Monday, 6 July, 2020

लीज पर लिए हॉस्टल की अमानत राशि नहीं लौटा रहे मालिक

एसपी को दिया परिवाद, राशि लौटाने की मांग, लीज संचालकों से मनमानी राशि वसूल रहे हॉस्टल मालिक
न्यूजवेव @ कोटा
हॉस्टल किराए पर लेने के दौरान जमा सिक्योरिटी राशि नहीं लौटाने पर शिवपुरा निवासी उमेश मगलानी ने शहर पुलिस अधीक्षक को परिवाद देकर उसके साथ हो रही धोखाधडी पर उचित कार्रवाई करने की मांग की है।
मगलानी ने बताया कि 1 जून 2019 से 31 मई 2020 की अवधि में उसने 2 एल 20 महावीर नगर तृतीय निवासी प्रीति गौतम पत्नी दिनेश गौतम से 15 लाख 75 हजार रूपए में एक हॉस्टल ए-6 जवाहर नगर मेन रोड पर किराए से लिया था। हॉस्टल का किराया सात किश्तों में अदा करना था जो उसने कर दिया। लेकिन प्रीति गौतम व उसके पुत्र हिमांशु गौतम को दि गई सिक्योरिटी राशि 4 लाख रूपए और नए एग्रीमेंट को आगे बढाते हुए उन्होंने 4 लाख 50 हजार रूपए और उमेश मगलानी से लिए। कुल 8 लाख 50 हजार रूपए की राशि प्रीति गौतम के पास अमानत के तौर पर है, जिसे वह हड़प करने की नियम से नहीं लौटा रही है।
स्टूडेंट नहीं होने से हॉस्टल हुये खाली
लॉक डॉउन के चलते अब कोटा में बच्चे नहीं आ रहे तो मगलानी ने आगामी एग्रीमेंट करने से मना कर हिसाब करने की बात कही। इसके बाद से ही प्रीति गौतम व हिमांश गौतम हिसाब नहीं कर रहे हैं और 31 मई 2020 को पूरे हो रहे एग्रीमेंट के बाद राशि का गबन करना चाह रहे हैं। उमेश मगलवानी ने प्रीति गौतम को लीगल नोटिस जारी किया है। उन्हें अप्रेल माह में अवगत करा दिया था कि वह इस वर्ष हॉस्टल को किराए पर नहीं लेंगे। उन्होंने प्रीति गौतम से उनकी अमानत राशी 4 लाख और बाद में दी गई राशि 4 लाख 50 हजार कुल 8 लाख 50 हजार रूपए लौटाने के लिए कहा लेकिन वह राशि नहीं लौटा रही है। इसके साथ ही धमकी भी दी जा रही है कि हॉस्टल को खाली करो नहीं तो ठीक नहीं होगा। उमेश मगलानी के पास एग्रीमेंट व अन्य सभी दस्तावेज हैं, लेकिन उसके बाद भी प्रीति गौतम पैसा नहीं दे रही है। इस मामले में उमेश मगलानी ने उचित कार्रवाई की मांग की है।
एग्रीमेंट का नहीं हो रहा पालन
जिला प्रशासन ने कोचिंग सेंटर व हॉस्टल संचालकों को गाइड लाइन के तहत कहा था कि जिन्होंने भी बच्चों से पैसा लिया है उसे लौटाया जाएगा व किराए से लिए गए हॉस्टल को संचालित करने के दौरान आगामी जो एग्रीमेंट हुए हैं उनकी राशि को मकान मालिक द्वारा लौटाया जाएगा। लेकिन कुछ लोग इस गाइड लाइन की पालना नहीं कर रहे हैं और पैसा हडप करने की नियत से दबाव बना रहे हैं वहीं धमकी भी दे रहे हैं। ऐसे में शिवपुरा निवासी उमेश मगलानी ने प्रशासन से मांग करते हुए कहा है कि इस राशि को नियमानुसार लौटाया जाए और उचित कार्रवाई की जाए।

(Visited 88 times, 1 visits today)

Check Also

कोरोना वायरस के उपचार में संभावित विकल्प हैं चाय और हरड़

IIT दिल्ली के शोधकर्ताओं ने चाय और हरितकी में ऐसे तत्व का पता लगाया है …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: