Saturday, 13 April, 2024

जेईई मेन के अप्रैल अटेम्प्ट से बदल गए 13 राज्यों के स्टेट टॉपर

जेईई मेन परीक्षा वर्ष में दो बार आयोजित करने से विद्यार्थियोँ ने सुधारा अपना स्कोर

न्यूजवेव@कोटा
नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) द्वारा जेईई-मेन प्रवेश परीक्षा इस वर्ष जनवरी एवं अप्रैल में दो बार आयोजित की गई। नॉर्मलाइजेशन द्वारा स्कोर की गणना दशमलव के 7 अंको तक की गई। तत्पश्चात जनवरी एवं अप्रैल अटेम्प्ट के बेहतर नॉर्मलाइज्ड स्कोर के आधार पर रिजल्ट घोषित किया गया।
एक्सपर्ट देव शर्मा के अनुसार, जनवरी-2019 अटेम्प्ट के परिणाम के आधार पर देश के विभिन्न राज्यों के स्टेट टॉपर्स घोषित किए गए थे। किंतु अप्रैल अटेम्प्ट के पश्चात जब नॉर्मलाईजेशन के आधार पर फाइनल रिजल्ट जारी किया तो चौंकाने वाले तथ्य सामने आए।
तथ्य बताते हैं कि विद्यार्थियों की 2 माह की मेहनत से रिजल्ट में कितना अंतर हो सकता है। यह उलटफेर अगले वर्ष नए परीक्षार्थियों का उत्साह बढ़ाएगा।

जनवरी अटेम्प्ट के आधार पर शुभांकर गंभीर एवं संबित बेहरा संयुक्त राजस्थान स्टेट टॉपर थे। किंतु अप्रैल अटेम्प्ट के पश्चात अंतिम परिणाम की बात की जाए तो राजस्थान स्टेट टॉपर होने का गौरव निशांत अभांगी को जाता है। पड़ोसी राज्य हरियाणा में जनवरी में आशुतोष सिंगला स्टेट टॉपर थे किंतु अप्रैल अटेम्प्ट के पश्चात अंतिम परिणाम के आधार पर हरियाणा राज्य के स्टेट टॉपर द्रव्य मारवाह बने।
कुल मिलाकर बात की जाए तो अप्रैल अटेम्प्ट के पश्चात 13 राज्यों के तथा 2 केंद्र शासित प्रदेशों के स्टेट टॉपर्स बदल गए।
केंद्र शासित प्रदेशों में लक्ष्यदीप हेतु जनवरी अटेम्प्ट के आधार पर अब्दुल जावेद द्वारा टॉप किया गया था। लेकिन अंतिम रिजल्ट के आधार पर गौरव टॉम को लक्ष्यदीप टॉपर घोषित किया गया।
दादरा एवं नगर हवेली से जनवरी के आधार पर विश्वजीत देशमुख टॉपर थे। किंतु अंतिम परिणाम के आधार पर अथर्व शारावागी को स्टेट टॉपर घोषित किया गया।

*हरियाणा,दिल्ली एवं झारखंड से 100 परसेंटाइल स्कोर के 4 नए विद्यार्थी*

जनवरी 2019 अटेम्प्ट के आधार पर एनटीए ने 100 परसेंटाइल वाले कुल 15 विद्यार्थियों की सूची जारी की थी। चौंकाने वाली बात यह थी कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से कोई विद्यार्थी इस सूची में शामिल नहीं था। अर्थात दिल्ली से कोई विद्यार्थी 100 परसेंटाइल प्राप्त नहीं कर सका था। यही हाल पड़ोसी राज्य हरियाणा का भी था।
अप्रैल अटेम्प्ट के पश्चात जब अंतिम परिणाम जारी किए गए तो 100 परसेंटाइल प्राप्त करने वालों की यह सूची थोड़ी लंबी हो गई।
हरियाणा से 2 विद्यार्थी, दिल्ली से 1 विद्यार्थी, तथा झारखंड से 1 विद्यार्थी ने इस प्रतिष्ठित सूची में स्थान बनाया। मध्य प्रदेश से जनवरी की सूची में एक विद्यार्थी शामिल था किंतु अप्रैल के बाद यह संख्या बढ़कर 3 हो गई। राजस्थान से जनवरी की सूची में 2 विद्यार्थी शामिल थे किंतु अप्रैल अटेम्प्ट के पश्चात यह संख्या 4 हो गई। इसी प्रकार आंध्र प्रदेश से यह संख्या 1 से बढ़ कर 2 हो गई।

100 परसेंटाइल स्कोर में सर्वाधिक 8 विद्यार्थी राजस्थान एवं तेलंगाना से

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा अंतिम तौर 100 परसेंटाइल प्राप्त करने वाले 24 विद्यार्थियों की सूची जारी की गई है।राजस्थान एवं तेलंगाना के 4-4 विद्यार्थियों ने 100 परसेंटाइल प्राप्त किया है। राजस्थान से निशांत आभांगी, शुभांकर गंभीर, संबित बेहरा तथा समीक्षा दास ने 100 परसेंटाइल प्राप्त किया। समीक्षा दास मेरिट सूची में दूसरी छात्रा है।
इस सूची में दूसरे स्थान पर महाराष्ट्र एवं मध्य प्रदेश संयुक्त रूप से है। महाराष्ट्र एवम् मध्य प्रदेश के तीन-तीन विद्यार्थियों में इस सूची में स्थान बनाया है। उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश तथा हरियाणा प्रत्येक से दो विद्यार्थी। पंजाब कर्नाटक दिल्ली एवं झारखंड प्रत्येक से एक- एक विद्यार्थी सूची में शामिल है। राज्य को शीर्ष रैंक दिलाने का गौरव कोटा के पर कोचिंग संस्थानों को जाता है।

(Visited 158 times, 1 visits today)

Check Also

नारायणा ई-टेक्नो स्कूल में किया 30 यूनिट रक्तदान

थैलेसिमिया बच्चों के लिये स्कूल शिक्षकों ने पहली बार दिया रक्त न्यूजवेव@कोटा श्रीनाथपुरम-ए स्थित नारायणा …

error: Content is protected !!