Thursday, 4 June, 2020

‘आयु एप’ के जरिये 10 हजार डॉक्टर्स देंगे जनता को ई-परामर्श

कोरोना बचाव के लिये महाअभियान : ‘जनता कर्फ्यू’ में अस्पताल जाने की जरूरत नहीं, घर बैठे लें निःशुल्क ई-परामर्श
न्यूजवेव@ कोटा
कोरोना (कोविड-19) वायरस का मुकाबला करने के लिये आयु एप के माध्यम से देश की जनता को 10 हजार से अधिक चिकित्सकों द्वारा प्रथम निःशुल्क ई-परामर्श की सुविधा मिलेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 22 मार्च को कोरोना से बचाव के लिये देश में ‘जनता कर्फ्यू’ लागू करने की अपील का करोडों देशवासियों ने समर्थन किया है, उसी श्रंखला में कोई भी नागरिक आयु एप डाउनलोड कर भारत में डॉक्टर्स द्वारा निःशुल्क ई-परामर्श ले सकते हैं।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने तीन वर्ष पूर्व कोटा शहर में तीन युवाओं श्रेयांस मेहता, निखिल बाहेती व सईदा सनावथ द्वारा तैयार आयु एप को लांच करते हुये उम्मीद जताई थी कि इससे शहरी व ग्रामीण जनता को किसी बीमारी का इलाज करवाने के लिये अस्पतालों में चक्कर नहीं काटने पडेंगे। वे मोबाइल पर ही अनुभवी चिकित्सक से परामर्श ले सकेंगे। कोरोना वायरस की महामारी के बाद सरकारी अस्पतालों में मरीजों की भीड़ कम करने के लिये कोटा कलक्टर ओम कसेरा ने लोगों को इलाज के लिये घर बैठे आयु एप का उपयोग करने की सलाह दी। जिससे पिछले तीन दिनों में 70 हजार से अधिक परिवारों ने आयु एप से विभिन्न बीमारियों में ई-परामर्श लेकर अपना इलाज करवाया है।
राजस्थान में आयु एप की सुविधा जारी

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को जयपुर में आयु एप के सीईओ श्रेयांस मेहता से इसकी विस्तृत जानकारी ली तथा पूरे राज्य में स्वास्थ्य जागरूकता के लिये सामाजिक सरोकार के तहत यह मुहिम प्रारंभ करने के निर्देश दिये। इस मौके पर स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा, चिकित्सा विभाग के मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह, एसएमएस अस्पताल के प्रिंसिपल डॉ. सुधीर भंडारी सहित प्रमुख अधिकारी मौजूद रहे।
मेहता ने बताया कि देश में कोरोना के संदिग्ध रोगियों की संख्या बढ़ने से सभी राज्यों में बचाव के लिये स्वास्थ्य जागरूकता की मुहिम तेज कर दी गई है। केवल बचाव ही इसका इलाज है। आयु एप पर कोरोना वायरस से जुडी प्रमाणिक जानकारी लेकर सावधानी बरतें। इसके नेटवर्क के जरिये ग्रामीण जनता नजदीकी मेडिकल स्टोर पर जाकर विशेषज्ञ चिकित्सकों से ई-परामर्श ले सकेगी। उन्हें सर्दी, खांसी, सिरदर्द या हल्का बुखार आदि होने पर शहरों के अस्पतालों में जाने की आवश्यकता नहीं है। इससे सभी लोग संक्रमण से बचेंगे।
हेल्पलाइन नंबर जारी
उन्होंने बताया कि आयु एप की टीम में 300 सदस्य तथा 2500 सेहत साथी जुडे़ हैं, जो 24 घंटे सेवायें निरंतर दे रहे हैं। कोई भी नागरिक हेल्पलाइन नंबर 7816811111 पर कॉल करके डॉक्टर से ई-परामर्श ले सकते हैं। आयु एप को गूगल प्ले से डाउनलोड कर सकते हैं। डॉक्टर व मरीज के बीच क्लाउड कम्प्यूटिंग के जरिये बात करवाले वाले माय ऑपरेटर भी इसमें निशुल्क सेवायें दे रहे हैं।
कोरोना वायरस से बचाव के लिये आयु एप के इस महाभियान में 25 लाख परिवारों को घर-घर जाकर बचाव व सावधानियां बरतने के पर्चे बांटे जा रहे हैं। यदि आपके पास स्मार्ट फोन नही है तो आयु कार्ड के माध्यम से एक वर्ष तक आप अपने परिवार की स्वास्थ्य सुरक्षा निःशुल्क कर सकते हैं। इससे आपको स्पेशलिस्ट डॉक्टरों से सस्ता व सुलभ इलाज मिलेगा। देश के अनुभवी चिकित्सकों ने डिजिटल इंडिया के तहत आयु एप की इस ई-परामर्श सुविधा को बहुत उपयोगी बताया है।

(Visited 58 times, 1 visits today)

Check Also

कोराना से बचायेंगे विटामिन-सी व मिनरल्स

न्यूजवेव @ कोटा कोविड-19 महामारी से जूझते हुये पॉजिटिव रोगियों की तेजी से रिकवरी हो …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: