Monday, 22 April, 2024

कोटा में दो सुपर स्पेशलिटी हाॅस्पिटल से बढे़गा मेडिकल टूरिज्म

  • सीएम राजे व संघ के सर कार्यवाह सुरेश जोशी (भैयाजी) ने किया भारत विकास आयुर्विज्ञान संस्थान एवं केंसर चिकित्सालय का भूमिपूजन
  • एलन ने सर्वाधिक 10 करोड़ 8 लाख की मदद की
  •  राज्य में 5 मेडिकल काॅलेजों को एमसीआई से मिली मंजूरी

न्यूजवेव @ कोटा

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि कोटा में अब दो सुपर स्पेशलिटी हाॅस्पिटल होंगे, जहां नागरिकों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाए मिलने लगेेंगी, इससे हाडौती में मेडिकल टूरिज्म बढेगा।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने कोटा में अब तक 10 हजार करोड़ के विकास कार्य करवाए, कार्यकाल पूरा होने तक 12 हजार करोड़ के कार्य पूरे होंगे।

Bhumi Pujan

शुक्रवार को कोटा में भारत विकास आयुर्विज्ञान संस्थान एवं कैंसर हॉस्पिटल के भूमि पूजन समारोह में झालरिया पीठ डीडवाना के पीठाधीश्वर स्वामी पूज्य घनश्यामाचार्य महाराज के सान्निध्य में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सर कार्यवाह सुरेश जोशी (भैयाजी) एवं सीएम राजे ने 400 करोड़ की लागत से बनने वाले आयुर्विज्ञान संस्थान एवं कैंसर हॉस्पिटल की नींव रखी। यह हाॅस्पिटल भारत विकास परिषद संस्थान द्वारा कोटा यूनिवर्सिटी के पीछे बारां-चित्तौड़ हाइवे पर बनाया जाएगा।

सपने बड़े देखें, उन्हें साकार करे
सीएम ने कहा कि कैंसर पीड़ितों को इलाज के लिए कोटा से बाहर जाना पड़ता था, जिससे गरीब को आने-जाने, रहने, खाने में बहुत खर्चा उठाना पड़ता था। कोटा में कैंसर अस्पताल खुल जाने से गरीब मरीजों को भामाशाह योजना से निःशुल्क उपचार की सुविधा मिलेगी। राज्य में गरीब मरीजों को भामाशाह योजना के तहत महंगे अस्पतालों में इलाज मिल रहा है।

उन्होंने कहा के सपने हमेशा बड़े देखें और उनको पूरा करने के लिए लगन से कार्य करे। कोटा शहर में शिक्षा के साथ मेडिकल सुविधाओं का विस्तार होने से इसे देश मे नई पहचान मिलेगी। दो सुपर स्पेशलिटी हाॅस्पिटल बनने से युवाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे।

राज्य में 5 नए मेडिकल काॅलेज खुलेंगे
मुख्यमंत्री ने कहा कि एमसीआई ने राज्य में डूंगरपुर, भीलवाड़ा, भरतपुर, पाली, चुरू के 5 मेडिकल कॉलेजों को अनुमति दे दी है। कोटा-दरा रोड वर्ष के अंत तक ठीक हो जाएगा।

पीठाधीश्वर स्वामी श्री घनश्यामाचार्य महाराज ने कहा कि मनुष्य वही है जो मनुष्य के काम आए। अपनी शक्ति से किसी को सताना पाप है और अपने सामथ्र्य से बढ़कर किसी को सहयोग करना परोपकार है।

सर कार्यवाह सुरेश जोशी भैयाजी ने कहा कि बीज लगा है, अब यह पौधा और पेड़ बनेगा। समाज की सेवा व आवश्यकता को समझकर काम किया जा रहा है। भारत विकास परिषद की भावना रही है कि हम जो भी दे रहे हैं वो कम है। देश में ऐसी संस्थाएं शासन के साथ मिलकर काम कर रही हैं। भारत विकास आयुर्विज्ञान संस्थान के अध्यक्ष श्याम शर्मा ने प्रोजेक्ट की जानकारी दी।

भामाशाहों को मिला सम्मान


भामाशाहों को मंच पर सम्मानित किया गया। भामाशाहों में 10 करोड़ 8 लाख की सहायता देने पर एलन परिवार से मातुश्री श्रीमती कृष्णादेवी माहेश्वरी, गोविन्द माहेश्वरी, राजेश माहेश्वरी, नवीन माहेश्वरी व बृजेश माहेश्वरी, दिनेश नन्दवाना 1.25 करोड़, हरवंशलाल सेठी को 51 लाख, मोहम्मद मियां को 31 लाख का सहयोग देने पर सम्मान किया।

साथ ही, महेश आशा जैन एवं कैलाशचंद माणकचंद सर्राफ को 11-11 लाख, राधेश्याम गुप्ता व निशा खंडेलवाल ने 5-5 लाख, दिग्विजय शुक्ला, राजेन्द्र शर्मा, मुकुट नागर को ढाई-ढाई लाख रू की मदद करने पर भामाशाह सम्मान प्रदान किया गया। भाविप के राष्ट्रीय समन्वयक सीताराम पारीक ने देशभर में चल रही गतिविधियों की जानकारी दी।

अध्यक्ष अरविन्द गोयल ने बताया कि भाविप सेवा संस्थान द्वारा विगत 21 सालों से कोटा के प्रताप नगर में शून्य से प्रारंभ होकर वर्तमान में 350 बैड का चिकित्सालय संचालित किया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट से कोटा में मेडिकल कॉलेज, दंत कॉलेज, फिजियोथैरेपी व आयुर्वेद कॉलेज खुलेंगे।

तीन चरणों में बनेगा 400 करोड़ का हाॅस्पिटल
संघ के सर कार्यवाह सुरेश भैयाजी ने बताया कि भारत विकास आयुर्विज्ञान व कैंसर हाॅस्पिटल का निर्माण तीन चरणों में होगा, जिस पर करीब 400 करोड़ रुपए लागत आएगी। 140 करोड़ की लागत से चिकित्सा उपकरण लगाए जाएंगे। संस्थान का निर्माण 7 लाख वर्गफुट में होगा। प्रोजेक्ट के तहत 500 बैड के मल्टी स्पेशिलिटी हाॅस्पिटल के निर्माण प्रस्तावित है।

प्रथम चरण में 2 लाख वर्गफीट क्षेत्र में निर्माण व उपकरणों की लागत 100 करोड़ होगी। द्वितीय चरण में 3 लाख वर्गफीट क्षेत्र के निर्माण पर 150 करोड़ रू. एवं तृतीय चरण में 2 लाख वर्ग फीट क्षेत्र पर 150 करोड़ के कार्य होंगे।

(Visited 536 times, 1 visits today)

Check Also

एक माह की नवजात की सांसें थमी तो ENT डॉक्टर ने बचाई जान

न्यूजवेव @ कोटा  कोटा में महावीर ईएनटी अस्पताल के चिकित्सकों ने एक माह की नवजात …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!