Tuesday, 22 June, 2021

प्रदेश के इंजीनियरिंग कॉलेजों में 1 दिसंबर से लगेंगी कक्षायें

तकनीकी शिक्षा मंत्री सुभाष गर्ग ने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में कहा, कोरोना से बचाव के लिये मास्क 90 प्रतिशत तक प्रभावी
न्यूजवेव @ जयपुर
तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री डॉ.सुभाष गर्ग ने कहा कि एआईसीटीई की गाइडलाइन के अनुसार राज्य के सभी इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रथम वर्ष की कक्षाएं एक दिसम्बर से शुरू कर दी जायेंगी। उन्होंने गुरूवार को राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज, झालवाड़ द्वारा आयोजित एक वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में कहा कि आरटीयू, कोटा तथा बीटीयू, बीकानेर में सभी कोर्सेस के सिलेबस को 30 प्रतिशत तक कम किया जाएगा। दोनो यूनिवर्सिटी यह निर्धारित करे कि सप्ताह में तीन दिन ऑनलाइन तथा तीन दिन ऑफलाइन क्लास ली जा सके।
डॉ. गर्ग ने कहा कि कोरोना महामारी से बचाव के लिए मास्क 90 प्रतिशत तक प्रभावी है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान में कोरोना के विरूद्ध ‘नो मास्क-नो एंट्री’ जनांदोलन की उपयोगी शुरूआत की है। इसके अनुकूल परिणाम सामने आ रहे हैं। कॉलेज स्टूडेंट्स में भी इससे जागरूकता आई है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने वैक्सीन को 50-60 प्रतिशत तक असरकारी बताया जबकि मास्क को 90 प्रतिशत तक असरकारी बताया है। उन्होंने कहा कि प्राइवेट कॉलेज मास्क बनवाकर अपने क्षेत्र के गरीबों और थड़ी-ठेले वालों एवं आमजन में वितरित करें। कॉलेज जागरूकता पोस्टर से मास्क लगाने का प्रचार-प्रसार करें।
इंजीनियरिंग कॉलेजों में ऑनलाइन कार्य हों
डॉ. गर्ग ने कहा कि कॉलेजों में विद्यार्थियों के डॉक्यूमेन्ट वेरिफिकेशन सहित सारे काम ऑनलाइन होने चाहिए। कॉलेजों को मान्यता देने का कार्य भी ऑनलाइन किया जाये। इसमें फिजिकल वेरिफिकेशन की जरूरत नहीं। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों के प्लेसमेंट में वृद्धि के लिये मैं संवाद करना चाहता हूं। इंजीनियरिंग कॉलेज स्टार्टअप द्वारा नये उपकरण बनाएं।
प्रारंभ में तकनीकी शिक्षा की शासन सचिव शुचि शर्मा ने कहा कि राज्य में कोरोना के विरूद्ध जनांदोलन अभियान में दोनो तकनीकी विश्वविद्यालय सहित सभी इंजीनियरिंग व पॉलिटेक्नीक कॉलेजों में सरकारी गाइडलाइन की पालना के साथ जागरूकता पैदा की जाये।
तन की सुरक्षा व मन की मजबूती आवश्यक


आरटीयू कोटा के कुलपति प्रोफेसर आर.ए.गुप्ता ने कहा कि यूनिवर्सिटी ने कोरोना की रोकथाम के लिए कई कदम उठाये हैं। उन्होंने कहा कि हमने 30 प्रतिशत कोर्स को कम किया है। बीटीयू, बीकानेर के कुलपति प्रोफेसर एच.डी.चारण ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए तन की सुरक्षा और मन की मजबूती दोनो आवश्यक है। एसकेआईटी जयपुर के निदेशक सुरजाराम मील ने कहा कि हम सुरक्षित ढंग से कॉलेज के कार्य कर रहे हैं। आर्य इंजीनियरिंग कॉलेज जयपुर के निदेशक अरविन्द अग्रवाल ने कहा कि हम एसएमएस अर्थात सोशल डिस्टेसिंग, मास्क और सेनिटाइजेशन की पालना कर कोरोना की रोकथाम कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि हम एसएमएस का पालन करेंगे और बच्चों का भविष्य खराब नहीं होने देंगे।
अन्त में तकनीकी शिक्षा विभाग के संयुक्त शासन सचिव प्रथम अनिल कुमार अग्रवाल ने सबका आभार जताया। इस अवसर पर तकनीकी शिक्षा विभाग के संयुक्त शासन सचिव द्वितीय मनीष गुप्ता सहित कई अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे। कोरोना के विरूद्ध जनांदोलन को सफल बनाने के लिए उक्त वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में एनएसएस व एनसीसी छात्रों को भी जोड़ा गया।

(Visited 177 times, 1 visits today)

Check Also

ई-कॅरिअर पॉइंट द्वारा 10 जून से गवर्नमेंट जॉब एग्जाम की नि:शुल्क ई-कोचिंग

न्यूजवेव @ कोटा एजुकेशन सिटी में प्रमुख कोचिंग संस्थानों ने कोरोना महामारी के दौरान प्रत्येक …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: