Wednesday, 25 May, 2022

वैष्णोदेवी हाफ मैराथन में कोटा के 8 धावकों ने जीते मेडल

न्यूजवेव @ कोटा

जम्मू-कश्मीर के कटरा में ‘द सीजंस प्ले’ द्वारा आयोजित एसएमवीडी (SMVD) हाफ मैराथन स्पर्धा में कोटा शहर के 8 धावकों ने मेडल अर्जित किये। कोटा रनर्स क्लब के कोच अमित चतुर्वेदी ने बताया कि कोटा के अमित चतुर्वेदी, घनश्याम मूंदडा, गुंजन गांधी, हरीश श्रंगी, रूचि साहू, रिचा अग्रवाल ने 21-21 किमी तथा अर्चना मूंदडा एवं प्रियंका शर्मा ने उंची-नीची पहाडियों पर निर्धारित समय में 10-10 किमी दौड पूरी कर हाफ मैराथन मेडल जीते। इन नियमित धावकों में 5 महिलायें थी। सभी विजेता धावकों का कोटा पहुंचने पर रनर्स क्लब सदस्यों ने स्वागत किया।


प्रवक्ता ने बताया इस राष्ट्रीय हाफ मैराथन का उद्देश्य जम्मू-कश्मीर में टूरिज्म को बढावा देना है। स्पर्धा में विभिन्न राज्यों के 600 प्रतिभागियों के सामने उंची पहाडियों पर निर्धारित समय में हाफ मैराथन दौड़ पूरी करने की चुनौती थी। कोटा के 8 धावकों ने यह दौड़ पूरी करके मेडल जीतकर राजस्थान का नाम रोशन किया।
चतुर्वेदी ने बताया कि इससे पहले भी कोटा के धावक लेह-लद्दाख सहित अन्य नेशनल मैराथन व अल्ट्रा मैराथन स्पर्धाओं में पदक जीत चुके हैं। अहमदाबाद में हुई नेशनल अडानी मैराथन स्पर्धा में भी कोटा के 6 धावक 42 एवं 21 किमी की दौड़ पूरी कर मेडल जीत चुके हैं। वे जयपुर से कोटा तक मैराथन स्पर्धा आयोजित कर चुके हैं।
दिल से बचाव के लिये लगायें दौड़

Dr Atul Rathor

हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ अतुल राठौर के अनुसार, नियमित दौडने जैसी डायनेमिक एक्सरसाइज से शरीर में खराब कोलेस्ट्रोल कम होता है और अच्छा कोलेस्ट्रोल बढ़ता है। नागरिक आधे से एक घंटे में रोज 3 से 5 किमी दौड़ने की आदत बनाएं। दौडने से हार्ट पम्प करता है, जिससे उसे पूरा रक्त मिलता है। स्टेमिना से कोलेट्रल विकसित होते हैं, जो हार्ट को मजबूत करते हैं। रक्त की नसें फिल्टर होंगी तो ब्लॉकेज से बचाव हो सकेगा। नियमित दौड़ने जैसी फिजिकल एक्टिविटी से ब्लड प्रेशर, हार्ट, डायबिटीज, लकवा से बचाव व मोटापा कम करने में मदद मिलेगी।

(Visited 51 times, 1 visits today)

Check Also

RTI के जरिए कैसे हो सरकारी सिस्टम में बदलाव

सूचना के अधिकार पर 99वीं राष्ट्रीय वेबिनार में पूर्व सूचना आयुक्तों ने कहा- सरकारी विभागों …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: