Saturday, 13 April, 2024

राजस्थान में स्किल डवलपमेंट का सूर्योदय – बीएसडीयू

न्यूजवेव कोटा

राजस्थान में युवाओं को रूचि व कौशल से कॅरिअर में नई उड़ान भरने का अवसर दे रही है-भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी (बीएसडीयू)। यूनिवर्सिटी के डायरेक्टर ऑफ एडमिशन डॉ. रवि गोयल ने कोटा में पत्रकारों को बताया कि स्किल बेस्ड हायर एजुकेशन लेने से विद्यार्थियों को जॉब के नये व सुनहरे अवसर मिल रहे हैं।

उन्होंने कहा कि शिक्षा नगरी कोटा राज्य में तीसरा बडा शहर है। 77.48 प्रतिशत साक्षरता दर के साथ यह पहले नंबर पर है। बीएसडीयू राज्य में स्किल डवलपमेंट आधारित एजुकेशन व ट्रेनिंग के अद्वितीय मॉडल के साथ युवाओं को सीधे रोजगार से जोड़ रही है।
शहर में 2 लाख युवाओं में से लगभग 1.01 लाख ही रोजगार योग्य है, जबकि यहां कार्यबल केवल 35 फीसदी है। आज संस्थान व उद्योगों में प्रशिक्षित कर्मचारी की मांग बढ़ रही है। बीएसडीयू में ऐसे प्रशिक्षण मॉड्यूल हैं जो छात्रों को मशीन लर्निंग और फंक्शन लर्निंग से गुजरने में सक्षम बनाते हैं। बी.वोक और एम. वोक जैसी कौशल आधारित डिग्री हर स्टूडेंट के लिये वरदान साबित हो रही है।
बीएसडीयू में स्कूल ऑफ कारपेंटर स्किल के प्रिंसिपल कमांडर अनिल राणा ने कहा कि यूनिवर्सिटी भारतीय वैज्ञानिक डॉ.राजेंद्र जोशी द्वारा स्विस-ड्यूल-एजुकेशन-सिस्टम थीम पर संचालित है। यूनिवर्सिटी में टीचर्स एवं मेंटर्स स्विटजरलैंड व आईआईटी से प्रशिक्षित हैं। स्किल डेवलपमेंट आधारित शिक्षा के लिये हाल ही में राजस्थान सरकार के साथ एमओयू किया है।
हर संकाय के लिये नये अवसर
यूनिवर्सिटी में संचालित कोर्सेस में साइंस, आर्ट्स व कॉमर्स स्टूडेंट्स को प्रवेश दिये जाते हैं। आर्ट्स या कॉमर्स के छात्र ब्रिज कोर्स करके साइंस में डिग्री ले सकते हैं। यूनिवर्सिटी में इस समय 19 कोर्सेस संचालित हैं।
स्टूडेंट्स को स्टाइपेंड भी

बीएसडीयू में प्रेक्टिकल लर्निंग पर अधिक फोकस रहता है। तीन वर्षीय डिग्री में स्टूडेंट पहले डेढ़ वर्ष यूनिवर्सिटी में पढाई करते हैं और शेष डेढ़ वर्ष किसी उद्योग में इंटर्नशिप ट्रेनिंग लेते हैं। इंटर्नशिप के दौरान उन्हें 7000 से 15000 रुपए प्रतिमाह स्टाइपेंड दिया जाता है। कई छात्रों को कंपनियों द्वारा जॉब ऑफर भी दिये जाते है ।
बीएसडीयू पहली यूनिवर्सिटी है जो मल्टी एंटर और एक्टिज पॉइंट की पेशकश करता है। जहां छात्र अपने कार्यक्रम में लौटने क अवसर रखता है। यदि उद्योग में नौकरी करते समय उन्हें पढ़ाई छोड़नी पड़ती है तो बाद में वे डिग्री पूरी करने के लिए यूिनवर्सिटी में वापस आ सकते हैं।
उन्होंने बताया कि यूनिवर्सिटी में 12वीं कक्षा में 75 फीसदी से अधिक स्कोर करने वाली छात्राओं और 80 फीसदी से अधिक स्कोर करने वाले छात्रों को 100 प्रतिशत स्कॉलरशिप दी जाती है। वीर शहीदों की संतानों के लिये बीएसडीयू द्वारा विशेष छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है।
बीएसडीयू राजेंद्र उर्सुला जोशी चैरिटेबल ट्रस्ट के तहत एक शिक्षा उपक्रम है और राजेंद्र और उर्सुला जोशी (आरयूजे) समूह ने इस विश्वविद्यालय को 2020 तक 36 कौशल स्कूलों को स्थापित करने के लिए 500 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश किया है। बीएसडीयू का 64 कंपनियों व समूहों से एमओयू है। इनमें प्रमुख हैं- डैकिन, महिंद्रा, एपेक्स अस्पताल, कैड सेंटर, आर्डेन, सबल भारत, रिगेल, आईसीआईसीआई बैंक, आईडीबीआई बैंक, ल्यूपिन, आईटीसी, पेप्सिको, एलजी, एलएंडटी, नेस्ले और फाइजर।

(Visited 279 times, 1 visits today)

Check Also

जेईई मेन अप्रैल-सेशन में पहले दिन एनटीए ने पकड़े नकल के 10 मामले

** एक केस में कैंडिडेट बदला हुआ था, वहीं 9 अनुचित साधनों के प्रयोग के …

error: Content is protected !!