Tuesday, 28 September, 2021

कोरोना तीसरी लहर के लिये कोटा में युद्ध स्तर पर तैयारियां

कोटा जिले के सभी अस्पतालों में अगले एक माह में ऑक्सीजन प्लांट लगेंगे
न्यूजवेव @ कोटा
स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर संभावित है। इससे बचाव एवं संक्रमित नागरिकों के उपचार के लिए कोटा जिले के सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना, बेड क्षमता बढ़ाने, संसाधन एवं जीवन रक्षक दवाओं की उपलब्धता आदि कार्य तेजी से पूरे किए जाये।
सोमवार को जिला प्रशासन, यूआईटी एवं चिकित्सा विभाग के अधिकारियों की बैठक में स्वायत्त शासन मंत्री ने कोरोना की संभावित तीसरी लहर को लेकर की जा तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों के अनुसार, देश व प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर आने का अंदेशा है, ऐसे में जिले के सभी अस्पतालों में सुविधाओं के विस्तार के लिए आवश्यक उपकरणों की खरीद का कार्य भी अभी से पूरा करे। उन्होंने कहा कि इमरजेंसी प्लान की बजाय बडे़ स्तर पर कार्ययोजना बनाकर उपलब्ध संसाधनों का आकलन करें। जिन आवश्यक उपकरणों की कमी हो, उनकी आपूर्ति के राज्य सरकार को प्रस्ताव भिजवाये।
31 अगस्त तक लगायें ऑक्सीजन प्लांट


स्वायत्त शासन मंत्री ने निर्देश दिये कि जिले के अस्पतालों में लगाये जा रहे सभी ऑक्सीजन प्लांट 31 अगस्त से पहले चालू कर अस्पतालों में पाइपलाईन से ऑक्सीजन सप्लाई के लिए आवश्यक मरम्मत कार्य एक माह में पूरा कर लें। उन्होंने कहा कि संभावित तीसरी लहर में बच्चों पर अधिक प्रभाव पड़ सकता है। इसे ध्यान में रखते हुए मेडिकल कॉलेज एवं जेके लोन अस्पताल में सुविधाओं के विस्तार को प्राथमिकता से पूरा करे। दूसरी लहर में 1250 बेड की आवश्यकता थी। इसे बढाकर 1800 बेड क्षमता तक विस्तार कर ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करे। कोटा जिले में बाहर से ऑक्सीजन नहीं मंगवाने पड़े।
अस्पतालों में संसाधन व स्टाफ के प्रस्ताव तैयार करे
उन्होंने अस्पतालों में रिक्त पदों पर नई भर्ती का प्रस्ताव सरकार को भेजने तथा चिकित्सक, नर्सिंग स्टाफ के रिक्त पदों को संविदा आधार पर भरने के वैकल्पिक उपाय तैयार रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जीवनरक्षक दवाओं एवं इंजेक्शन स्टॉक की जांच कर रिजर्व रखें। उन्होंने विधायक निधि से 8 एम्बुलेंस खरीदने एवं अन्य विधायकों द्वारा चिकित्सा उपकरणों के लिए दी गई राशि का समय पर उपयोग करने के निर्देश दिए।
जिला कलक्टर उज्ज्वल राठौड़ ने कहा कि अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगाने का कार्य समय पर पूरा करेंगे। उन्होंने कार्ययोजना की जानकारी भी दी। मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ.विजय सरदाना ने बताया कि तीसरी लहर के मध्यनजर बच्चों के लिए 700 बेड पर विशेष तैयारियां की जा रही है। अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट स्थापना व पाईपलाईन का कार्य भी तीव्र गति से चल रहा है। उन्होंने बताया कि सभी कार्य पूरे होने पर जिले में 1800 बैड क्षमता पर ऑक्सीजन उपलब्धता पूरी हो जायेगी। सीएमएचओ डॉ. भूपेन्द्र सिंह तंवर ने बताया कि जिले में दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता है। 120 दिवस का स्टॉक आरक्षित कर दिया गया है। जिले में 700 पैरा मेडिकल स्टाफ की भर्ती सिविल डिफेंस पैटर्न पर की जायेगी, जिन्हें आवश्यकता पड़ने पर कॉल कर बुलाया जा सकेगा। इस अवसर पर एमबीएस हॉस्पिटल के अधीक्षक डॉ.नवीन सक्सेना, जेके लोन अधीक्षक डॉ.एचएल मीणा, मेडिकल कॉलेज कोटा के अधीक्षक डॉ.चन्द्रशेखर सुशील, यूआईटी में अधिशाषी अभियंता आर.के.राठौड़ सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

(Visited 155 times, 1 visits today)

Check Also

2.50 लाख विद्यार्थी 3 अक्टूबर को देंगे जेईई-एडवांस्ड परीक्षा

न्यूजवेव @ नईदिल्ली /कोटा इस वर्ष देश की 23 आईआईटी की लगभग 16,500 सीटों के …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: