Friday, 12 July, 2024

जेईई-मेन मंत्र- विल के साथ जोड़ दें पावर

काउंट डाउन: जेईई-मेन 8 अप्रेल,2018
 नेशनल एक्सपर्ट –

श्री बृजेश माहेश्वरी, निदेशक एवं एचओडी फिजिक्स,

एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट

आप जिंदगी में अच्छे टेक्नोक्रेट या इंजीनियर बनने की तैयारी कर रहे हैं तो एक या दो वर्ष से की गई साधना आपको सफलता तक अवश्य पहुंचाएगी। बस, अंतिम समय में एकाग्रता व संयम के साथ रिहर्सल करें। केवल स्वयं की तैयारी पर फोकस रहे। पैटर्न चाहे जो भी हों, सब्जेक्ट तो वही रहेंगे। इसलिए जीत से कोई रोक नहीं सकता। विल के साथ अपनी पॉवर भी जोड़ दें। मोबाइल, फेसबुक, वाट्सएप या मूवी से दूर रहें। पॉजिटिव एनर्जी के साथ सबसे बड़ा इम्तिहान देने के लिए प्रभावी मंत्र-

सही रणनीति से दें पेपर  
 परीक्षा के दिन बोल्ड, कूल, रिलेक्स, कॉन्फिडेंट और पॉजिटिव रहने से हर पल नई एनर्जी मिलेगी।
 किसी क्वेश्चन में तुरंत आंसर देने को प्राथमिकता न दें, पहले उसे हल करने का सही प्रयास करें। हमेशा दूसरे और तीसरे प्रयास करके हल को अंतिम मानें।
 किसी प्रश्न को बीच में नहीं छोडे़ं। एक से दूसरे प्रश्न तक पहुंचने में जल्दबाजी करना ठीक नहीं।
 कई स्टूडेंट्स क्वेश्चन को पूरा समझने से पहले उसे हल करने की प्रेक्टिस में जुट जाते हैं, यह गलत है।
 आजकल पेपर में क्वेश्चन पढ़ने में ही गलती हो जाती है। याद रखें, पेपर को पढ़ने मंे ही उसे सॉल्व करने का तरीका छिपा होता है।

हर स्तर पर रहें पॉजिटिव 
 हर पल पॉजिटिव रहने के बारे में सोचें। एक बात मन में रखें- जब पेपर सामने होगा, मैं वैसा ही प्रयास करूंगा, जैसा मैं बनना चाहता हूं।
 हताशा को मन से दूर भगाएं। पेपर से पहले कभी नहीं सोचें कि मैं सलेक्ट हो पाउंगा या नहीं। हमेशा सोचें कि मैंं अपने हार्डवर्क और नियोजित ढंग से की गई तैयारी के दम पर सलेक्ट होकर दिखाउंगा।
 मुझे खुद पर, अपनी मेहनत, शिक्षक और सबसे महत्वपूर्ण मेरे ईश्वर पर पूरा भरोसा है।

रिवीजन एक चाबी की तरह
 मन की शांति समस्या का समाधान है। चुनौतियों को स्वीकार करें, इससे कमजोरियां दूर कर सकेंगे। फाइनल टेस्ट के लिए अपना 100 प्रतिशत प्रयास करें।
 किसी एग्जाम का ताला खोलने के लिए रिवीजन एक चाबी है। शैड्यूल से पढ़ते हुए बीच में कुछ विश्राम जरूर लें।
टाइम मैनेजमेंट से रहें आगे-
 अंतिम दिन का एक-एक पल महत्वपूर्ण हैं। अन्य गतिविधियों से दूर रहें। हमारे लिए समय धन से कीमती और शहद से भी ज्यादा मीठा है।
 देर रात तक नहीं पढे़ं। सुबह 6 बजे उठकर पढ़ें और रात 11 बजे सो जाएं। इससे सुबह के समय मस्तिष्क ज्यादा एक्टिव रहेगा और जेईई का पेपर देने में आसानी रहेगी।
 एक दिन पहले कम से कम 6 से 7 घंटे नींद लें। अन्यथा अगले दिन एकाग्र नहीं हो पाएंगे।
 सुबह एक्स्ट्रा इनिंग की तरह फ्रेश मूड से पढ़ें।

प्रफुल्लित होकर पढ़ें 
 अपनी पढ़ाई करते हुए हमेशा प्रफुल्लित रहें, प्रेशर में नहीं। आपकी पढ़ाई जीवन में आपको इतनी खुशियां दे सकती है, जिसे आप माप नहीं सकते। अपने अच्छे कॅरिअर के लिए इस पढ़ाई को हमने अपनी रूचि से चुना है, इसलिए इसका आनंद लें।

मेन टेस्ट के लिए दो राउंड की तैयारी
– आप किसी भी मुकाबले को धैर्य और आत्मविश्वास के साथ जीत सकते हो। लेकिन इसके लिए सटीक प्लानिंग बनाना आवश्यक है।
– मेन टेस्ट में दो राउंड में पेपर हल करने का प्रयास करें।
– पहले राउंड में केवल मैमोरी और नॉलेज पर आधारित प्रश्न अथवा ऐसे प्रश्न, जिनमें कैलकुलेशन कम हों और आपको हल करने का 100 प्रतिशत विश्वास हो। इससे दूसरे राउंड में मुश्किल सवाल हल करने के लिए आपका आत्मविश्वास बढ़ जाएगा।

– आपको पता है आप आसान और इससे कम मुश्किल क्वेश्चन तो हल कर चुके हैं।
– दूसरे राउंड में यदि आपको किसी क्वेश्चन के बारे में कोई संशय है तो उसे छोड़ दें।
-अपना पेपर कुछ समय पहले हल करने का प्रयास करें ताकि सभी आंसर को आप एक बार फिर से देख सकें या रिव्यू कर सकें।
-यदि रणनीति को प्लानिंग से लागू किया तो मेन पेपर में कोई क्वेश्चन नहीं छूटेगा।
– परीक्षा से पूर्व पेरेंट्स अपने बच्चों की मेहनत और क्षमता पर पूरा विश्वास रखें। घर में उनको प्रोत्साहित करते हुए हौसला बढाएं।
– याद रखें, आपकी अनुमति के बिना कोई भी आपको आहत नहीं कर सकता। इसलिए हर पल विजयी मुस्कान के साथ पेपर की अंतिम तैयारी करते रहें।

 

(Visited 304 times, 1 visits today)

Check Also

करियर पॉइंट ने हर्षोल्लास से मनाया 32वां स्थापना दिवस

न्यूजवेव@ कोटा करियर पॉइंट मे 32वां स्थापना दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। स्थापना दिवस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!