Sunday, 21 July, 2024

राजस्थान में स्टेट कोटे की 85% MBBS एवं BDS की द्वितीय राउंड काउंसलिंग प्रारम्भ

– सीट मैट्रिक्स 23 अगस्त को जारी होगी

न्यूजवेव@ जयपुर

राजस्थान नीट यूजी मेडिकल एंड डेंटल एडमिशन काउंसलिंग बोर्ड जयपुर द्वारा बुधवार से राजस्थान मेडिकल एवं डेंटल कॉलेज की द्वितीय राउंड काउंसलिंग का शेड्यूल तथा उसका एप्लीकेशन फॉर्म प्रोसेस ऑफिसियल वेबसाइट पर जारी कर दिया गया है । इस नोटिस के अनुसार द्वितीय काउंसलिंग मे प्रथम बार मे शामिल कैंडिडेट्स के लिए राजस्थान नीट नीट-यूजी 2023 के एप्लीकेशन फॉर्म का एप्लीकेशन प्रोसेस 16 से 19 अगस्त के मध्य चलेगा. इस हेतु कैंडिडेट को एप्लीकेशन फॉर्म का पार्ट -प्रथम तथा पार्ट -द्वितीय अवश्य भरना होगा ,जिन कैंडिडेट्स ने जुलाई मे प्रथम राउंड मे एप्लीकेशन फॉर्म तथा एप्लीकेशन प्रोसेस को पूर्ण कर लिया था उन्हें अब इस द्वितीय राउंड मे नया रजिस्ट्रेशन कराने की कोई आवश्यकता नहीं है ।

एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के कॅरियर काउंसलिंग एक्सपर्ट पारिजात मिश्रा ने बताया कि सेकंड राउंड काउंसलिंग हेतु उपलब्ध सीट मैट्रिक्स 23 अगस्त को कैंडिडेट्स कैटेगरी के अनुसार जारी की जाएगी । गौरतलब है कि प्रथम राउंड काउंसलिंग के समय राजस्थान में एमबीबीएस की सरकारी व निजी क्षेत्र के मेडिकल कॉलेज की 4709 तथा डेंटल कॉलेज की 1292 सीटों की घोषणा की गई थी । इसमें एमबीबीएस की सरकारी मेडिकल कॉलेजों की 3219 सीटें, जिसमें फ्री सीट 2058, पेमेंट सीट 780 एवं एनआरआई कोटे की 381 सीटें शामिल थी । वहीं प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में कुल 1490 सीटें थी , जिनमें कॉमन सीट 1261 , मैनेजमेंट कोटा सीट 229 सीटें शामिल थी । इसी प्रकार सरकारी डेंटल कॉलेज की 42 सीटें शामिल थी । वहीं प्राइवेट डेंटल कॉलेजों में 1085 कॉमन सीट तथा 165 मैनेजमेंट सीट शामिल थी ।

पारिजात मिश्रा ने बताया सेकंड राउंड काउंसलिंग की चॉइस फिलिंग का प्रोसेस 21 अगस्त से 25 अगस्त के मध्य चलेगा तथा प्रथम राउंड काउंसलिंग मे रजिस्टर्ड कैंडिडेट्स तथा द्वितीय राउंड के नए रजिस्टर्ड कैंडिडेट्स, दोनों को ही चॉइस फिलिंग प्रोसेस को पूरा करना पड़ेगा प्रथम राउंड मे रजिस्टर्ड कैंडिडेट्स की पूर्व मे सब्मिटेड चॉइसेस इस राउंड मे मान्य नहीं होंगी ,अतः प्रथम राउंड मे रजिस्टर्ड कैंडिडेट अपनी नयी इच्छित चॉइसेस को अवश्य सबमिट करें जो कैंडिडेट्स अपनी फर्स्ट राउंड की अलॉटेड सीट से संतुष्ट है उन्हें अब आगे कोई नयी चॉइसेस भरने की कोई आवशयकता नहीं है , प्रथम राउंड के उन्ही कैंडिडेट्स को यह चॉइसेस सबमिशन वाला प्रोसेस करना है जिन्हे प्रथम राउंड मे या तो कोई सीट अलॉट नहीं हुई है ,या फिर जिन्हे प्रथम राउंड के अलॉटेड कॉलेज से सतुष्टि नहीं है तथा अब वे नए कॉलेज मे अपग्रेड करना चाहते है ,अतः इस प्रकार के कैंडिडेट्स इन बातों का भी विशेष ध्यान रखें
कैंडिडेट्स को अपना फाइनल एप्लीकेशन फॉर्म 26 अगस्त को प्रिंट करना है , इसमें उनकी द्वितीय राउंड की सब्मिटेड तथा सेव्ड चॉइसेस भी दिखेगी ।

वेबसाइट पर जारी निर्देशों के अनुसार सामान्य तथा ईडब्ल्यूएस विद्यार्थियों के लिए सरकारी एमबीबीएस व बीडीएस की काउंसलिंग सिक्योरिटी डिपॉजिट 10 हजार रुपए तथा प्राइवेट मेडिकल में काउंसलिंग सिक्योरिटी डिपॉजिट 2 लाख रुपए रखी गई है। इसके साथ ही एसटी, एससी, ओबीसी, एमबीसी की सरकारी एमबीबीएस व बीडीएस की काउंसलिंग सिक्योरिटी डिपॉजिट फीस 5 हजार रूपए तथा प्राइवेट मेडिकल के लिए 2 लाख रुपए रखी गई है। प्राइवेट डेंटल कॉलेजों बीडीएस कोर्स हेतु काउंसलिंग सिक्योरिटी डिपॉजिट फीस 10 हजार रुपए रुपए रखी गई है। विद्यार्थी काउंसलिंग रजिस्ट्रेशन फीस जमा करने के बाद ही अपनी इच्छित च्वाइस भर सकेंगे।

पारिजात मिश्रा ने बताया कि विद्यार्थी अपनी इच्छित चॉइस भरते समय संबंधित कॉलेज की फीस का अवलोकन भी जरूर करें। विद्यार्थियों द्वारा सब्मिटेड चॉइस 25 अगस्त दोपहर 2 बजे ऑटो लॉक हो जाएगी।

द्वितीय राउंड के सीट अलॉटमेंट की सूचना 28 अगस्त को जारी की जाएगी। इसके बाद कैंडिडेट्स 29 अगस्त से 4 सितम्बर के मध्य अपना ऑनलाइन अलॉटमेंट लेटर प्रिंट कर सकेंगे। अलॉटमेंट जारी होने के बाद कैंडिडेट्स जिन्हे सरकारी मेडिकल कॉलेज अलॉटमेंट हुआ है उन्हें 31 अगस्त से 4 सितम्बर के मध्य एसएमएस मेडिकल कॉलेज जयपुर में अपने ओरिजिनल प्रमाण पत्रों के साथ उपस्थिति देनी होगी। अलॉटमेंट जारी होने के बाद कैंडिडेट्स जिन्हे सरकारी डेंटल, प्राइवेट मेडिकल, एवं प्राइवेट डेंटल कॉलेज का अलॉटमेंट हुआ है उन्हें 31 अगस्त से 4 सितम्बर के मध्य आरयूएचएस डेंटल कॉलेज जयपुर में ओरिजिनल प्रमाण पत्रों के साथ उपस्थिति देनी होगी। यहां मूल प्रमाण पत्रों के साथ दो सेट स्वप्रमाणित फोटोकॉपी तथा डिमाण्ड ड्राफ्ट या ऑनलाइन पेमेंट की स्लिप भी साथ लाना होगा। प्रथम राउंड के जॉइनिंग कैंडिडेट्स जिनका इस द्वितीय राउंड काउंसलिंग मे कोई अपग्रडेशन नहीं हुआ है उन्हें पुनः ज्वाइनिंग के लिए रिपोर्ट करने की कोई आवश्यकता नहीं है ।
नेशनल मेडिकल कमीशन की गाइडलाइन के अनुसार मेडिकल कॉलेजों का अकादमिक सत्र 1 सितम्बर 2023 से शुरू हो जायेगा

(Visited 160 times, 1 visits today)

Check Also

हॉस्टल्स से यूडी टैक्स की वसूली आवासीय श्रेणी में हो

जयपुर में विधायक संदीप शर्मा के साथ यूडीएच मंत्री झाबर सिंह खर्रा से मिला प्रतिनिधिमंडल …

error: Content is protected !!