Saturday, 4 December, 2021

जेईई-एडवांस्ड में मैथ्स ने बढ़ाई मुश्किलें

जेईई एडवांस्ड में पहली बार न्यूमेरिकल टाइप प्रश्न पैरेग्राफ में पूछे गए
न्यूजवेव @ कोटा 

आईआईटी खडगपुर द्वारा रविवार को दो पारियों में आयोजित जेईई-एडवांस्ड,2021 के पेपर में पेरेग्राफ में न्यूमेरिकल टाइप प्रश्न पूछे गये। गणित का पेपर लम्बा होने एवं भाषा कठिन होने से परीक्षार्थियों को सवाल हल करने में अधिक समय लगा। फिजिक्स, केमिस्ट्री एवं मैथ्स के पेपर में कक्षा-11वीं एवं 12वीं के NCERT सिलेबस पर आधारित न्यूमेरिकल प्रश्न पेरेग्राफ में पूछे गये। कुल मिलाकर, पेपर पैटर्न आईआईटी के स्तर के अनुरूप एवं संतुलित रहा।


इस वर्ष देश के 229 शहरों में 1100 से अधिक परीक्षा केेंद्रों पर 1.61 लाख परीक्षार्थियों ने सीबीटी मोड में परीक्षा दी, जबकि जेईई-मेन,2021 से कुल 2.50 लाख विद्यार्थियों को जेईई-एडवांस्ड के लिये पात्र घोषित किया गया था। विशेषज्ञों का कहना है कि लगातार दूसरे वर्ष लगभग 1 लाख मेधावी विद्यार्थियों ने जेईई-मेन में अच्छा स्कोर अर्जित करने के बावजूद आईआईटी में प्रवेश लेने में रूचि नहीं दिखाई, जो विचारणीय बिंदु है।
कम्प्यूटर बेस्ड पेपर के बाद परीक्षार्थियों से मिले फीडबेक के आधार पर विषय विशेषज्ञों ने पेपर विश्लेषण किया। एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के निदेशक बृजेश माहेश्वरी के अनुसार, जेईई एडवांस्ड 2021 का पेपर गत वर्ष से आसान रहा। फिजिक्स व केमिस्ट्री का पेपर ओवरऑल आसान था जबकि मैथ्स का पेपर ज्यादा लेन्दी और प्रश्नों की भाषा काफी उलझाने वाली रही।
पेपर में प्रत्येक न्यूमेरिकल प्रश्न 2 अंक का था। नेगेटिव मार्किंग नहीं थी। जबकि इंटीजर प्रश्नों को नॉन नेगेटिव इंटीजर प्रश्नों के रूप में पूछा गया। जोकि प्रत्येक 4 अंक का था। शेष प्रश्न सिंगल करेक्ट, मल्टीपल करेक्ट व पैरेग्राफ पैटर्न पर आधारित रहे। पेपर 1 और पेपर 2 में कुल 57-57 प्रश्न यानी फिजिक्स, मैथ्स और कैमिस्ट्री में 19-19 प्रश्न आए। पेपर 1 और पेपर 2 कुल 360 अंकों का था। प्रत्येक विषय को चार अलग-अलग भागों, ए, बी, सी, डी में विभाजित किया गया था।
जीत की केमिस्ट्री आसान


केमिस्ट्री के पेपर में अधिकांश प्रश्न एनसीईआरटी बेस्ड रहे। 11वीं और 12वीं दोनों कक्षाओं के सिलेबस से समान संख्या में प्रश्न पूछे गए। फिजीकल कैमिस्ट्री में कैलकुलेशन ज्यादा रही। फिजीकल कैमिस्ट्री के पेपर 2 में सीधे फार्मूला आधारित प्रश्न पूछे गए थे। ऑर्गेनिक कैमिस्ट्री पिछले वर्ष जैसी रही लेकिन इसमें कैलकुलेशन बेस्ड प्रश्न भी रहे। जबकि इनऑर्गेनिक कैमिस्ट्री में मेटलर्जी, सॉल्ट एनालिसिस व कॉर्डिनेशन कैमिस्ट्री का वेटेज ज्यादा रहा।
फिजिक्स का पेपर आसान था और आईआईटी के स्तर का रहा। प्रश्नों का समायोजन काफी अच्छा था। 11वीं और 12वीं दोनों कक्षाओं के सिलेबस के लगभग सभी टॉपिक को कवर किया गया। मैथ्स का पेपर सबसे ज्यादा कठिन रहा। पेपर 2 में कैलकुलस एंड कॉर्डिनेट ज्योमेट्री टॉपिक से पूछे जाने वाले प्रश्नों की संख्या ज्यादा रही। प्रश्नों की भाषा भी उलझाने वाली रही।

(Visited 65 times, 2 visits today)

Check Also

जेईई-एडवांस्ड,2021 में जयपुर के मृदुल बने ऑल इंडिया टॉपर

रिजल्टः  कुल 1,41,688 लाख परीक्षार्थियों में से 41,862 हुये चयनित, रिजल्ट 29.54 प्रतिशत रहा न्यूजवेव …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: