद प्रतिभा देवठिया, संयुक्त निदेशक चिकित्सा डॉ. आरके लवानियां, सीएमएचओ डॉ. भूपेन्द्र सिंह तंवर, उपप्राचार्य मेडिकल कॉलेज डॉ. शिव कुमार शर्मा, अधीक्षक मेडिकल कॉलेज डॉ. चन्द्रशेखर सुशील, एमबीएस डॉ. नवीन शर्मा, जेके लोन डॉ. सुरेश दुलारा, डिप्टी सीएमएचओ डॉ. घनश्याम मीणा, रेलवे, रोड़वेज व सभी कोचिंग संस्थानों के प्रतिनिधि, हॉस्टल एसोसिएशन व होटल मैनेजर उपस्थित रहे।

(Visited 69 times, 1 visits today)

Check Also

जन्म-मृत्यु की इस लड़ाई मे हमें जीतना हैै- मोदी

‘मन की बात 2.0’ की 10वीं कड़ी में प्रधानमंत्री ने लॉक डाउन का सख्ती से …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: