Thursday, 20 June, 2024

राजस्थान के हर जिले में होगा मेडिकल कॉलेज

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 11 जिलों में आईसीयू, एनआईसीयू, पीआईसीयू यूनिट का शिलान्यास किया
न्यूजवेव @ जयपुर/कोटा
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राजस्थान के प्रत्येक जिले में एक मेडिकल कॉलेज खोलने का सपना जल्द पूरा हो जायेगा। राज्य सरकार अब तक 30 जिलों में सरकारी मेडिकल कॉलेज की स्थापना कर चुकी है। शेष तीन जिलों में सरकारी मेडिकल कॉलेज स्वीकृत कराने के लिए तेजी से प्रयास कर रहे हैं। ऐसा करने से राजस्थान स्वास्थ्य सेवाओं के क्षेत्र में पायोनियर बनकर उभरेगा। दूसरे राज्यों के रोगी भी हमारी अत्याधुनिक चिकित्सा सुविधाओं का लाभ लेने के लिये राजस्थान आ रहे हैं।


शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए गहलोत ने कोटा सहित प्रदेश के 11 जिलों के 17 चिकित्सालयों मेें आईसीयू, नवजात गहन चिकित्सा इकाई (NICU), शिशु गहन चिकित्सा इकाई (PICU) तथा मदर केयर यूनिट का शिलान्यास किया। इनसे करीब 94 करोड़ 10 लाख की लागत से सरकारी अस्पतालों में 531 बेड की बढ़ोतरी होगी। इसमें आईसीयू के 270, एनआईसीयू के 208, पीआईसीयू के 33 बैड तथा मदर केयर यूनिट के 20 बैड शामिल हैं।
उन्होंने कहा कि कोरोना से जान गंवाने वाले परिवारों को सम्बल देने के लिए मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना लागू की है। इससे अनाथ बच्चों एवं विधवा महिलाओं के जीवन की राह आसान हो सकेगी। साथ ही प्रदेशवासियों को निशुल्क इलाज के लिए मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना शुरू की है।

ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता 1000 MT 
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि दूसरी लहर से सबक लेते हुए हमारी सरकार ऑक्सीजन उत्पादन एवं शिशु चिकित्सा इकाइयों में बढ़ोतरी पर तेजी से काम कर रही है। राज्य में 1000 मीट्रिक टन ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता हासिल करने की योजना है।
उन्होंने बताया कि मार्च 2020 में प्रदेश में ऑक्सीजन बेड 5,448 थे। इनकी संख्या 13000 की जा रही है। ICU के 1,125 बेड थे, जिनकी संख्या 2,622 हो जाएगी। NICU बैड 475 से बढ़ाकर 1,554, PICU बैड 164 से 1,048 और SNCU बेड की संख्या 222 से 308 की जा रही है।
राजस्थान में रोजाना 1.50 लाख कोरोना टेस्ट
शासन सचिव चिकित्सा शिक्षा वैभव गालरिया ने बताया कि राज्य में रोजाना डेढ़ लाख कोविड टेस्ट करने की क्षमता विकसित कर ली गई है। जयपुर के एसएमएस अस्पताल में जीनोम सिक्वेंसिंग की सुविधा प्रारम्भ हो गई है। विभिन्न मेडिकल कॉलेजों और सीएचसी में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने का कार्य 15 अगस्त तक पूरा हो जायेगा। आयुक्त चिकित्सा शिक्षा शिवांगी स्वर्णकार ने आभार जताया।
इस अवसर पर विभिन्न जिलों के सांसद, विधायक, अन्य जनप्रतिनिधि, मुख्य सचिव निरंजन आर्य, प्रमुख शासन सचिव चिकित्सा अखिल अरोरा, शासन सचिव चिकित्सा सिद्धार्थ महाजन, संभागीय आयुक्त, जिला कलक्टर, मेडिकल कॉलेजों के प्राचार्य एवं अधीक्षक सहित अन्य चिकित्सा अधिकारी उपस्थित रहेे।

(Visited 602 times, 1 visits today)

Check Also

राजस्थान के हेल्थकेयर में एन्टरप्रिन्योरशिप की बडी पहल

स्टार्टअप कंपनी IIHMR  ने भगवान महावीर कैंसर अस्पताल और HCG अस्पताल के साथ किया एमओयू …

error: Content is protected !!