Monday, 22 April, 2024

श्रीवल्लभम् कथक समारोह में जीवंत हुई श्रीकृष्ण की बाल लीलाएं

लोकसभा अध्यक्ष ने कहा, नई पीढ़ी को संस्कारवान बनाते हैं ऐसे धार्मिक आयोजन

न्यूूजवेव @ कोटा
मुखिया मदनलाल जोशी स्मृति संस्थान कोटा द्वारा सीपी टावर के कॅरिअर पाइंट ऑडिटोरियम में कथक-नाट्यों पर आधारित श्रीवल्लभम् कथक समारोह आयेाजित हुआ जिसमें कलाकारों ने श्रीकृष्ण की बाल लीलाओं का मनोहारी जीवंत प्रदर्शन किया।


समारोह में लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि शहर में इस संस्थान ने भारतीय परम्पराओं और पुरातत्व संस्कृति को जीवित रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। कोटा की राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त कथक नृत्यांगना बरखा जोशी के भावपूर्ण नृत्यों को राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर सम्मान मिलना चाहिये। ऐसे धार्मिक आयोजन से युवा पीढी़ में संस्कारों का प्रवाह बढेगा।

आयोजन समिति अध्यक्ष दामोदर शाण्डिल्य ने बताया कि समारोह की अध्यक्षता श्री बडे महाप्रभूजी मन्दिर के आचार्य गोस्वामी शरदबाबा ने की तथा आचार्य विनय बाबा ने पुष्टीमार्गीय पूजा पद्धति का महत्व बताते हुए आशीर्वचन दिये। उन्होंने बताया कि समारोह में कथक नृत्य की विभिन्न विधाओं के माध्यम से सरगम, तराना नृत्य, राधा-कृष्ण, नृत्य, रासलीला की प्रस्तुतियों के साथ-साथ नन्दोत्सव मनाया गया।

भाव-भंगिमाओं से जीवंत कला प्रदर्शन 

उन्होंने बताया कि नृत्यांगना बरखा जोशी के नृत्य निर्देशन में कथक नृत्यो मे तोडे़, टुकडे, परत आदि विभिन्न भाव-भंगिमाओं के माध्यम से दी गई विभिन्न प्रस्तुतियों मे कौेशल्या जैन, विधि चितौडा, तनुष्का जोशी, सीमा नंन्दवाना, वेन्या शर्मा, आदित्री माली, जानवी, आशिमा कुमावत, शिवांगी आदि बाल कलाकारों ने कला  प्रदर्शन कर समा बांध दिया। मथुरा जिले के गोकुल से आये कलाकार गोकुलेन्द्र भट्ट ने हवेली संगीत प्रस्तुत किया। समारोह में विशिष्ट अतिथि कॅरिअर पॉइंट निदेशक ओम माहेश्वरी तथा एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट के निदेशक गोविन्द माहेश्वरी व डीएससीएल कोटा के उपाध्यक्ष योगेश अग्रवाल मौजूद रहे। संचालन मधु जोशी तथा आरएएस लीना चावला ने किया। आयोजन समिति सयोजक रमेश जोशी ने सबका आभार जताया।

(Visited 343 times, 1 visits today)

Check Also

राजस्थानी मसाले औषधि गुणों से भरपूर, एक्सपोर्ट बढाने का अवसर – नागर

RAS रीजनल बिजनेस मीट-2024 : मसाला उद्योग से जुड़े कारोबारियो ने किया मंथन, सरकार को …

error: Content is protected !!