Saturday, 13 April, 2024

सुुप्रीम कोर्ट ने नीट में 196 अनुग्रह अंक देने पर लगाई रोक

– 10 जुलाई को मद्रास हाईकोर्ट ने नीट पेपर में त्रुटि पर 196 ग्रेस मार्क्स देने का निर्णय दिया
– 12 जुलाई को एमसीसी ने अगले आदेश तक नीट काउंसलिंग रोक दी थी

न्यूजवेव @ कोटा

नीट-यूजी, 2018 में क्वालिफाई 7.14 लाख परीक्षार्थियों के लिए राहतभरी खबर। नीट के मामले में मद्रास हाईकोर्ट के फैसले पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी है। 10 जुलाई को मद्रास हाईकोर्ट ने तमिल भाषा में नीट पेपर देने वाले विद्यार्थियों को 196 अनुग्रह अंक देने का आदेश दिया था। साथ ही नीट काउंसलिंग रोककर सीबीएसई को संशोधित रैंक सूची प्रकाशित करने के निर्देश दिए थे। इस पर सीबीएसई ने सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर की। अब सीबीएसई की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करेगा।
सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एसए बोब्डे और जस्टिस एल नागेश्वर राव ने मद्रास हाईकोर्ट के फैसले पर सीबीएसई की याचिका की सुनवाई करते हुए सभी पक्षों को नोटिस जारी किया है। इस मामले में अगली सुनवाई दो हफ्ते बाद होगी। सुप्रीम कोर्ट ने दोनों पक्षों को इस स्थिति का हल लेकर आने के लिए कहा है। कोर्ट ने कहा कि हम इस तरह से मार्क्स नहीं बांट सकते। सुप्रीम कोर्ट का मानना है कि इस फैसले के बाद तमिल छात्र अन्य छात्रों से काफी अच्छी स्थिति में पहुंच जाएंगे।
गौरतलब है कि नीट पर मद्रास हाईकोर्ट के इस फैसले के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने नीट-यूजी की 15 प्रतिशत ऑल इंडिया सीटों की काउंसलिंग पर रोक लगा रखी है। जिससे हजारों विद्यार्थियों के दाखिले की प्रक्रिया अटकी हुई है। सुप्रीम कोर्ट से अगलेे आदेश के बाद ही काउंसिलिंग फिर से शुरू हो सकेगी।
कॅरिअर पॉइंट के सीनियर वाइस प्रेसीडेंट देव शर्मा ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट का निर्णय छात्रहित में है। इससे दूसरे राउंड की काउंसलिंग जल्द प्रारंभ होने की उम्मीद है। विद्यार्थियों एवं अभिभावकों से आग्रह है कि मेडिकल काउंसलिंग कमेटी (एमसीसी) की अधिकृत वेबसाइट पर निरंतर अपडेट रहें।

49 प्रश्नों में भाषा अनुवाद की त्रुटि
मद्रास हाईकोर्ट नेे 10 जुलाई सीबीएसई को आदेश दिए थे कि नीट-यूजी में तमिल भाषा में पेपर देने वाले 24,720 परीक्षार्थियों को पेपर में भाषा अनुवाद की त्रुटि पाए जाने से 196 बोनस अंक दिए जाएं। पेपर में 49 प्रश्नों में त्रुटि थी। प्रत्येक प्रश्न 4 अंक का है। इसलिए परीक्षार्थियों को बोनस अंक देकर संशोधित मेरिट सूची जारी की जाए।
गौरतलब है कि इस वर्ष 6 मई को 13.26 लाख विद्यार्थियों ने नीट-यूजी परीक्षा दी थी। 6 जून को घोषित रिजल्ट में 7,14,562 परीक्षार्थी क्वालिफाई घोषित किए गए थे।

(Visited 228 times, 1 visits today)

Check Also

नारायणा ई-टेक्नो स्कूल में किया 30 यूनिट रक्तदान

थैलेसिमिया बच्चों के लिये स्कूल शिक्षकों ने पहली बार दिया रक्त न्यूजवेव@कोटा श्रीनाथपुरम-ए स्थित नारायणा …

error: Content is protected !!