Wednesday, 19 June, 2024

डॉ. हेमलता गांधी ने जन्मदिवस पर देहदान का संकल्प लिया

देहदान-संकल्प : हमारे ऋषिमुनियों से सीखें दान का महत्व, इसी भाव ने देहदान-संकल्प के लिए प्रेरित किया

न्यूजवेव @ बकानी/कोटा

झालावाड़ निवासी सेवाभावी डॉ हेमलता गांधी ने अपने 46 वें जन्मदिवस के अवसर पर शाइन इंडिया फाउंडेशन के सहयोग से देहदान का संकल्प लिया है। इस अद्वितीय निर्णय के पीछे उनका उद्देश्य मानवता की सेवा और चिकित्सा अनुसंधान में योगदान देना है।

डॉ. गांधी ने बताया कि ऋषिमुनियों के समय से दान का महत्व रहा है, इसी बात ने उन्हें इस संकल्प के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा, “दान का महत्व अनमोल है और यह हमारे समाज को एक बेहतर दिशा में ले जा सकता है।”
इस अवसर पर शाइन इंडिया फाउंडेशन के अध्यक्ष, डॉ. कुलवंत गौड़ ने डॉ. हेमलता गांधी के इस कार्य की सराहना करते हुए कहा, “जन्मदिन पर देहदान संकल्प का कदम समाज के लिए एक प्रेरणा है। उनका यह निर्णय न केवल चिकित्सा क्षेत्र में अहम योगदान देगा, बल्कि अन्य लोगों को भी इस दिशा में सोचने के लिए प्रेरित करेगा।”
देहदान से न केवल चिकित्सा शिक्षा और अनुसंधान में योगदान मिलता है, बल्कि इससे चिकित्सा छात्रों को वास्तविक शरीर पर अध्ययन और प्रशिक्षण का अवसर प्राप्त होता है। यह मानवता की सेवा का एक सर्वोच्च रूप है, जो मृत्यु के बाद भी जीवन को अर्थपूर्ण बनाता है।
डॉ. हेमलता गांधी का यह संकल्प उन सभी के लिए एक प्रेरणा है जो समाज के उत्थान के लिए कुछ करना चाहते हैं। उनका यह कदम निस्संदेह हमारे समाज को एक नई दिशा प्रदान करेगा और चिकित्सा क्षेत्र में नए आयाम खोलेगा। मेड़तवाल वैश्य समाज ने उनकी इस मानवीय पहल को प्रेरक, अनुकरणीय व अतुलनीय बताया है। वे गोसेवा में भी निरन्तर अग्रणी  है।

(Visited 50 times, 1 visits today)

Check Also

मंगलम सीमेंट द्वारा जल संरक्षण के लिये ‘बिरला उत्तम’ का नया स्वरूप लांच

सीएसआर के तहत श्री फलौदी माता मंदिर एवं वीर तेजाजी मंदिर में भेंट किया नया …

error: Content is protected !!