Sunday, 16 June, 2024

कोटा में 17 वर्षीय कोचिंग छात्र अनिकेत भी कोरोना पॉजिटिव

12 अप्रैल को कोटा से अपने घर भरतपुर रवाना हुआ था, 16 को जांच रिपोर्ट में हुई पुष्टि
न्यूजवेव @ कोटा

कोटा में मेडिकल प्रवेश परीक्षा की कोचिंग ले रहा 17 वर्षीय छात्र अनिकेत गुरूवार को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। भरतपुर के अतिरिक्त जिला कलक्टर राजेश गोयल ने 16 अप्रैल को कोटा जिला कलक्टर को पत्र भेजकर बताया कि भरतपुर में तिलकनगर में रहने वाले मोतीलाल का बेटा जांच रिपोर्ट में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। इसकी स्क्रीनिंग 14 अप्रैल को भरतपुर में की गई थी, जिसकी रिपोर्ट 16 अप्रैल को मिली है।
अनिकेत ने बताया कि इस वर्ष वह अपने भाई अभिषेक के साथ मेडिकल प्रवेश परीक्षा की कोचिंग ले रहा था। वर्तमान में वह कुन्हाड़ी क्षेत्र में युवराज रेजीडेंसी के मालिक भीम के यहां अपने बडे़ भाई अभिषेक के साथ किराये से रहता था। गत 12 अप्रैल को जिला कलेक्टर कोटा से अनुमति लेकर वह 13 अप्रैल सुबह भरतपुर पहुंचा था। अगले दिन उसकी स्क्रीनिंग जांच में कोरोना संदिग्ध होने का पता चला।

अन्य छात्रों के सेंपल लिये
यह सूचना मिलने पर प्रशासन द्वारा कुन्हाड़ी स्थित युवराज रेजीडेंसी हॉस्टल को पूरी तरह सेनेटाइज किया गया। हॉस्टल में अन्य छात्रों के भी सेंपल लिये गये हैं। इस बात का पता लगाया जा रहा है कि छात्र अनिकेत पिछले दिनो हॉस्टल के विद्यार्थियों सहित कुन्हाड़ी क्षेत्र में किस-किस के संपर्क में आ चुका है। कोटा शहर में गुरूवार दो नये पॉजटिव रोगी मिलने से कोरोना पीड़ितों की संख्या बढकर 86 पहुंच गई है। तेलघर व मकबरा के बाद अब कुन्हाडी क्षेत्र में भी एक कोचिंग छात्र के पॉजिटिव होने से समूचे नदी पार क्षेत्र की कॉलोनियों में डर फैल गया है। शहरवासी लॉकडाउन का पालन करते हुये घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं। लेकिन कोचिंग विद्यार्थियों को कई बार बिना मास्क लगाये 2-3 के समूह में सडकों पर घूमते हुये देखा गया है।
30 हजार विद्यार्थियों की नींद उड़ी
शहर में इस समय 30 हजार से अधिक कोचिंग विद्यार्थी अपने घर जाने के लिये जिला कलक्टर ऑफिस के चक्कर काट रहे हैं। बिहार व उत्तरप्रदेश से सर्वाधिक विद्यार्थी कोटा में कोचिंग ले रहे हैं। महाराष्ट्र, पंजाब, हरियाणा, झारखंड, उडीसा, जम्मू कश्मीर, मध्यप्रदेश आदि राज्यों के विद्यार्थी भी अपने घर लौटनेे के लिये फेसबुक व ट्विटर पर सरकार से अनुमति देने की अपील कर रहे हैं। लॅाकडाउन के बाद अपने घर नहीं लौट पाने और कोटा में संक्रामण फैलने की चिंता से वे पढाई नहीं कर पा रहे हैं।
योगी सरकार बसों की मदद करेगी
इस बीच, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के आग्रह पर उत्तरप्रदेश सरकार ने गुरूवार को एक बड़ा फैसला करते हुये भरोसा दिलाया कि कोचिंग विद्यार्थियों को उनके घरों तक पहंुचाने के लिये जल्द ही बसों की व्यवस्था की जायेगी। योगी सरकार द्वारा 200 से अधिक बसों का इंतजाम किया जा रहा है, जिससे कोटा में कोचिंग ले रहे विद्यार्थियों को उनके घरों तक पहुंचाया जा सके। पिछले दिनों कोटा जिला प्रशासन से अनुमति लेकर कोटा से बाहर निकले कोचिंग विद्यार्थी राज्यों की सीमा पर अटके हुये हैं। उन्होंने कहा कि उप्र सरकार की इस पहल से राहत मिली है। जेईई-मेन तथा नीट परीक्षा से ठीक पहले कोटा में कोरोना संक्रमण के कारण उनकी पढाई बुरी तरह प्रभावित हुई है। जिससे उन्हें कॅरिअर की चिंता सताने लगी है।

(Visited 459 times, 1 visits today)

Check Also

फिजिक्स वाला (PW) स्टूडेंट तथागत अवतार बने नीट-यूजी टॉपर

AIR-1 : घर पर रहकर ऑनलाइन क्लास में पढते हुये 720 में से 720 अंक …

error: Content is protected !!