Tuesday, 3 August, 2021

महापुरूषों की प्रेरक जीवनी स्कूल सिलेबस में जोडें- हनुमान शर्मा

केंद्रीय शिक्षा मंत्री को ईमेल भेजकर ध्यानाकर्षण किया
न्यूजवेव @ कोटा
,
लोकतंत्र रक्षा मंच, राजस्थान के कार्यवाहक प्रदेश अध्यक्ष हनुमान शर्मा ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल को ईमेल भेजकर मांग की कि नई पीढ़ी को अच्छे संस्कार व आदर्श चरित्र वाले महापुरुषों का कृतित्व-व्यक्तित्व और मार्गदर्शक इतिहास पढाया जाये। इसके लिये भारत के महापुरुषों की प्रेरक जीवनियों को शिक्षा के पाठ्यक्रम में जोडा जाना चाहिये। ऐसे महापुरूषों के कर्मशैली से पल्लवित हो आज के नोंनिहाल सर्वांगीण विकास के साथ देश के प्रति समर्पित अच्छे नागरिक बनेंगे।


भाजपा नेता हनुमान शर्मा ने कहा कि विदेशों में हिन्दुस्थान का सिर उंचा करने वाले स्वामी विवेकानंद क विचारांे से युवावर्ग को अच्छी दिशा में आगे बढने की प्रेरणा मिलेगी। असत्य पर सत्य की विजय पताका फहराने वाले, मर्यादा पुरुषोत्तम राम,गीता उपदेश देने वाले कृष्ण हों या स्वाभिमानी महाराणा प्रताप ,शिवाजी महाराज, झांसी की रानी, पृथ्वीराज चौहान, जौहर करने वाली पद्मावती,माता पन्नाधाय, हाड़ी रानी, गोरा बादल जैसे देश की रक्षा पर न्यौछावर होने वाले महापुरूष इत्यादि के संघर्षमयी जीवन का हर पहलू प्रेरणा देता है।
जिनके लिये मातृभूमि सर्वोपरि थी
शर्मा ने कहा कि अब्राहम लिंकन जब भारत दौरे पर आ रहे थे। तब उन्होने अपनी माँ से पूछा कि- हिंदुस्तान से आपके लिए क्या लेकर आए ? तब माँ का जवाब मिला- ”उस महान देश की वीर भूमि हल्दी घाटी से एक मुट्ठी धूल लेकर आना, जहाँ का राजा महाराणा प्रताप अपनी प्रजा के प्रति इतना वफादार था कि उसने आधे हिंदुस्तान के बदले अपनी मातृभूमि को चुना।
उन्होंने बताया कि सूरदास, रैदास, कबीर, मीराबाई, गंगा, यमुना इत्यादि के बारे में नई पीढी को जानकारी देना आवश्यक है। न्रेताजी,सुभाषचंद्र बोस, भगतसिंह, चंद्रशेखर आजाद, सरदार वल्लभ भाई पटेल, बाल,,लाल और पाल, वीर सावरकर, जैसे वीरों ंने देश को आजादी दिलाई है। हॉकी के जादूगर ध्यानचंद हों या मिल्खा सिंह उनसे बच्चों को कुछ सीखने को मिलेगा। भारतीय योग दिवस व सेना दिवस पाठ््यक्रम का हिस्सा बने। ,लोकनायक जयप्रकाश नारायण और आपातकाल को भी शिक्षा के पाठ्यक्रम में जोडना चाहिये।

(Visited 103 times, 1 visits today)

Check Also

बेसहारा पशुओं का सहारा बनी कोटा की मेजर प्रमिला सिंह को प्रधानमंत्री ने सराहा

कोटा शहर में मेजर प्रमिला सिंह (से.नि.) अपनी जमा-पूंजी से सड़कों पर घूम रहे जानवरों …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: