Monday, 27 June, 2022

कोटा में पशुपालकों के लिये बना हाईटेक कस्बा

यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल की पहल पर यूआईटी द्वारा 300 करोड की लागत से 150 हेक्टेयर भूमि में देवनारायण आवासीय योजना तैयार
न्यूजवेव @ कोटा

नगरीय विकास एंव स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल की पहल पर कोटा शहर को केटल फ्री बनाने के लिये नगर विकास न्यास द्वारा पशुपालको के लिए देवनारायण आवासीय योजना बनकर तैयार हो गई है। इसके पहले चरण में 501 पशुपालकों को पूर्ण विकसित आवास आवंटित किये गये हैं।

Mr Shanti Dhariwal

पशुपालकों के लिय प्रदेश में पहली आवासीय योजना का लोकार्पण 22 मई को यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल करेंगे। इस आधुनिक कस्बे में शिफ्ट किया जाएगा। यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने बताया कि इस योजना से पशुपालाको की जीवन में बडा बदलाव होगा। कोटा शहर में आवारा मवेशियो से होने वाले हादसों से अब मुक्ति मिल सकेगी। यूआईटी सचिव राजेश जोशी ने बताया कि नगर निगम, पशुपालन विभाग, पुलिस, चिकित्सा, परिवहन विभाग, विद्युत, जलदाय सहित अन्य सभी विभागो ने इस योजना को समय पर पूरा करने में सहयोग किया है। प्रशिक्षु आईपीएस मनीष कुमार ने बताया कि इस योजना की पुलिस चौकी में पुलिस लाइन से जवान तैनात कर दिये हैं। भविष्य में जाप्ते में बढोतरी की जायेगी।
यह देश की पहली योजना
मंत्री शांति धारीवाल ने बताया कि शहर में दयनीय स्थिति में रहने वाले पशुपालको को सर्वे के बाद अन्य प्रदेशों की योजना का अध्ययन, बंधा धर्मपुरा की 105 हैक्टेयर भूमि पर देवनारायण आवासीय योजना को अत्याधुनिक सुविधाओं से हाईटेक कस्बे के रूप में विकसित किया है।
इसमें पशुपालको को आवास के साथ पशुबाडे ,भूसा कक्ष, बिजली, पानी, चौडी सडकें, सीवरेज जैसी मूलभूत सुविधायें, स्कूल, अस्पताल, दुग्ध मंडी , हाट बाजार, सामुदायिक भवन, भूसा गौदाम, पुलिस चौकी , डेयरी उधौग, चारागृह मैदान ,मिल्क प्रोसेसिंग यूनिट, बायोगैस प्लांट, आवागमन के लिए बसों का संचालक किया जाएगा जिससे पशुपालको को विकसित जीवन जीने का अवसर मिल सके।
गोबर से आमदनी, खुलेगी मिल्स प्रोसेसिंग यूनिट
जल्द ही यह देवनारायण नगर के नाम से लोकप्रिय होगा। यहां गोबर से पशुपालको को आमदनी होगी यूूआईटी एक रूपए प्रति किलो दर से गोबर खरीदेगा। घरेलू गैस के लिए भी बायोगैस से कनेक्शन दिए गए है। अतिरिक्त गैस उत्पादन होने पर राजस्थान स्टेट गैस लिमिटेड को विक्रय की जाएगी। मंत्री धारीवाल ने बताया कि 4.79 हैक्टैयर में मिल्क प्रोसेसिंग यूनिट प्रक्रियाधीन है। इससे पशुपालको का दूध बेचने की सुविधा भी मिलेगी।
देवनारायण आवासीय योजना में गृह प्रवेश को लेकर नगर विकास न्यास अधिकारियों की बैठक में न्यास ओएसडी आर डी मीणा, सचिव राजेश जोशी उपसचिव चंदन दुबे मोहम्मद ताहिर संतोष कुमार मीणा मुख्य अभियंता ओपी वर्मा मुख्य लेखा अधिकारी टीपी मीणा, पुलिस उप अधीक्षक आशीष भार्गव सहित न्यास के अभियंता मौजूद रहे।

(Visited 100 times, 1 visits today)

Check Also

कर्नाटक 12वीं बोर्ड रिजल्ट घोषित, टॉप-10 रैंक पर रेजोनेंस-बेस के विद्यार्थियों का कब्जा

कर्नाटक 12वीं बोर्ड (PUC 2) परीक्षा 2022 में रेजोनेंस – बेस के विद्यार्थियों का टॉप …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: