Monday, 30 March, 2020

छोटी सी पहल से राज्य में बन गया रक्तवीरों का कारवां

विश्व रक्तदाता दिवस: समाजसेवा व रक्तक्रान्ति के पर्याय बने कोटा के युवा सुरेन्द्र अग्रवाल

न्यूजवेव कोटा

शहर में स्टूडेंट हेल्प सोसायटी का पौधा पल्लवित होकर आज सेवा कार्यों का पर्याय बन गया है। इसके संस्थापक अध्यक्ष सुरेंद्र अग्रवाल ने राज्य में रक्तक्रांति जागृति अभियान चलाकर डेंगू व चिकनगुनिया रोगियों के लिए रक्त उपलब्ध करवाया। प्रतिदिन 7 से 8 जरुरतमंदो के लिए आरडीपी व एसडीपी की व्यवस्था कर तत्काल मदद करने से कई जानें बच गई।

राज्य के स्वैच्छिक रक्तदातओं को एकजुट होकर सहयोग करने के उद्देश्य से उन्होेंने सोशल मिडिया पर ‘रक्त क्रान्ति’ वाट्सअप ग्रुप बनाया, जिससे हर जिले में शहर से गांवों तक बड़ी संख्या में रक्तदाता ग्रुप से जुडते चले गए और रक्तवीरों का कारवां बन गया।

रक्त क्रान्ति के सदस्य अपना अधिकांश समय जरूरतमंदों की सेवा एवं मदद करने में बिताते हैं। वे परोपकार के इस महायज्ञ में दिन-रात फोन पर व्यस्त रहते हैं। एक ही मंशी रहती है कोई गरीब या जरूरतमंद रोगी केवल रक्त की कमी से उपचार से वंचित न रह जाए।

एक नई पहल करते हुए राज्य में जरुरतमंदो की सेवा करते समय रोगी के परिजनों का रिकार्ड भी लिया ताकि वे जरूरत के समय इसी तरह किसी अन्य रोगी को रक्त देकर उसकी मदद कर सकें।

महामारी में सैकडों रोगियों को रक्त की मदद

कोटा जिले में वर्ष 2017-18 में मौसमी बीमारियों के मौसम में उन्होंने अस्पतालों में पहुंचकर रोगियों की हर संभव मदद की और 400 से अधिक जरुरतमंदो को आरडीपी एवं एसडीपी उपलब्ध करवायी। इस ग्रुप के संरक्षक राजेंद्र माहेश्वरी को पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल द्वारा सेवाओं के लिए सम्मानित किया जा चुका है
कोटा शहर से संदीप सिंह, मुकेश विजय, सोनल गुप्ता, सौरभ अग्रवाल,घनिष्ट जिंदल एसी पी मीना, रोहित सिंह, अमन कालरा, सन्नी ढींगरा, नितेश मालव ने दिन-रात सेवाएं दी। सभी सदस्यों ने मिलकर सोशल मिडिया के जरिए स्वैच्छिक रक्तदान के लिए जागरूकता पैदा की।

समाजसेवी सुरेन्द्र अग्रवाल ने टीम के साथ सर्दियों में निर्धन व जरूरतमंदों को रजाई व कम्बल वितरित किए। इसके लिए हेल्पलाइन नंबर 8239936176 जारी किया, इसमें जब कोई जरूरतमंद दिखाई दे तो आम नागरिक  उसकी मदद के लिए फोन कर सकते है।

खास बात यह कि इस युवा टीम ने वर्षपर्यंत सक्रिय रहकर जन्मदिवस, पुण्यतिथि या वैवाहिक वर्षगाँठ अनाथ व जरूरतमंद बच्चों के साथ मनाने जैसा पुण्य कार्य निरंतर जारी रखने का संकल्प किया।

गर्मी में गरीबों को चप्पल वितरित करने के लिए आयोजन हो या सर्दियो में रजाई कैम्प और डेंगू महामारी व मौसमी बीमारियों के समय इमरजेंसी में तत्काल रक्त उपलब्ध करवाने जैसी चुुनौतियां हों, सुरेन्द्रअग्रवाल ने टीम भावना के साथ सैकड़ों युवाओं को सेवाकार्यों की मुहिम से जोड़ दिया। रक्त की मदद के लिए उनसे मोबाइल नं. 954952826 पर संपर्क कर सकते हैं।

(Visited 9 times, 1 visits today)

Check Also

मां को कैंसर की दवा नहीं मिलने से परेशान था छात्र प्रशांत

लॉक डाउन के समय एलन बना मददगार न्यूजवेव@ कोटा कोरोना वायरस से बचाव के लिये …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: