Saturday, 15 May, 2021

कोटा पर छाये कोरोना के घने बादल

कोटा में एक ही दिन में कोरोना पॉजिटिव की संख्या 316 तक पहुंची

डॉ साकेत गोयल
न्यूजवेव @ कोटा
शहर की 10 लाख आबादी पर अगस्त का अंतिम सप्ताह कहर बरपा रहा है। 28 अगस्त को एक ही दिन में 316 से अधिक कोरोना पॉजिटिव और तीन की मृत्यु होना खतरे की चेतावनी है। शहर के हर वार्ड, हर मौहल्ले में कोरोना पॉजिटिव आ जाने से सोसायटी संक्रमण तेजी से फैलता जा रहा है। डॉक्टर्स का कहना है कि शहर की सडकों पर दुपहिया वाहनो पर 2 या 3 जने बैठकर बेखौफ होकर घूम रहे हैं। हेलमेट व मास्क सिर्फ पुलिस दिखाई देने पर पहन लेते हैं। हर वार्ड की सब्जीमंडी में रोज शाम को भारी भीड़ उमड रही है। मार्केट में किराना, नमकीन, कचौडी, प्रोविजन, शॉपिंग मॉल में भी लोगों की आवाजाही बढती जा रही है। ऐसे दृश्य देख शहर में सोशल डिस्टेसिंग कहीं देखने को नहीं मिल रही है। ऐसे हालत में कुछ बातों पर अमल करके बचाव किया जा सकता है।


• महामारी के दौरान हर व्यक्ति जिसको बुख़ार/ बदन दर्द और/ अथवा ख़राश हो उसे कोरोना माना जाना चाहिए जब तक की कोई वैकल्पिक निदान ना हो।
• कोरोना टेस्ट केवल 50% संक्रमित में ही पॉज़िटिव आता है। टेस्ट नेगेटिव आना, कोरोना ना होने का सर्टिफ़िकेट नहीं है।

वैक्सीन – अगले कुछ माह तक सार्वजनिक उपयोग के लिए कोई टीका उपलब्ध नहीं है। इससे पहले हर्ड इम्यूनिटी आने की सम्भावना है।
दवाएं – कोई सिद्ध एलोपैथिक /आयुर्वेदिक / होम्योपैथिक दवा नहीं है। इसीलिए अपने और परिवार के लिए सिर्फ सावधानियाँ बरतें।

Dr Saket Goyal, Heart Specialist

ये एहतियात जरूरी

  • मास्किंग और दूरी – अगर संक्रमण होता भी है तो आप की वायरस की संक्रमण तीव्रता कम हो जाएगी। इसलिए कम समय के लिए निकलें और आवश्यक कार्यों को छोड़कर, बाहर निकलने से बचें।
  • शारीरिक फिटनेस बनाए रखें और अपनी प्रतिरक्षा पर निर्माण करें
  • अपने क्षेत्र में अस्पताल, चिकित्सक, परीक्षण सुविधा की पहचान पहले से कर के रखें।
  • पहले संदिग्ध लक्षणों पर अपने आप को परिवार और नौकरी से अलग करें और कोरोना परीक्षण करवाएं।
  • घर में दूरी बनाए रखने के नियमों को ध्यान में रखें। अपने घर में ऐसे कमरे की पहचान करें।
  • बुनियादी उपकरण थर्मामीटर, पल्स ऑक्सीमीटर, स्टीम इनहेलर आदि का इंतज़ाम रखें।
    Ivermectin / HCQS व कुछ एंटीबायोटिक का उपयोग आपके डॉक्टर द्वारा उपचार के लिए किया जा सकता है। साथ ही विटामिन C/D और Zinc की खुराक। श्वास व्यायाम / प्राणायाम करते रहें। प्रॉनिंग (पेट के बल लेटते समय गहरी साँस लेना) भी महत्वपूर्ण है। हर दिन सकारात्मक दृष्टिकोण रखें।
(Visited 231 times, 1 visits today)

Check Also

कोरोना में सामने आये ब्लैक फंगस के 3 मामले

आँखों की रोशनी छीन रहा है म्यूकरमायकोसिस (ब्लैक फंगस) न्यूजवेव @ कोटा म्यूकरमायकोसिस (ब्लैक फंगस) …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: