Tuesday, 23 July, 2024

NTA-अभ्यास एप के प्रश्नों पर केंद्रित रहे JEE-Main के पेपर

ऐसे परीक्षार्थी जिन्होंने अभ्यास एप पर प्रेक्टिस टेस्ट दिये, उनको अच्छे स्कोर की उम्मीद

न्यूजवेव @ कोटा

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा 1 से 6 सितंबर तक सीबीटी मोड में हो रही जेईई-मेन परीक्षा के पेपर ‘एनटीए-अभ्यास एप’ के प्रश्नपत्रों पर आधारित रहे। इससे रोजाना अभ्यास एप पर प्रेक्टिस करने वाले विद्यार्थियों का आत्मविश्वास उंचा रहा। एक्सपर्ट देव शर्मा ने बताया कि परीक्षार्थी विनय, दीपशिखा बेहरा, प्रिया व मनीष आदि ने बताया कि उन्हें महसूस ही नहीं हुआ कि वे जेईई-मेन परीक्षा का पेपर दे रहे हैं। कोरोना के दौरान पिछले कुछ दिनों से हजारों विद्यार्थी एनटीए वेबसाइट पर अम्यास एप पर जेईई-मेन के प्रेक्टिस टेस्ट दे रहे थे, जिससे तैयारी बहुत अच्छे ढंग से हो गई।


उक्त मोबाइल-एप पर अभ्यास के लिये रोजाना फुल-सिलेबस टेस्ट बिल्कुल निशुल्क उपलब्ध हैं। ऐसे विद्यार्थी जिन्हें अगले तीन दिनों में जेईई-मेन पेपर देना है, वे इसकी प्रेक्टिस अवश्य करते रहें। टीचर्स ने बताया कि एनटीए-अभ्यास मोबाइल-एप पर अपलोड प्रश्न पत्रों में फिजिक्स, केमिस्ट्री एवं मैथमेटिक्स के जिन टॉपिक्स को महत्वपूर्ण मानकर लगातार प्रश्न दिए गए थे उन सभी टॉपिक्स से जुडे़ प्रश्न ही जेईई-मेन में पूछे गये हैं। जेईई-मेन में कुल 300 अंकों के 75 प्रश्न पूछे गए। फिजिक्स, केमिस्ट्री तथा मैथमेटिक्स प्रत्येक से 25 प्रश्न थे। प्रत्येक विषय में 20 प्रश्न वस्तुनिष्ठ तथा 5 प्रश्न आंकिक थे। वस्तुनिष्ठ प्रश्नों में नेगेटिव मार्किंग -1 रही।
कौन से टॉपिक पर रहा फोकस 
फिजिक्स कक्षा-11वीं एवं 12वीं के सिलेबस से 
’यंग डबल स्लिट एक्सपेरिमेंट, एटॉमिक-स्ट्रक्चर, फोटोइलेक्ट्रिक-इफेक्ट, हीट-इंजन, यूनिट्स एंड डाइमेंशंस तथा एक्सपेरिमेंटल-फिजिक्स से प्रश्न पूछे गए हैं। उपरोक्त टॉपिक्स से एनटीए अभ्यास एप के प्रश्न-पत्रों में भी लगातार प्रश्न पूछे गए थे। प्रथम पारी में एक्सपेरिमेंटल फिजिक्स से वर्नियर कैलिपर्स पर तो द्वितीय पारी में एक्सपेरिमेंटल फिजिक्स के टॉपिक पोटेंशियोमीटर से प्रश्न पूछा गया। प्रश्न कक्षा-ं11वीं एवं 12वीं के सिलेबस से समान रूप से पूछे गये।
केमिस्ट्री में ये प्रश्न नहीं पूछे गये
इस अटेम्प्ट में सरफेस-केमिस्ट्री, केमेस्ट्री इन एवरीडे लाइफ, बायो मोलीक्यूलिस तथा पॉलीमर्स जैसे टॉपिक्स से कोई प्रश्न नहीं पूछे गये। जबकि पिछले वर्षों में इन टॉपिक्स से लगातार प्रश्न पूछे जा रहे थे। याद दिला दें कि सीबीएसई द्वारा वर्ष-2021 हेतु केमेस्ट्री इन एवरीडे लाइफ तथा पॉलीमर्स चौप्टर्स को केमिस्ट्री के सिलेबस से हटा दिया गया है। फिजिकल केमिस्ट्री के सॉल्यूशंस, इलेक्ट्रो-केमिस्ट्री तथा केमिकल-काइनेटिक्स से प्रश्न पूछे गए। इन-ऑर्गेनिक केमिस्ट्री में कोआर्डिनेशन कंपाउंड तथा मेटलरजी से प्रश्न पूछे गए। ऑर्गेनिक केमिस्ट्री से एल्कोहल,फेनॉल तथा इथर की टेस्टिंग से संबंधित प्रश्न पूछे गए। कुल मिलाकर प्रश्न पत्र फिजिकल इन-ऑर्गेनिक एवं ऑर्गेनिक केमिस्ट्री के मध्य संतुलित रहा।
मैथमेटिक्स समान रूप से संतुलित
मैथ्स के पेपर में पीएंडसी तथा प्रोबेबिलिटी से पूछे प्रश्न कुछ कठिन रहे। ईलिप्स एवं हाइपरबोला से पूछे गए प्रश्न साधारण रहे। वेक्टर एवं 3-डी से पूछे गए प्रश्न स्तरीय थे। परीक्षार्थियों ने बताया कि पेपर अलजेब्रा, कैलकुलस तथा कोऑर्डिनेट-ज्योमेट्री में समान रूप से संतुलित था।

(Visited 342 times, 1 visits today)

Check Also

कोटा में प्रत्येक कोचिंग विद्यार्थी की यूनिक आईडी बनेगी

कोचिंग विद्यार्थियों को अन्य कोर्सेस की जानकारी भी दें, फीस वापसी की सरल पॉलिसी बनायें, …

error: Content is protected !!