Monday, 22 July, 2024

राजस्थान के 8 शहरों में रात 9 बजे बाजार बंद

नई गाइडलाइन : कक्षा-8वीं तक स्कूल बंद करने पर भी विचार, कोचिंग पर रहेगी निगरानी
न्यूजवेव @ कोटा
राजस्थान में अब रात 10 बजे से नाइट कर्फ्यू लागू होगा।रात 9 बजे से बाजार बंद करने का फैसला,आठवीं तक स्कूल बंद करने की तैयारी; मुख्यमंत्री ने कोरोना पर सख्ती बढ़ाते हुए नए नियमो को मंजूरी दी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गृह विभाग की नई गाइडलाइन को मंजूरी दे दी। जयपुर सहित कोरोना प्रभावित 8 शहरों में अभी नाइट कर्फ्यू लागू है। राजस्थान में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने और सख्ती शुरू कर दी है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में बुधवार को कोरोना कोर ग्रुप की हुई बैठक में नई गाइडलाइन को मंजूरी दी गई है। गृह विभाग बुधवार को नई गाइडलाइन जारी करेगा। राजधानी जयपुर सहित कोरोना प्रभावित आठ शहरों में 11 की जगह अब रात 10 बजे से नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया गया है। प्रदेश में सभी शहरों में रात 9 बजे से ही बाजार बंद होंगे। पहले यह समय 10 बजे का था।

कोचिंग संस्थान, स्वीमिंग पूल पर भी सख्ती
बैठक में आठवीं तक के स्कूलों को बंद करने पर भी विचार किया गया है। कोचिंग संस्थान, स्वीमिंग पूल को लेकर भी सख्ती बढ़ाने का फैसला किया है। गृह विभाग की गाइडलाइन में कोचिंग बंद करने या विद्यार्थी संख्या को लेकर सख्त पाबंदियां लगाई जा सकती हैं। स्वीमिंग पूल को लेकर भी नई पाबंदियां लगना तय हैं। इससे पहले 21 मार्च को गृह विभाग ने काेरोना गाइडलाइन जारी कर पांबदियां लगाई थीं, जिनमें आठ शहरों में रात 11 बजे से नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया था।
22 मार्च से राजधानी जयपुर, अजमेर, भीलवाड़ा, जोधपुर, कोटा, उदयपुर, सागवाड़ा और कुशलगढ़ में नाइट कर्फ्यू है। रात 10 बजे से बाजार बंद करने की पाबंदी भी इसी दिन लगाई थी। अब कोरोना मामले बढ़ने के बाद फिर से नई गाइडलाइन जारी हो रही है। 21 मार्च को जब पाबंदियां लगाई थीं, उस दिन 476 कोरोना केस थे, अब केस दोगुना हो चुके हैं और लगातार बढ़ रहे हैं।
बिना मास्क वाले को सामान दिया तो दुकान सीज
बाजारों सहित हर जगह नो मास्क नो एंट्री की सख्ती से पालन करवाने के निर्देश दिए गए हैं। कोई भी दुकानदार अगर बिना मास्क रहता है या बिना मास्क वाले को सामान देगा तो उसके खिलाफ जुर्माना लगाने के साथ उसकी दुकान सीज की जा सकती है। गृह विभाग की नई गाइडलाइन में इसका भी प्रावधान होगा।
जिलेवार बनायें एक्शन प्लान 
मुख्यमंत्री ने बैठक में कोविड कंट्रोल को लेकर जिलेवार एक्शन प्लान बनाने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर्स को कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग व माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाने पर फोकस करने को कहा गया है। कोरोना समीक्षा बैठक के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोशल मीडिया पर लिखा— नो मास्क नो एंट्री की सख्ती से पालना सुनिश्चित की जाए। लोगों का जीवन बचाना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है।आज की स्थिति में बढ़ते हुए कोरोना संक्रमण को देखते हुए हम किसी भी कीमत पर समझौता नहीं करेंगे और समय पर जरूरी फैसले लिए जाएंगे टीकाकरण की गति को और बढ़ाया जाए।

(Visited 449 times, 1 visits today)

Check Also

कोटा के मैत्री हॉस्पिटल में मिलेगा हृदय रोग का अत्याधुनिक उपचार

नये कार्डियोलॉजी विभाग का शुभारंभ, वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. शुभम जोशी द्वारा नियमित परामर्श …

error: Content is protected !!