Tuesday, 20 October, 2020

‘वोेकल फॉर लोकल’ थीम से आत्मनिर्भर भारत मिशन को सफल बनायें – राज्यपाल

बीकानेर टेक्निकल यूनिवर्सिटी, राजस्थान नियोक्ता संघ व शिक्षा संस्कृति उत्थान के साझा तत्वावधान में आत्मनिर्भर भारत सप्ताह मनाया

न्यूजवेव @ बीकानेर

बीकानेर टेक्निकल यूनिवर्सिटी, राजस्थान नियोक्ता संघ एवं शिक्षा संस्कृृति उत्थान के संयुक्त तत्वावधान में आत्मनिर्भर भारत सप्ताह 2 से 6 अक्टूबर तक मनाया गया। वर्चुअल  कार्यक्रम का उद्धघाटन करते हुये मुख्य अतिथी राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा कि ‘वोकल फॉर लोकल’ थीम पर कार्य करते हुये आत्मनिर्भर भारत के लिये सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को विकसित किया जाये, जिससे भारत की अर्थव्यवस्था को और मजबूत बनाया जा सकता है। उद्धघाटन समारोह में उद्योग जगत से विशिष्ट अतिथी डीएससीएल श्रीराम इंडस्ट्रीज के हेड वीके जेटली एवं राजस्थान नियोक्ता संघ के अध्यक्ष एनके जैन ने इंडस्ट्री व टेक्नोलॉजी पर सारगर्भित उद्बोधन दिया।


उन्होंने कहा कि इंजीनियरिंग स्टूडे्ट्स रोजमर्रा की समस्याओं का समाधान ढूंढने के लिये नवाचार व अनुसंधान पर फोकस करें। कार्यक्रम के दूसरे दिन ‘कृषि में आत्मनिर्भर भारत’ बनाने पर चर्चा की गई। इस सत्र में नाबार्ड के पूर्व मुख्य महाप्रबंधक अर्जुन रतनू व नेशनल इंस्टीट्यूट आफ एग्री बिजनेस के निदेशक डॉ.रमेश मितल ने बतौर विशेषज्ञ कृृषि विकास से जुड़ी सरकारी योजनाओं की जानकारी साझा की।

‘उद्यमिता एवं महिला सशक्तिकरण’ पर सार्थक सवाद
कार्यक्रम के तीसरे दिन ‘उद्यमिता एवं महिला सशक्तिकरण’ पर सार्थक सवाद हुआ। क्वालिस की संस्थापक अध्यक्ष उद्यमी दीपा माथुर एवं नारी उत्थान संस्थान की संस्थापक उमा रतनू ने कहा कि महिलायें अपने क्षेत्रों में आगे बढ़कर आत्मनिर्भर भारत मिशन में सक्रिय भूमिका निभायें। उन्होने बताया कि केंद्र व राज्य सरकार द्वारा संचालित कौशल विकास कार्यक्रम इस दिशा में महत्वूपर्ण कड़ी है।

नॉलेज व स्किल को टेक्नोलॉजी से जोडें


चौथ दिन ‘जमीनी व सामाजिक नवाचार की आत्मनिर्भर भारत में भूमिका’ पर सार्थक चर्चा हुई। इस विशेष सत्र में मुख्य अतिथी हनी बी नेटवर्क के संस्थापक व आईआईएम अहमदाबाद के प्रोफेसर पद्मश्री प्रो.अनिल के. गुप्ता ने कहा कि ज्ञान व बु़ि़द्धमत्ता को नवीनतम तकनीक के माध्यम से अधिक प्रभावी बनाया जा सकता है। साथ ही प्रमाण ग्रुप कोटा के संस्थापक प्रवीण भंडारी विशिष्ट अतिथि के रूप में मौजुद रहे। इस दौरान डॉ.वाई.एन.सिंह निदेशक, अकादमिक अफेयर्स एवं UCET बीकानेर के प्रिंसीपल ने यूनिवर्सिटी के अनुसंधान प्रकोष्ठ व ग्रामीण उद्धमिता प्रकोष्ठ द्वारा संचालित गतिविधियों पर प्रकाश डाला।

समापन समारोह में मुख्य अतिथि शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास के राष्ट्रीय सचिव अतुल कोठारी एवं गुजरात विद्यापीठ के डीन प्रेम आनंद मिश्रा विशिष्ट अतिथि के रूप में मौजूद रहे। उन्होंने बताया कि आत्मनिर्भर भारत में शिक्षा की भूमिका सबसे अहम है। अध्यक्षता करते हुये बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय के माननीय कुलपति प्रो.एच.डी.चारण ने कहा कि शिक्षकों एवं विद्यार्थियों को तत्परता से ‘आत्मनिर्भर भारत मिशन’ से जुड़ना होगा। अपने क्षेत्र की समस्याओं के समाधान पर कार्य करते हुये विद्यार्थी व समाज मिलकर देश को आत्मनिर्भर बना सकते हैं। समापन समारोह के दौरान बीटीयू से संबद्ध 42 कॉलेजों में ग्रामीण उद्यमिता विकास का उद्धघाटन किया गया।

7000 स्टूडेंट ने ली ई-शपथ
कार्यक्रम समन्वयक मदनलाल सियाग व सह-समन्वयक डॉ.ममता शर्मा पारीक, रवि गोयल, श्रीमति नीलम स्वामी, नटवर सिंह वं रामश्रवण द्वारा विद्यार्थियों को आत्मनिर्भर भारत मिशन में योगदान के लिये 7000 विद्यार्थियों एवं शिक्षकों को ई-शपथ दिलाई गई। कार्यक्रम में डॉ.एस.के.बंसल, डीन एफओईए, डॉ.एस.के.मेहला, एचओडी एचईएएस एवं लक्ष्मण सिंह खंगरोत भी मौजुद रहे। आत्मनिर्भर भारत मिशन प्रकोष्ठ की सलाहकार डॉ.ममता शर्मा पारीक ने बताया कि भविष्य में ग्रामीण उद्यमिता को बढ़ावा देने हेतु कृषि उत्पादन संघठनों (FPO) क्षेत्रीय खादी एवं ग्रामीण उद्योग ( KVI) क्षेत्रीय व्यापार कुटीर उद्योगों के साथ मिलकर परस्पर अनुभव और ज्ञान को साझा कर विद्यार्थियों को ग्रामीण उद्यमिता के अवसर प्रदान कर ग्रामीण उद्यमिता को बढ़ावा दिया जाएगा।

(Visited 18 times, 1 visits today)

Check Also

NEET-UG मे दो विद्यार्थियों ने 100 प्रतिशत अंकों से बनाया रिकॉर्ड

रिजल्ट: इस वर्ष 15.97 पंजीकृत में से 13.66 लाख ने दी परीक्षा जिसमें से कुल …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: