Sunday, 3 March, 2024

कंपनी सेक्रेट्री गुड गवर्नेंस की बेस्ट प्रैक्टिस डेवलप करें-ओम बिरला

लोकसभा अध्यक्ष ने भारतीय कंपनी सचिव संस्थान (ICSI) के 48 वें राष्ट्रीय सम्मेलन को वर्चुअल संबोधित किया

न्यूजवेव@नई दिल्ली
लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शनिवार को नईदिल्ली स्थित आवास से भारतीय कंपनी सचिव संस्थान (ICSI) के 48वें राष्ट्रीय सम्मेलन को वर्चुअल संबोधित किया। इस अवसर पर वित्त तथा कॉरपोरेट कार्य राज्यमंत्री अनुराग सिंह ठाकुर शामिल रहे।

ओम बिरला ने कहा कि ICSI ने भारत के कॉर्पोरेट सेक्टर में वैधानिक नियमों तथा नैतिक मूल्यों पर आधारित एडमिनिस्ट्रेशन इंश्योर करने में बड़ा योगदान किया है। इसके लिए सभी सदस्यों, छात्रों और अन्य स्टेक होल्डर्स को बधाई देते हुए कहा कि, देश की अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्र तीव्र गति से विकास के मार्ग पर हैं। देश के विकास में सार्वजनिक क्षेत्र के साथ साथ निजी क्षेत्र को भी समान अवसर दिए जा रहे हैं। श्री बिरला ने आर्थिक सुधारों के विषय में कहा कि पूंजीगत सुधारों, श्रम सुधारों तथा कृषि सुधारों के माध्यम से निजी क्षेत्र को देश के सर्वांगीण विकास में योगदान करने के लिए प्रोत्साहन दिया जा रहा है।

CS कॉरपोरेट सेक्टर के ‘कॉन्शंस कीपर’
कॉरपोरेट गवर्नेंस का उल्लेख करते हुए बिरला ने कहा कि गवर्नेंस तभी सफल होती है, जब कॉरपोरेट सेक्टर के ‘कॉन्शंस कीपर’ यानी कंपनी सेक्रेट्री शासन की संरचनाओं को मजबूत करने और नियम या कानून के अनुसार कार्रवाई करने में पूरे मनोयोग से काम करते हैं। उन्होंने आगे कहा कि भारतीय कारपोरेट क्षेत्र के संचालनकर्ता होने के नाते ICSI ने अपने मिशन और विजन को ध्यान में रखते हुए अपने कर्तव्यों का सम्यक निर्वहन किया है।
बिरला ने देश की बढ़ती विकास दर का उल्लेख करते हुए कहा की देश की अर्थव्यवस्था तेज़ी से विकास कर रही है, तथा सार्वजनिक उपक्रम और निजी क्षेत्र के पास विकास के समान अवसर हैं। उन्होंने हाल ही में हुए सुधारों के विषय में कहा की श्रम, एवं कृषि सुधार और ‘ईज़ ऑफ़ डूइंग बिज़नस’ को बढ़ावा दिया जा रहा है। इस परिदृश्य में प्राइवेट कंपनियों को इन अवसरों का लाभ उठाने का अवसर मिलेगा।
कम्पनी का विधि सम्मत संचालन हो
बिरला ने कहा कि कंपनी प्रशासन व कंपनी सचिव (CS) का दायित्व है की कंपनियों का संचालन विधि सम्मत हो, उनकी वृद्धि का लाभ सभी तक पहुंचे। उन्होंने ICSI की सराहना करते हुए कहा की इसमें ICSI का महत्वपूर्ण भूमिका है। ICSI के आधारभूत मूल्यों का उल्लेख करते हुए बिरला ने कहा की ‘सत्यं वद, धर्मं चर’ के आदर्श पर चलते हुए गवर्नेंस को मजबूत करने में CS मनोयोग से काम करते हैं। बिरला ने कहा की CS गुड गवर्नेंस की बेस्ट प्रैक्टिसेज डेवलप करें जिसका पालन सभी संगठनों में हो। उन्होंने आगे कहा कि डिसेंट्रलइज़ेशन के तहत पंचायतों और नगर पालिकाओं को ज्यादा अधिकार दिए जा रहे हैं और इसमें ICSI द्वारा विकसित कोड महत्वपूर्ण सिद्ध हो सकता है।
बिरला ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था में पारदर्शिता व ईमानदारी बढ़ाने तथा नए बिज़नस कल्चर के विकास में ICSI और CS की महत्वपूर्ण भूमिका है। हाई टेक टैक्स कंप्लायंस सोसाइटी बनाने तथा शेल कंपनियों को समाप्त करने में भी CS प्रशंसनीय कार्य कर रहे हैं। आरम्भ में ICSI के अध्यक्ष सीएस आशीष गर्ग ने बिरला का स्वागत किया।

(Visited 246 times, 1 visits today)

Check Also

CUET-UG परीक्षा,2024 के लिये आवेदन प्रक्रिया प्रारंभ

गत वर्ष देश-विदेश के 19.2 लाख स्टूडेंट्स ने दी थी CUET परीक्षा न्यूजवेव @ नईदिल्ली …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: